करियर के आखिरी मैचों में जानें कैसा था हरभजन सिंह का प्रदर्शन, भारत को मिली थी शर्मनाक हार

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भारतीय टीम के लिये वापसी करने के लंबे इंतजार के बाद टर्बनेटर के नाम से मशहूर ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने शुक्रवार (24 दिसंबर 2021) को क्रिकेट के हर प्रारूप से संन्यास का ऐलान कर दिया है। हरभजन सिंह भारतीय क्रिकेट के इतिहास के सबसे बड़े स्पिनर्स में शामिल हैं जिन्होंने मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में करियर की शुरुआत की थी, लेकिन सौरव गांगुली के नेतृत्व में निखरे, महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत को टी20 और वनडे प्रारूप का विश्व चैम्पियन बनाया और विराट कोहली की कप्तानी में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का आखिरी मैच खेला। भारतीय टीम की नीली जर्सी में हरभजन सिंह आखिरी बार साल 2016 में नजर आये थे, लेकिन क्रिकेट के मैदान पर वो आखिरी बार 18 अप्रैल 2021 को नजर आये थे।

और पढ़ें: IPL 2022 के मेगा ऑक्शन से पहले हरभजन सिंह ने क्यों लिया संन्यास, जानें अब किस रोल में आयेंगे नजर

हरभजन सिंह ने अपने 23 साल के करियर के दौरान पिछले 3 दशक के सबसे बड़े खिलाड़ियों के साथ न सिर्फ ड्रेसिंग रूम शेयर किया बल्कि दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों को फिरकी पर नचाया और भारतीय टीम को कई यादगार जीत दिलाई। 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई घरेलू सीरीज को कौन भूल सकता है जिसमें हरभजन सिंह ने 32 विकेट हासिल करते हुए कंगारुओं को नचाया था और ईडन गार्डन्स में हैट्रिक लेकर ऐतिहासिक जीत हासिल करने में अहम भूमिका निभाई थी। हरभजन सिंह भारत के सबसे बड़े मैच विनर खिलाड़ियों में से एक रहे, हालांकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में जब वो आखिरी बार खेलने उतरे तो उनकी गेंदबाजी के स्तर के हिसाब से फैन्स को उनका प्रदर्शन देखने को नहीं मिला। आइये एक नजर उन आखिरी मैचों पर डालें जब हरभजन सिंह भारत के लिये आखिरी बार खेलते नजर आये थे।

और पढ़ें: हरभजन की फिरकी से लेकर बुमराह के ड्रीम डेब्यू तक, 10 मौके जब भारतीय बॉलर्स ने साउथ अफ्रीका में मचाया तहलका

श्रीलंका के खिलाफ खेला था आखिरी टेस्ट मैच

श्रीलंका के खिलाफ खेला था आखिरी टेस्ट मैच

हरभजन सिंह ने अपने टेस्ट करियर के दौरान 417 बल्लेबाजों को शिकार बनाया जिसमें 25 बार 5 विकेट हॉल हासिल किये तो वहीं पर 5 बार एक मैच में 10 विकेट हासिल किये। हालांकि हरभजन सिंह जब अगस्त 2016 में श्रीलंका के दौरे पर अपना आखिरी मैच खेलने उतरे तो उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा। गाले के मैदान पर खेले गये इस मैच में हरभजन सिंह ने कुल 25 ओवर्स की गेंदबाजी की और 90 रन देकर सिर्फ एक विकेट ही हासिल कर सके। हरभजन सिंह की खराब गेंदबाजी और भारतीय टीम के कमजोर स्पिन अटैक के चलते ही भारतीय टीम इस मैच में पहली पारी में 192 रनों की बढ़त बनाने के बावजूद 63 रन से हार गई थी। श्रीलंका ने दूसरी पारी में 367 रनों का स्कोर खड़ा किया और भारत को जीत के लिये 176 रनों का लक्ष्य दिया, हालांकि भारतीय टीम चौथी पारी में 112 रन पर सिमट गई।

धोनी की कप्तानी में खेला था आखिरी वनडे मैच

धोनी की कप्तानी में खेला था आखिरी वनडे मैच

टेस्ट क्रिकेट की तरह ही हरभजन सिंह के लिये उनके वनडे करियर का आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच भी काफी निराशाजनक रहा था और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले गये इस मैच में भारतीय टीम को 214 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गये इस मैच में साउथ अफ्रीकी टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और भारतीय गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए 50 ओवर्स में सिर्फ 4 विकेट खोकर 438 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। साउथ अफ्रीका के लिये क्विंटन डिकॉक (109), फाफ डुप्लेसिस (133) और एबी डिविलियर्स (119) ने शतकीय पारियां खेली और भारतीय बॉलर्स को पूरी तरह बैकफुट पर धकेला। वनडे क्रिकेट में 269 विकेट हासिल करने वाले हरभजन सिंह ने इस मैच में 10 ओवर्स की गेंदबाजी की और सिर्फ एक ही विकेट निकाल पाये। जवाब में भारतीय टीम 224 रन पर सिमट गई और उसे 214 रन से हार मिली।

एशिया कप 2016 में खेला था आखिरी टी20 मैच

एशिया कप 2016 में खेला था आखिरी टी20 मैच

अंतर्राष्ट्रीय टी20 क्रिकेट में हरभजन सिंह भले ही भारत की विश्वकप विजेता टीम का हिस्सा रहे हों लेकिन उन्हें करियर में ज्यादा मैच खेलने को नहीं मिले। वह भारत के लिये सिर्फ 28 टी20 मैचों में ही शिरकत कर सके जिसमें उन्होंने 25 विकेट अपने नाम किये। हरभजन सिंह ने अपना आखिरी टी20 मैच 2016 के एशिया कप में खेला जहां पर उन्हें सिर्फ एक ही मैच में मौका मिला। फाइनल मैच से पहले हरभजन को भारतीय टीम के आखिरी लीग मैच में यूएई के खिलाफ मौका मिला, जहां पर उन्होंने 4 ओवर्स में 11 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया। इकॉनमी और औसत के हिसाब से हरभजन ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन इसके बावजूद उन्हें आखिरी मैच में मौका नहीं मिला। भारत ने फाइनल में बांग्लादेश को मात देकर खिताब अपने नाम जरूर किया लेकिन हरभजन सिंह को पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ एक ही मैच में खेलते नजर आये।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, December 24, 2021, 17:13 [IST]
Other articles published on Dec 24, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X