ICC 'गूंगा' होकर 'ताकतवर' भारत को उसके मन मुताबिक सब करने दे रहा है- माइकल वॉन

नई दिल्लीः इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन का कहना है कि भारत की क्रिकेट ताकत को देखते हुए आईसीसी चुप्पी साध लेती है और बीसीसीआई को वह सब करने देती है जो कि टेस्ट क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है।

यहां माइकल वॉन का इशारा हाल ही में समाप्त हुए अहमदाबाद टेस्ट मैच की पिच की तरफ है। अहमदाबाद टेस्ट से पहले चेन्नई में हुआ दूसरा मैच भी अपनी पिच को लेकर काफी चर्चा में रहा था। इंग्लिश मीडिया और इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटरों ने प्रचारित किया है कि इन दोनों पीछे टेस्ट मैचों की पिच क्रिकेट के लिए कतई मुफीद नहीं है और अगर आप इसी तरह से होम एडवांटेज लेते रहे तो यह टेस्ट क्रिकेट को ही नुकसान पहुंच जाएगा। अब माइकल वान ने डेली टेलीग्राफ में लिखे अपने आर्टिकल के दौरान भी यह बात दोहराई है।

टेस्ट क्रिकेट को नुकसान पहुंचा रहा है भारत- वॉन

टेस्ट क्रिकेट को नुकसान पहुंचा रहा है भारत- वॉन

बता दें इंग्लैंड की टीम ने भारत के दौरे पर अपनी धमाकेदार शुरुआत करते हुए चेन्नई में पहला टेस्ट मैच काफी अच्छे रनों के अंतर से जीत लिया था लेकिन उसके बाद भारतीय टीम ने पलटकर करते हुए चेन्नई में होने वाला दूसरा टेस्ट मैच ना केवल जीता बल्कि अहमदाबाद तक सीरीज में बढ़त भी हासिल कर ली है। भारत ने इंग्लैंड को अहमदाबाद के टेस्ट में 10 विकेट से हराया है और इसके साथ ही वर्ल्ड टेस्ट क्रिकेट चैंपियनशिप में इंग्लैंड बाहर हो चुका है।

'द डेली टेलीग्राफ' में माइकल वॉन ने लिखा है भारत जैसे ताकतवर क्रिकेट देशों को दंत विहीन आईसीसी उनके मन मुताबिक सब कुछ करने दे रहा है। माइकल वॉन ने बीसीसीआई के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए आगे कहा गवर्निंग बॉडी भारत को चाहे जो भी कुछ करने दे रही है लेकिन उससे टेस्ट क्रिकेट को नुकसान पहुंच रहा है।

अहमदाबाद की पिच पर तो मुझे भी विकेट मिल जाते- पूर्व इंग्लिश दिग्गज ने ICC पर उठाए सवाल

वॉन ने कहा- ब्रॉडकास्टर्स को रिफंड मिलना चाहिए

वॉन ने कहा- ब्रॉडकास्टर्स को रिफंड मिलना चाहिए

माइकल वह यहीं पर ही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि इस तरह के विकेट पीछे बनाने से ब्रॉडकास्टर्स को भी काफी नुकसान होता है क्योंकि वे 5 दिनों के टेस्ट मैच के लिए पैसा देते हैं ऐसे में क्या वे अपना पैसा रिफंड मांगेंगे? क्योंकि अहमदाबाद मैच केवल 2 दिनों में खत्म हो गया है ऐसे में बाकी बचे हुए 3 दिनों के उनके नुकसान की भरपाई कौन करेगा?

माइकल वॉन ने इंग्लैंड का 2003 से 2008 तक नेतृत्व किया था। माइकल वॉन ने भारत की इस जीत को खोखली बताया है और कहा है कि कोई भी टीम यहां पर नहीं जीती है बल्कि एक तरीके से क्रिकेट की हार हुई है।

केविन पीटरसन ने इंग्लिश बल्लेबाजों को दी सलाह, कोहली, रोहित की तरह गलतियां मानना सीखों

हालांकि वॉन इस दौरान इंग्लैंड टीम की रोटेशन पॉलिसी और इंग्लैंड टीम के मैनेजमेंट पर भी काफी नाखुश दिखाई दिए और उन्होंने कहा कि उनकी इंग्लैंड के टीम प्रबंधन के साथ किसी भी प्रकार की कोई सहानुभूति नहीं होगी। उन्होंने जॉनी बेयरस्टो का उदाहरण देते हुए बताया कि ये खिलाड़ी श्रीलंका में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद वापस इंग्लैंड भेज दिया गया और जब वह भारत वापस आए तब उनकी फॉर्म पहले जैसी नहीं थी क्योंकि उनके सामने जबरदस्त टर्निंग ट्रैक थे और उनका सामना करने के लिए अश्विन और बाकी स्पिनर तैयार थे।

भारत के अंक काटने की पैरवी की-

भारत के अंक काटने की पैरवी की-

वॉन ने साथ ही यह भी स्वीकार किया है कि भारत इन पिचों पर अंग्रेजों की तुलना में भारत कहीं अधिक बेहतर कौशल दिखाने वाली टीम रही है और भारत से उसका क्रेडिट पूरी तरह से नहीं जा सकता। वॉन ने यह जरूर कहा कि पिच ही पिछले दो टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी खलनायक रही है।

माइकल आगे लिखते हैं, "हम यह कैसे कह सकते हैं कि पहली पारी में 250 एक अच्छा टोटल होगा? हां, दूसरी पारी में फिर भी हम कुछ चीजें बदलने की उम्मीद कर सकते हैं लेकिन पहली पारी में ही इतना संघर्ष हो रहा है यह तो स्वीकार नहीं किया जा सकता। अगर आप वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप खेल रहे हैं तो टेस्ट क्रिकेट के मुताबिक अच्छी पिचे नहीं बनाने के लिए आप के अंक काटे जाने चाहिए।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, February 27, 2021, 12:22 [IST]
Other articles published on Feb 27, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X