IND vs ENG: शॉ-पाड्डिकल को इंग्लैंड नहीं भेजना चाहते सेलेक्टर्स, क्या टीम मैनेजमेंट के साथ हो गई है तनातनी

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच 4 अगस्त से खेली जाने वाली 5 मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले टीम के सलामी बल्लेबाज शुबमन गिल चोट के चलते बाहर हो गये हैं। गिल के दौरे से बाहर होने के बाद से भारतीय टीम मैनेजमेंट पृथ्वी शॉ और देवदत्त पाड्डिकल को इंग्लैंड दौरे पर बतौर सलामी बल्लेबाज शामिल करना चाहता है, हालांकि अब सवाल उठने लगे हैं कि क्या भारतीय चयनकर्ता समिति के चेयरमैन चेतन शर्मा टीम मैनेजमेंट के साथ एक ही पेज पर हैं या दोनों के बीच इसको लेकर तनातनी शुरू हो गई है। उल्लेखनीय है कि शुबमन गिल चोट के चलते पूरी तरह से बाहर हो गये हैं, क्योंकि उन्हें ठीक होने में कम से कम 3 महीने का समय लगेगा।

और पढ़ें: Tokyo Olympics में 201 सदस्यीय भारतीय दल होगा शामिल, यह खिलाड़ी बनें ध्वजवाहक

भारतीय टीम के साथ इस समय बंगाल की टीम के सलामी बल्लेबाज अभिमन्यु ईश्वरन दौरे पर गये हुए हैं जिन्होंने 2019-20 के रणजी सीजन में रनों का अंबार लगाया था और न्यूजीलैंड के खिलाफ इंडिया ए की टीम के लिये ढेरों रन बनाकर इस सीरीज में जगह बनाई है। हालांकि टीम मैनेजमेंट की ओर से इस खिलाड़ी को प्राथमिकता न दिये जाने को लेकर माना जा रहा है कि शायद मैनेजमेंट को अभी भी उनकी तकनीक पर विश्वास है कि वो टेस्ट क्रिकेट के लिये टॉप क्वालिटी प्रदर्शन कर सकते हैं और इसी के चलते मैनेजमेंट शॉ और पाड्डिकल को इंग्लैंड दौरे पर शामिल करना चाहता है।

और पढ़ें: IPL 2021 के बचे हुए मैचों का आयोजन हुआ मुश्किल, यूएई में टीमों के सामने आई नई चुनौती

टीम मैनेजमेंट ने पिछले महीने भेजी मेल पर चेतन शर्मा ने नहीं दिया ध्यान

टीम मैनेजमेंट ने पिछले महीने भेजी मेल पर चेतन शर्मा ने नहीं दिया ध्यान

नाम न बताने की शर्त पर न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए एक बीसीसीआई के अधिकार ने कहा,'भारतीय टीम के एमडिनिस्ट्रेटर मैनेजर ने पिछले महीने के अंत में सेलेक्टर्स कमिटी के चेयरमैन चेतन शर्मा को एक मेल भेजी है जिसमें इंग्लैंड दौरे के लिये 2 सलामी बल्लेबाजों को भजने की मांग की है।'

शॉ को लेकर नहीं की गई है औपचारिक मांग

शॉ को लेकर नहीं की गई है औपचारिक मांग

हालांकि शुबमन गिल के चोटिल होने के बावजूद चेतन शर्मा ने इस मुद्दे पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया है। अब ऐसे में देखना होगा कि क्या टीम मैनेजमेंट सलामी बल्लेबाजों को भेजने के लिये टीम मैनेजमेंट से औपचारिक मांग करेगा। फिलहाल अभी तक भारतीय टीम मैनेजमेंट की ओर से शॉ और पाड्डिकल को इंग्लैंड दौरे पर भेजने के लिये सौरव गांगुली या सचिव जय शाह के पास कोई भी आधिकारिक मेल नहीं की गई है। जय शाह भारतीय चयन समिति के संयोजक भी हैं।

सूत्र ने आगे कहा,'बीसीसीआई अध्यक्ष के पास अभी तक सलामी बल्लेबाजों को लेकर कोई भी आधिकारिक मेल नहीं आई है जिसमें पृथ्वी शॉ और देवदत्त पाड्डिकल को इंग्लैंड भेजे जाने की मांग की गई हो। वो अभी श्रीलंका में 26 जुलाई तक सीमित ओवर्स प्रारूप की सीरीज खेलेंगे, जहां से दोनों इंग्लैंड के लिये उड़ान भर सकते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि टीम मैनेजमेंट दोनों खिलाड़ियों को डरहम के बायोबबल में प्रवेश करने से पहले चाहता है।'

आधिकारिक मेल के बाद ही होगी कार्रवाई

आधिकारिक मेल के बाद ही होगी कार्रवाई

गौरतलब है कि अगर चेतन शर्मा ने टीम मैनेजमेंट की मांग पर पिछले महीने गौर किया होता तो दोनों खिलाड़ी इंग्लैंड की काउंटी इलेवन के साथ होने वाले प्रैक्टिस मैच से पहले पहुंच जाते। इस बीच जब उनसे पूछा गया कि क्या टीम मैनेजमेंट ने बाकायदा पृथ्वी शॉ को भेजने की मांग की है तो अधिकारी ने कहा कि उन्हें औपचारिक मेल भेजने दीजिये फिर बात करते हैं।

उन्होंने कहा,' जब तक मैनेजमेंट की ओर से आधिकारिक मेल नहीं भेजी जायेगी इस मुद्दे पर कुछ नहीं कहा जा सकता। वैसे भी पृथ्वी श्रीलंका दौरे पर पहुंची भारतीय टीम का अहम हिस्सा हैं और उनका पूरा ध्यान वहीं पर होगा। आपके पास इंग्लैंड में पहले से ही 23 खिलाड़ी मौजूद हैं जिसमें से 3 सलामी बल्लेबाज हैं।'

ईश्वरन के आत्म-विश्वास को होगा नुकसान

ईश्वरन के आत्म-विश्वास को होगा नुकसान

हालांकि टेस्ट क्रिकेट में पृथ्वी शॉ की वापसी की योजना कई सवाल खड़े कर रही है जिसके बाद कयास लगाये जा रहे हैं कि क्या टीम मैनेजमेंट और चयनसमिति के चेयरमैन चेतन शर्मा के बीच सब कुछ ठीक चल रहा है।

उन्होंने कहा,'क्वालिटी के मामले में ईश्वरन और पृथ्वी की तुलना नहीं की जा सकती। पृथ्वी इस प्रारूप में ईश्वरन से मीलों आगे हैं और पहले ही एक टेस्ट शतक लगा चुके हैं। वह पिछले कुछ समय में शानदार फॉर्म में रहे हैं। वहीं पर फिर बात आती है कि वो श्रीलंका में क्या कर रहे हैं उन्हें इंग्लैंड में होना चाहिये था। लेकिन इस पर यह भी कहा जा सकता है कि पिछले कुछ समय में शॉ ने जो भी रन बनाये हैं वो सफेद बॉल प्रारूप में है और रेड बॉल से अपनी फॉर्म साबित कर पाने का उन्हें मौका नहीं मिला है, जिसमें खराब फॉर्म होने के चलते ही उन्हें बाहर किया गया था। आपने पहले पृथ्वी को सेलेक्ट नहीं किया लेकिन अब बीच में से ऐसे बुलाना ईश्वरन के प्रति गलत संदेश देगा। ईश्वरन के भी आत्म-विश्वास को चोट पहुंचेंगी।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, July 5, 2021, 19:33 [IST]
Other articles published on Jul 5, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X