अब सोशल मीडिया पर कुछ भी लिखना पड़ सकता है भारी, खिलाड़ियों पर बैन लगाने की हो रही तैयारी

नई दिल्ली। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेली जा रही 2 मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में डेब्यू करने वाले तेज गेंदबाज ऑली रॉबिन्सन के 8 साल पुराने नस्लीय और अश्लील ट्वीट सामने आने के बाद इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड सोशल मीडिया पर खिलाड़ियों की ओर से की जाने वाली हर पोस्ट पर नजर बनाये हुए है। ईसीबी ने इस मामले के सामने आने के बाद ऑली रॉबिन्सन को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सस्पेंड कर अनुसाशनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है जिसकी जांच की रिपोर्ट आने तक रॉबिन्सन कोई अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेल सकेंगे। वहीं रॉबिन्सन का मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि सीमित ओवर्स के कप्तान इयोन मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर के कुछ पुराने ट्वीट्स का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा जिसमें यह दोनों खिलाड़ी भारतीय लोगों की ओर से इंग्लिश शब्द 'सर' का इस्तेमाल करने का मजाक उड़ा रहे थे।

इस बातचीत में न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रैंडन मैक्कलम भी शामिल थे। इसके अलावा इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का एक ट्वीट भी वायरल हुआ, जिसके बाद ईसीबी ने सभी खिलाड़ियों के सोशल मीडिया अकाउंट की जांच शुरू कर दी है। जहां भारतीयों का मजाक उड़ाने पर बीसीसीआई आईपीएल में इन खिलाड़ियों पर कार्रवाई करते हुए बैन लगाने का सोच रही है तो वहीं पर ईसीबी ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट पाये जाने के मामले में खिलाड़ियों पर सख्त कार्रवाई करने का विचार बना लिया है।

और पढ़ें: 'शाकिब को विलेन साबित करने की हो रही साजिश', बैन को लेकर बचाव में उतरी वाइफ शिशिर

ईसीबी ने इस पूरे मामले को लेकर एक बयान जारी करते हुए कहा, 'ईसीबी का कार्यकारी विभाग खिलाड़ियों के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का रिव्यू करने की सिफारिश पर राजी हो गया है जिसके तहत नये या पुराने सभी मुद्दों का निपटारा किया जायेगा। प्लेयर्स को भविष्य के लिये व्यक्तिगत जिम्मेदारी का अहसास दिलाया जायेगा और भविष्य में ऐसा न करें इसको लेकर सबक भी दिया जायेगा।'

ईसीबी ने साफ किया है कि इस प्रक्रिया का मतलब खिलाड़ियों को अनुशासनात्मक कार्रवाई से बचाना नहीं है, वह होकर रहेगी लेकिन हमें विश्वास है कि इस मुश्किल समय से खेल बाहर निकलने में सक्षम है। इस सोशल मीडिया रिव्यू के अंतर्गत खिलाड़ी, कोच, प्रोफेशनल क्रिकेटर संघ और प्रशासक भी शामिल किये जायेंगे। इसके अनुसार खिलाड़ी पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में बैन भी लग सकता है।

और पढ़ें: WTC फाइनल से पहले शतक ठोंक चमके ऋषभ पंत, गिल ने भी ठोंके 85 रन, घातक नजर आये ईशांत शर्मा

ईसीबी के प्रेसिडेंट इयान वाटमोर ने इस निर्णय को लेकर कहा कि हम चाहते हैं कि क्रिकेट सभी का खेल बन सके। इसकी छवि को सुधारने और बेहतर पेश करने के लिये हम बीच का रास्ता तैयार कर रहे हैं जिसमें साफ हो सके कि खिलाड़ी से सार्वजनिक रूप से खुद को पेश करते हुए क्या उम्मीद की जा रही है और उन्हें इसके प्रति शिक्षित भी किया जायेगा।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, June 12, 2021, 20:57 [IST]
Other articles published on Jun 12, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X