IND vs AUS: पूरी सुंदरता से खेले शार्दुल और सुंदर, कमाल की साझेदारी में बने रिकॉर्ड

IND vs AUS Shardul Thakur and Washington Sundar Partnership नई दिल्लीः भारत की पहली पारी 336 रन बनाने के बाद पूरी हो चुकी है। भारतीय टीम के हार ना मानने के जज्बे के चलते यह सीरीज लंबे समय तक याद रखी जाएगी। तमाम मुश्किलों और चुनौतियों के बीच कोई टीम इस तरह का चरित्र दिखाकर सामने आई है, ऐसा इतनी लंबी टेस्ट सीरीज में बहुत कम देखने को मिलता है। गाबा ऑस्ट्रेलिया का अभेद किला सरीखा माना जाता है और अभी इस मैच का नतीजा तय नहीं हुआ है लेकिन कंगारूओं ने मैदान पर उतरते ही भारत पर हावी होने की जो कोशिश की उस पर भारत के दो युवा ऐसे पानी फेर देंगे, यह कल्पना भी नहीं की गई थी।

पूरी सुंदरता से खेले शार्दुल और वाशिंगटन सुंदर-

पूरी सुंदरता से खेले शार्दुल और वाशिंगटन सुंदर-

गाबा में ऑस्ट्रेलिया ने लड़ते हुए पहली पारी में 369 रन बनाए लेकिन उससे पहले ही भारत के पास रविंद्र जडेजा और आर अश्विन बाहर हो चुके थे। बुमराह बाहर जा चुके थे और हनुमा विहारी भी स्वदेश की फ्लाइट पकड़ चुके थे। ये सभी सिडनी टेस्ट के हीरो थे। लेकिन भारत ने ब्रिस्बेन के गाबा में अपने नए हीरो पा लिए। पहले नटराजन ने गेंदबाज में सबसे बेहतर करते हुए 3 विकेट लिए और प्रभावित किया और अब जब बल्लेबाजी में प्रमुख खिलाड़ी जमने के बाद पवेलियन लौट चुके थे तब शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर अपनी पूरी सुंदरता से सामने आ गए।

186 रनों पर 6 विकेट गंवा चुकी भारतीय टीम को सुंदर और ठाकुर ने 7वें विकेट के लिए 123 रनों की साझेदारी देकर मैच को जीवंत कर दिया। इन दोनों ने ब्रिस्बेन में 7वें विकेट लिए सबसे बड़ी भारतीय साझेदारी टेस्ट मैच में कर डाली।

ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट ने किया यौन उत्पीड़न पर सनसनीखेज खुलासा, ग्रीस में आक्रोश

दोनों ने लगाई फिफ्टी और पार्टनरशिप में शतक-

दोनों ने लगाई फिफ्टी और पार्टनरशिप में शतक-

इस साझेदारी में दोनों खिलाड़ियों ने अपने-अपने पहले टेस्ट अर्धशतक बनाए। शार्दुल ने आते ही पॉजिटिव खेल दिखाया और पुल शॉट्स भी लगाकर ऑस्ट्रेलिया को बताया खेल अभी जल्द खत्म नहीं होगा। दूसरे छोर पर वाशिंगटन सुंदर परंपरागत टेस्ट बल्लेबाज की मानिंद स्ट्रोक खेलते रहे और डिफेंस करते रहे। यह जोड़ी किसी मंजे हुए बल्लेबाजों की तरह ऑस्ट्रेलिया के सामने चुनौतियां पेश करती गई।

दोनों ही छोर पर हमको दर्शनीय चौके देखने को मिले। चायकाल के बाद दोनों ने ना केवल अपने अर्धशतक पूरे किए बल्कि ऑस्ट्रेलिया के भारी-भरकम लीड लेने के इरादे को भी चूर कर दिया। इसी बीच शार्दुल 67 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया के सबसे बेहतरीन गेंदबाज पैट कमिंस की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने 9 चौके और 2 छक्के लगाते हुए 115 गेंदों पर यह पारी खेली। सुंदर भी 9वे विकेट के रूप में 144 गेंदों पर 62 रन बनाकर स्टॉर्क की गेंद पर आउट हुए।

साझेदारी ने बनाए रिकॉर्ड-

साझेदारी ने बनाए रिकॉर्ड-

यह ऑस्ट्रेलिया में भारत की तीसरी सबसे बड़ी ओवरऑल 7वें विकेट की साझेदारी है। इससे पहले सातवें विकेट के लिए सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर रविंद्र जडेजा और ऋषभ पंत ने साझेदारी की थी। यह भारत के 2018-19 के दौरे पर हुआ था और दोनों ने 204 रन जोड़े थे। दूसरे नंबर पर विजय हजारे और एच अधिकारी की जोड़ी का नाम आता है जिन्होंने 1947-48 में 132 रन बनाए थे।

विदेशी धरती पर आखिरी बार भारत के नंबर 7 और 8 के बल्लेबाजों (गैर विकेटकीपर) ने पचासा मैनचेस्टर में 1982 में लगाया था। उस समय कपिल देव ने 65 और संदीप पाटिल ने 129 नाबाद रन बनाए थे।

शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर इस मैच में बतौर गेंदबाज खेल रहे हैं और उन्होंने एक ऑलराउंडर का काम किया है। गेंदबाजी में पहले ही दोनों 3-3 विकेट पहली पारी में ले चुके हैं। उन्होंने जडेजा और अश्विन की कमी को बखूबी पूरा किया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, January 17, 2021, 12:37 [IST]
Other articles published on Jan 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X