5 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने पिछले एक दशक में खेला सिर्फ 1 वनडे मैच, कई ले चुके संन्यास

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पिछले डेढ़ दशक में भारतीय टीम ने एक अलग दबदबा बनाया है जिसके चलते न सिर्फ वनडे, टी20 बल्कि टेस्ट क्रिकेट में भी भारतीय टीम ने अपना परचम लहराया है। इस दौरान भारतीय टीम ने पहले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह के नेतृत्व में कई इतिहास रचे तो वहीं अब विराट कोहली अपनी कप्तानी में टीम को नई ऊंचाइयों पर लेकर जा रहे हैं। इस दौरान भारतीय टीम को जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, ऋषभ पंत, मोहम्मद शमी जैसे कई दिग्गज नगीने देखने को मिले तो इस दौरान कई खिलाड़ी ऐसे भी रहे जिनका टीम के साथ सफर काफी छोटा रहा।

और पढ़ें: IPL 2021 को बीच में रोकने के बाद BCCI को फिर होगा नुकसान, लग सकता है 3000 करोड़ का चूना

उल्लेखनीय है कि साल 2010 के बाद से भारतीय चयनकर्ताओं ने कई युवा खिलाड़ियों को देश के लिये खेलने का मौका दिया हालांकि कई ऐसे खिलाड़ी भी रहे जो एक मैच के बाद दोबारा देश के लिये खेलते हुए नजर नहीं आये। आइये एक नजर ऐसे 5 भारतीय खिलाड़ियों पर डालें जिन्होंने पिछले एक दशक में भारत के लिये सिर्फ एक ही अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच खेला है और इसके बाद से उन्हें दोबारा मौका नहीं मिला। वहीं इनमें से कई खिलाड़ी संन्यास भी ले चुके हैं।

और पढ़ें: IPL रद्द होने के 15 दिन बाद घर लौटे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, फिर रहना होगा क्वारंटीन

नमन ओझा (Naman Ojha)

नमन ओझा (Naman Ojha)

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज नमन ओझा ने 5 जून 2010 को भारत के लिये अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच खेला, हालांकि महेंद्र सिंह धोनी के युग में डेब्यू करना नमन ओझा के लिये फायदे के बजाय नुकसान भरा ज्यादा रहा। वह धोनी की मौजूदगी में कभी भी भारतीय टीम में विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में जगह नहीं बना सके और अंत में 15 फरवरी 2021 को अपने संन्यास का ऐलान कर दिया। श्रीलंका के खिलाफ खेले गये अपने पहले वनडे मैच में नमन ओझा ने सिर्फ एक रन बनाया और एक कैच पकड़ा।

पंकज सिंह (Panaj Singh)

पंकज सिंह (Panaj Singh)

इस फेहरिस्त में दूसरा नाम भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज पंकज सिंह का है, जिनकी तारीफ में खुद युवराज सिंह ने उन्हें घरेलू क्रिकेट का बेस्ट गेंदबाज बताया था। पंकज सिंह ने घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया और 117 मैचों में 472 विकेट लेने का कारनामा किया और रणजी ट्रॉफी में 400 विकेट लेने वाले पहले सीमर भी बनें। नमन ओझा की तरह पंकज सिंह को भी श्रीलंका के खिलाफ पहला वनडे मैच 5 जून 2010 खेलने को मिला। पंकज सिंह ने इस मैच में 3 रन बनाये और एक कैच लपका, हालांकि वह लेने में नाकाम रहे। इसके बाद पंकज ने लगातार 4 सालों तक घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया जिसके बाद उन्हें टेस्ट क्रिकेट में मौका दिया गया लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ इस दौरे पर वह कुछ खास कमाल नहीं कर सके, जिसके बाद भारतीय क्रिकेट में दोबारा उनकी वापसी नहीं हो सकी। राजस्थान के लिये कई सालों तक घरेलू क्रिकेट खेलने वाले पंकज सिंह फिलहाल जयपुर के सवाई मान सिंह स्टेडियम में अपनी एकेडमी चलाते हैं।

परवेज रसूल (Parvez Rasool)

परवेज रसूल (Parvez Rasool)

इस फेहरिस्त में तीसरा नाम जम्मू-कश्मीर के लिये घरेलू क्रिकेट खेलने वाले परवेज रसूल का है जिन्होंने 15 जून 2014 को बांग्लादेश के खिलाफ अपना इकलौता वनडे मैच खेला। परवेज रसूल एक ऑलराउंडर के रूप में खेलते हैं लेकिन इस मैच में एक गेंदबाज के रूप में शामिल किये गये थे। परवेज रसूल ने 10 ओवर गेंदबाजी करते हुए 60 रन दिये और 2 विकेट हासिल भी किये लेकिन इसके बाद वह अपने करियर में दोबारा कभी भी भारत के लिये वापसी नहीं कर सके। परवेज रसूल भारतीय टीम के लिये खेलने वाले पहले कश्मीरी खिलाड़ी बने थे, हालांकि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनका करियर ज्यादा लंबा नहीं रहा।

फैज फजल (Faiz Fazal)

फैज फजल (Faiz Fazal)

इस फेहरिस्त में तीसरा नाम फैज फजल का है जिन्होंने 15 जून 2016 को जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत के लिये डेब्यू किया। इस मैच में डेब्यू करने के साथ ही फैज फजल 30 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले 21वीं सदी के पहले भारतीय खिलाड़ी बने। फैज फजल ने घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया और उसी के बदौलत उन्हें यह मौका मिला। यहां तक की तत्कालीन भारतीय टीम में शामिल खिलाड़ियों में वह इकलौते प्लेयर थे जिनके पास कोई भी आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट नहीं था। फैज फजल ने इस मैच में भी अच्छी बल्लेबाजी की और नाबाद 55 रनों का योगदान दिया। इस दौरान उन्होंने 6 चौके ओर एक छक्का लगाया लेकिन इसके बाद फजल दोबारा कभी भी भारतीय टीम में जगह नहीं बना सके।

जयंत यादव (Jayant Yadav)

जयंत यादव (Jayant Yadav)

इस लिस्ट में पांचवा और आखिरी नाम जयंत यादव का है जिन्होंने नौंवे नंबर पर उतरकर शतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है। आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलने वाले जयंत यादव ने 29 अक्टूबर 2016 को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। जयंत यादव ने अपने डेब्यू मैच में एक कैच पकड़ा और 2 विकेट झटकने का काम किया, हालांकि इस खिलाड़ी को वनडे क्रिकेट में अभी तक दोबारा मौका नहीं मिला है। वहीं अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर जयंत यादव ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारत के लिये डेब्यू किया और विराट कोहली के साथ नौंवे पायदान पर बल्लेबाजी करते हुए 8वें विकेट के लिये 241 रनों की साझेदारी की। जयंत यादव ने अपनी इस पारी में 204 गेंदों का सामना किया और 15 चौकों की मदद से 104 रनों की पारी खेली। इसके चलते भारतीय टीम ने इस मैच को पारी और 36 रन से जीत लिया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, May 17, 2021, 15:02 [IST]
Other articles published on May 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X