'उंगली उठाने से पहले सच पता करो', मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने को लेकर उड़ी अफवाहों पर भड़के गावस्कर

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले लोगों को जमकर लताड़ा है जो इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही सीरीज के आखिरी मैच के कैंसिल हो जाने के बाद भारत की तरफ से जान बूझकर उठाया गया कदम बता रहे हैं। उल्लेखनीय है कि 5 मैचों की इस टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच मैनचेस्टर के मैदान पर खेला जाना था लेकिन भारतीय खेमे में कोरोना के खतरे को देखते हुए इसे कैंसिल करना पड़ा। टॉस होने से दो घंटे पहले बीसीसीआई और ईसीबी ने इसको लेकर आपसी सहमति से स्थगित करने का फैसला किया।

हालांकि सीरीज का फैसला अभी तक नहीं हो सका है और ईसीबी ने इसको लेकर आईसीसी को लेटर लिखा है कि वो इसका फैसला करे, जबकि बीसीसीआई अगले साल इंग्लैंड दौरे पर इसे रिशेड्यूल करने की अपील कर रहा है। भारतीय टीम फिलहाल सीरीज में 2-1 से आगे है, जबकि नॉटिंघम में खेला गया पहला मैच बारिश के चलते रद्द हो गया था।

और पढ़ें: शिखर धवन को ड्रॉप करने पर भड़के पूर्व भारतीय विकेटकीपर, कहा- 'उसने हर बार खुद को साबित किया है'

दोनों बोर्ड के लिये चीजें बढ़िया चल रही थी जब तक कि चौथा टेस्ट मैच नहीं खेला गया। चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन टीम के हेड कोच रवि शास्त्री कोरोना रिपोर्ट में पॉजिटिव पाये गये, जिसके बाद सपोर्टिंग स्टाफ के अन्य सदस्य भरत अरुण, आर श्रीधर भी चपेट में आ गये। वहीं सहायक फिजियो योगेश परमार मैनचेस्टर टेस्ट शुरू होने से 24 घंटे पहले कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाये गये जिसके बाद से आखिरी मैच खेले जाने को लेकर अनिश्चितता शुरु हो गई।

और पढ़ें: IPL 2021 के दूसरे हाफ में खेलने को तैयार हैं देवदत्त पाड्डिकल, कहा- सिर्फ लय बरकरार रखने की जरूरत

भारतीय टीम पर लगाये जा रहे हैं गलत आरोप

भारतीय टीम पर लगाये जा रहे हैं गलत आरोप

इस बीच सुनील गावस्कर ने कहा है कि भारतीय टीम पर जो आरोप लगाये जा रहे हैं कि वह आखिरी टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहती थी पूरी तरह से गलत हैं और इनसे बचना चाहिये।

स्पोर्टस तक को दिये एक इंटरव्यू में गावस्कर ने कहा,'हमारे खिलाड़ियों ने सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल करने के लिये जमकर मेहनत की है मैनचेस्टर टेस्ट के दौरान तो उनके गेंदबाज जो बाहर थे वो टीम में जुड़ने वाले थे, तो ऐसे में हमारी टीम क्यों नहीं खेलना चाहेगी। वो मैच इस वजह से खेलना चाह रहे थे क्योंकि वो सीरीज को 3-1 से जीत सकते थे। तो मैं कभी भी यह बात नहीं मानूंगा कि हमारे खिलाड़ियों ने 5वें टेस्ट में खेलने से इंकार कर दिया था।'

किसी को कैसे पता कि संक्रमण बुक लॉन्च के दौरान फैला

किसी को कैसे पता कि संक्रमण बुक लॉन्च के दौरान फैला

गावस्कर ने आगे बात करते हुए कहा कि अगर यह रिपोर्ट सच्ची हैं तो बीसीसीआई को आधिकारिक रूप से कहना चाहिये था कि हां, हमारे खिलाड़ियों ने खेलने से इंकार कर दिया है। वरना मैं सभी से यही विनती करूंगा कि बिना सबूत के वो ऐसे दावे न करें। इस दौरान पूर्व कप्तान ने रवि शास्त्री के बुक लॉन्च इवेंट को लेकर भी बात की जिसे कोरोना वायरस फैलने का मुख्य कारण माना जा रहा है।

उन्होंने कहा,'किसी को यह कैसे पता है कि यह संक्रमण बुक लॉन्च के दौरान फैला है, क्योंकि बुक लॉन्च के बाद भी जब खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट किया गया तो वो नेगेटिव आये थे। जितना मैं जानता हूं कि मैच की शाम को हुए सभी टेस्ट में खिलाड़ी नेगेटिव पाये गये थे, तो अगर सभी खिलाड़ी नेगेटिव थे समस्या क्या थी कैसे पता।'

झूठ फैलाती हैं इंग्लिश मीडिया

झूठ फैलाती हैं इंग्लिश मीडिया

सुनील गावस्कर ने उन रिपोर्ट को लेकर जमकर लताड़ लगाई है जिसमें भारतीय खिलाड़ियों के मैच खेलने से इंकार करने की बात कही गई है।

उन्होंने कहा,'मुझे उन रिपोर्ट का समझ नहीं आ रहा है जिसमें यह कहा जा रहा है कि भारतीय खिलाड़ियों ने मैच खेलने से इंकार कर दिया है। मैं जानना चाहूंगा कि कौन था वो। यह सभी रिपोर्ट सिर्फ इंग्लिश पेपर्स में ही आ रही थी। वो कभी भी भारतीय टीम के बारे में अच्छा नहीं लिखेंगे। वो हमेशा आपको जिम्मेदार बतायेंगे। मैं बस उनसे यही कहना चाहूंगा कि पहले सच का पता लगाओ उसके बाद उंगली उठाओ।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, September 12, 2021, 21:14 [IST]
Other articles published on Sep 12, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X