डिविलियर्स ने जबरदस्ती ब्लैक खिलाड़ी को बाहर करवाया, भारत दौरा छोड़ने की दी थी धमकी- रिपोर्ट

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 2015 विश्व कप में सेमीफाइनल हार दर्ज करने के बाद, साल के आखिर में तीन टी 20 आई और पांच वनडे के लिए भारत का दौरा किया था। प्रोटियाज के लिए यह यादगार रहा क्योंकि उन्होंने टी 20 आई के साथ-साथ एकदिवसीय श्रृंखला में भी जीत हासिल की।

दक्षिण अफ्रीका ने टी 20 आई सीरीज 2-0 से जीती और इसके बाद ओडीआई श्रृंखला को रोमांचक तरीके से हासिल किया। एबी डिविलियर्स की अगुवाई में दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी वनडे जीतकर 214 रन के बड़े अंतर से जीत दर्ज की।

जोंडो नाम के खिलाड़ी का चयन डिविलियर्स ने रोका-

जोंडो नाम के खिलाड़ी का चयन डिविलियर्स ने रोका-

इस जीत कोई कई साल हो गए हैं और इसके बाद रिपोर्टों से पता चला है कि कप्तान डिविलियर्स ने मुंबई में पांचवें और अंतिम एकदिवसीय मैच के लिए खाया जोंडो नाम के खिलाड़ी को टीम में शामिल करने से सख्ती से रोक दिया था। न्यूज 24 की एक रिपोर्ट के अनुसार, डिविलियर्स ने जोंडो को चुने जाने पर राष्ट्रीय टीम से बाहर जाने की धमकी भी दी थी।

भारतीय स्पिनर ने कहा- 10 मिनट तक मैं कुछ नहीं बोल सका, जब वार्न और कुंबले बात कर रहे थे

समाचार आउटलेट ने पूर्व क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA) के अध्यक्ष नॉर्मन अर्सेंडे की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि ज़ोंडो का नाम पांचवें वनडे से पहले टीम की शीट पर था। हालांकि, उन्हें मैच से पहले XI से हटा दिया गया था, जो CSA की चयन नीति के विपरीत था।

मैच के बाद एकजुट हुए ब्लैक प्रोटियाज खिलाड़ी-

डीन एल्गर, जो सिर्फ पांच वनडे खेले थे, को श्रृंखला के दौरान घायल जेपी डुमिनी को बदलने के लिए भेजा गया था। जबकि जोंडो, जो मूल रूप से एकदिवसीय टीम का हिस्सा था, को इस प्रक्रिया में दरकिनार कर दिया गया और उसे इलेवन से बाहर कर दिया गया।

श्रृंखला के बाद, क्रिकेटरों के एक समूह ने खुद को 'ब्लैक प्लेयर्स इन यूनिटी 'कहा था, जिसका मतलब है काले रंगे के खिलाड़ी एकजुट हैं, इस काले रंग के खिलाड़ियों के ग्रुप ने दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड को एक पत्र लिखा था। उन्होंने टीम में जोंडो के साथ हुए बर्ताव का उदाहरण पेश करते हुए बताया कि टीम में उन लोगों के साथ सही व्यवहार किया जाए।

एश्वेल प्रिंस ने कहानी को उजागर किया है-

एश्वेल प्रिंस ने कहानी को उजागर किया है-

हाल ही में, प्रोटियाज के पूर्व खिलाड़ी प्रिंस ने भी ट्विटर पर जोंडो की कहानी को उजागर किया था।

2015 के विश्व कप के सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका की हार के बाद, कई रिपोर्टों ने यह भी सुझाव दिया था कि एबी डीविलियर्स को काइल एबट के बजाय वर्नोन फिलेंडर के साथ खेलने के लिए मजबूर किया गया था। डिविलियर्स ने अपनी आत्मकथा में भी लिखा है कि उन्हें सेमीफाइनल से एक दिन पहले बुलाया गया था और फिलेंडर को शामिल करने के लिए कहा गया था, हालांकि यह आमतौर पर माना जाता था कि एबट खेलेंगे।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, August 14, 2020, 8:41 [IST]
Other articles published on Aug 14, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X