बड़ा खुलासा: काले रंग के चलते डिविलियर्स ने भारत दौरे से इस खिलाड़ी को किया था बाहर

नई दिल्ली। दुनिया भर में फैली महामारी कोरोनावायरस के बीच पिछले कुछ समय में एक और बड़ी समस्या ने जगह बना ली है। पिछले कुछ समय में नस्लवाद की समस्या को लेकर दुनिया भर में ब्लैक लाइव्स मैटर अभियान चलाया गया है जिसके तहत सालों से काले लोगों के साथ हो रहे भेदभाव के प्रति लोगों को जागरुक बनाया जा सके। इस मुहिम में दुनिया भर के खिलाड़ियों ने अपना समर्थन दिया, खास तौर से दक्षिण अफ्रीका और कैरिबियाई खिलाड़ियों ने, हालांकि इस बीच दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज खिलाड़ी एबी डिविलियर्स को लेकर एक ऐसी खबर सामने आ रही है जिसे सुनकर आप हैरान हो जायेंगे।

IPL 2020 में 1 लाख प्रति सेकेंड से चार्ज करेगा स्टार स्पोर्टस, विज्ञापन से कमा सकता है 5000 करोड़

इसके अनुसार साल 2015 में आयोजित हुए विश्व कप के बाद जब दक्षिण अफ्रीकी टीम भारत के खिलाफ 5 मैचों की वनडे और 2 मैचों की टी20 सीरीज के लिये आई थी तो उस दौरे पर कप्तान डिविलियर्स ने एक ब्लैक खिलाड़ी को उसके रंग के चलते प्लेइंग इलेवन में शामिल करने से रोक दिया था।

ENG vs PAK: बुरी तरह फ्लॉप हुए 11 साल बाद वापसी करने वाले फवाद आलम, 4 गेंदों में लौटे पवेलियन

डिविलियर्स ने इस ब्लैक खिलाड़ी को टीम से किया था बाहर

डिविलियर्स ने इस ब्लैक खिलाड़ी को टीम से किया था बाहर

आईसीसी विश्व कप 2015 के बाद भारत के खिलाफ खेली गई यह सीरीज दक्षिण अफ्रीका के लिये बेहद ही खास थी क्योंकि इस सीरीज में अफ्रीकी टीम ने दोनों सीरीज में जीत हासिल की थी। टी20 सीरीज में भारत को 2-0 तो वनडे सीरीज में 3-2 से हराया था। भारत के खिलाफ आयोजित हुए इस दौरे को लगभग 5 साल बीत गये हैं लेकिन न्यूज 24 की एक रिपोर्ट के अनुसार कप्तान एबी डिविलियर्स को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इसके अनुसार डिविलियर्स ने ब्लैक खिलाड़ी खाया जोंडो को टीम में शामिल करने का सख्ती से विरोध किया था। इतना ही नहीं उन्होंने टीम मैनेजमेंट को धमकी भी दी थी कि अगर जोंडो को टीम में चुना गया तो वह अफ्रीकी टीम को छोड़ देंगे।

डुमिनी के बाहर होने पर एल्गर को मिला मौका

डुमिनी के बाहर होने पर एल्गर को मिला मौका

उल्लेखनीय है कि भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान जेपी डुमिनी चोटिल हो गये थे जिसके बाद डिविलियर्स ने टीम में पहले से शामिल खाया जोंडो को शामिल करने के बजाय डीन एल्गर को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया था।

समाचार आउटलेट ने पूर्व क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के अध्यक्ष नॉर्मन अर्सेंडे की रिपोर्ट के हवाले कहा,'जोंडो का नाम पांचवें वनडे से पहले टीम की शीट पर था। हालांकि, उन्हें मैच से पहले ग्यारह खिलाड़ियों की लिस्ट से हटा दिया गया था, जो क्रिकेट साउथ अफ्रीका की चयन नीति के विपरीत था।'

बोर्ड को लिखा था पत्र

बोर्ड को लिखा था पत्र

गौरतलब है कि भारत दौरे पर जब खाया जोंडो को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया तो टीम के बाकी ब्लैक प्लेयर्स ने क्रिकेट साउथ अफ्रीका को एक पत्र लिखा जिसमें उन्होंने खुद को ‘ब्लैक प्लेयर्स इन यूनिटी ‘कहा था, जिसका मतलब है काले रंगे के खिलाड़ी एकजुट हैं।

इन खिलाड़ियों के ग्रुप ने साउथ अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड को एक पत्र लिखा था। जिसमें खिलाड़ियों ने अपने साथ सही व्यवहार करने की बात कही थी। हाल ही में, प्रोटियाज के पूर्व खिलाड़ी प्रिंस ने भी ट्विटर पर जोंडो की कहानी को उजागर किया था।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, August 14, 2020, 19:41 [IST]
Other articles published on Aug 14, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X