गायकवाड़ ने इस भारतीय खिलाड़ी को बताया 'ट्रिपल प्लस', बोले- आप उसे बाहर कर ही नहीं सकते

नई दिल्लीः रविंद्र जडेजा के 2.0 अवतार के बारे में लोग जानते ही हैं कैसे उन्होंने खुद को सक्ष्म गेंदबाज के साथ-साथ विश्वसनीय बल्लेबाज के तौर पर ढाल लिया है। जब भारत ने 2018 में जडेजा के साथ इंग्लैंड का दौरा किया, तो उन्हें पहले चार मैचों में इलेवन से बाहर कर दिया गया था, जिसमें से भारत को तीन में हार मिली थी। जडेजा को द ओवल में श्रृंखला के अंतिम मैच के लिए मंजूरी मिल गई। भले ही श्रृंखला हार मिली लेकिन जडेजा ने अपनी शैली में जवाब दिया, मैच में सात विकेट लिए और भारत की पहली पारी में नाबाद 82 रन बनाए।

अंशुमान गायकवाड़ ने रविंद्र जडेजा को बताया टीम की संपत्ति-

अंशुमान गायकवाड़ ने रविंद्र जडेजा को बताया टीम की संपत्ति-

उस पारी ने जडेजा के अंतरराष्ट्रीय करियर की दूसरी पारी को चिह्नित किया है और उन्होंने तब से पीछे मुड़कर नहीं देखा। पिछले तीन वर्षों में, टेस्ट में जडेजा का बल्लेबाजी औसत बढ़कर 55.57 हो गया है। अगर भारत शुक्रवार से एजेस बाउल में शुरू होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए चौथे तेज गेंदबाज के रूप में टीम में मोहम्मद सिराज के लिए जगह खोजने की पूरी कोशिश कर रहा है, तो जडेजा पर तलवार लटकने की संभावना है, क्योंकि अश्विन टीम के प्रमुख स्पिनर हैं। लेकिन भारत के पूर्व बल्लेबाज और कोच अंशुमान गायकवाड़ को विश्वास है कि जडेजा को इलेवन में से बाहर करने का सवाल नहीं उठता है।

गायकवाड़ ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया, "जडेजा को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाना चाहिए। वह तीनों विभागों में टीम के लिए इतनी बड़ी संपत्ति है। वह ट्रिपल प्लस है। और मुझे नहीं लगता कि अगर तीन गेंदबाज अंग्रेजी परिस्थितियों में नुकसान नहीं कर सकते हैं, तो चौथा तेज गेंदबाज मदद करेगा। आपको एक स्पिनर की जरूरत है। अश्विन एक क्लास स्पिनर है, लेकिन टीम में जडेजा के साथ, उसे खेलना होगा। कितनी अंतरराष्ट्रीय टीमों के पास बाएं हाथ के स्पिनर हैं? आपके पास एक स्पिनर के रूप में ही नहीं बल्कि एक सिद्ध बल्लेबाज और शानदार क्षेत्ररक्षक भी उसी खिलाड़ी में मिलता है। आपको और क्या चाहिए?"

गावस्कर ने भारतीय युवा पर की बड़ी भविष्यवाणी- 'वो फिर खेलेगा खेल पलटने वाली पारियां'

भारत को नजरअंदाज करना कीवियों की भूल होगी- गायकवाड़

भारत को नजरअंदाज करना कीवियों की भूल होगी- गायकवाड़

इसके अलावा गायकवाड़ को लगता है कि हालांकि न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को श्रृंखला जीत के लिए हरा दिया है, लेकिन भारत ने पिछली दो टेस्ट श्रृंखलाओं में जिस तरह का क्रिकेट खेला है, उन्हें नजरअंदाज करना भूल होगी।

भारत ने मंगलवार को डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए अपनी 15-खिलाड़ियों की टीम की घोषणा की जिसमें रोहित शर्मा और शुभमन गिल पर एक बार फिर नई गेंद को देखने की जिम्मेदारी होगी। गायकवाड़ को उम्मीद है कि रोहित अपने शानदार फॉर्म को जारी रखेंगे। इसके अलावा उन्होंने विराट कोहली से भी यही उम्मीद जताई है।

चेतेश्वर पुजारा के धीमेपन पर कही ये बात-

चेतेश्वर पुजारा के धीमेपन पर कही ये बात-

कोहली के अलावा, चेतेश्वर पुजारा भी डब्ल्यूटीसी फाइनल और पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में भारत की बल्लेबाजी की कुंजी होंगे। पुजारा जिस रफ्तार से रन बना रहे हैं, वह चर्चा का विषय रहा है। भारत के नंबर 3 ने इस साल की शुरुआत में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में 29.20 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की, लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि टीम का काम पूरा हो गया। गायकवाड़ ने पुजारा पर बात करते हुए कहा, "स्पष्ट रूप से, हर कोई सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, रोहित शर्मा नहीं हो सकता। विकेट पर रहने के साथ, उसने कितनी बार छोटी शुरुआत को बड़ी साझेदारियों में बदल दिया है जिससे भारत को मैच जीतने में मदद मिली। आपको उसके जैसे किसी व्यक्ति की आवश्यकता है जो एक छोर को बरकरार रख रहा है। वह विकेट गिरने नहीं दे रहा है, बहुत सारे फायदे हैं। मैं समझता हूं कि वह धीमा है लेकिन टेस्ट क्रिकेट में आपको ऐसे ही किसी की जरूरत भी है।'

वैसे तो, गायकवाड़ टीम से खुश हैं, लेकिन उनका मानना ​​है कि भुवनेश्वर कुमार के साथ यह थोड़ी और बेहतर दिखती क्योंकि इंग्लिश परिस्थितियों की स्विंग मेरठ के गेंदबाज के पक्ष में काम करती।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, June 17, 2021, 8:45 [IST]
Other articles published on Jun 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X