IPL 2020: 8 टीमों से एक-एक खिलाड़ी जिनको शायद ही मिलेगा कोई मैच खेलने का मौका

नई दिल्लीः आईपीएल और भारत के अन्य घरेलू क्रिकेट में बड़ा फर्क केवल मिलने वाले पैसे का ही नहीं है बल्कि आपस में होने वाली प्रतियोगिता का भी है। आईपीएल में बमुश्किल ही अनकैप्ड खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने का मौका मिलता है। यह प्रतियोगिता खिलाड़ी को प्लेटफॉर्म देने से ज्यादा हार और जीत पर फोकस रखती है। अगर खिलाड़ी में मैच जितानी वाली क्षमताएं हैं तो उसके लिए आईपीएल इंटरनेशनल क्रिकेट का मंच तैयार करा सकता है।

लेकिन पहले ही सितारों से सजी टीमों में कई खिलाड़ी ऐसे हैं जिनको प्लेइंग इलेवन के लिए एक बार फिर से काफी इंतजार करना पड़ेगा। आइए हर टीम से ऐसे एक खिलाड़ी को चुनते हैं जिनको एक भी मैच खेलना का मौका ना मिल पाए-

1. फैबियन एलन

1. फैबियन एलन

यह खिलाड़ी सनराइजर्स हैदराबाद का है जिसमें पहले ही डेविड वार्नर, राशिद खान, जॉनी बेयरस्टो और केन विलियमसन टीम के सबसे महत्वपूर्ण चेहरों में से कुछ हैं। साथ ही टीम में मोहम्मद नबी भी शामिल हैं तो फैबियन एलेन के लिए फिट होना काफी मुश्किल है।

IPL कौन से चैनल पर आएगा: कब और कहां देखें इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन?

एलने एक कैरेबियाई ऑलराउंडर है जिसमें बड़े शॉट मारने की क्षमता है। एलेन ने 2014 के अंडर 19 विश्व कप में विंडीज़ की ओर भाग लिया।

2. तुषार देशपांडे

2. तुषार देशपांडे

तुषार देशपांडे मुंबई के एक उभरते हुए क्रिकेटर हैं। 25 वर्षीय गेंदबाज ने उस समय सुर्खियां बटोरीं, जब उन्होंने आईपीएल ट्रायल के निमंत्रण को स्वीकार करने के बजाय अपने क्लब क्रिकेट मैच के लिए जाने का फैसला किया। उन्हें अक्टूबर 2018 में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए ट्रायल के लिए आने के लिए कहा गया था।

युवा गेंदबाज को अपनी काबिलियत पर विश्वास था और इसी आत्मविश्वास ने उन्हें 2020 में अनुबंध दिलाया। लेकिन तेज गेंदबाज को किसी भी खेल में खेलने का मौका नहीं मिलेगा क्योंकि दिल्ली कैपिटल्स का शिविर कई अनुभवी विकल्पों से भरा है।

3. अनुज रावत

3. अनुज रावत

अनुज रावत उत्तराखंड के एक अनकैप्ड विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं। 20 वर्षीय क्रिकेटर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में असम के लिए खेलते हैं। उन्होंने घरेलू सर्किट में अपना नाम दर्ज कराया। अनुभवहीन खिलाड़ी को आईपीएल के इस सत्र में अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका नहीं मिल सकता है। राजस्थान रॉयल्स को युवा क्रिकेटरों को दबाव की स्थिति में खेलने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए जाना जाता है, लेकिन टीम संयोजन इस खिलाड़ी को शामिल करने की अनुमति नहीं देता है।

जयपुर की टीम में जोस बटलर प्रमुख खिलाड़ियों में से एक हैं। इंग्लिश विकेटकीपर इस सीजन में सभी खेलों में शामिल होने के लिए तैयार है और किसी भी अन्य स्टॉपर के लिए अवसर की संभावना नहीं है। आवश्यकता होने पर कप्तान स्टीव स्निथ के लिए संजू सैमसन एक और विकल्प है।

4. साई किशोर

4. साई किशोर

23 वर्षीय स्पिनर तमिलनाडु प्रीमियर लीग का एक उत्पाद है। धीमे बाएं हाथ के ऑर्थोडॉक्स गेंदबाज टी 20 लीग के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में से एक रहे हैं।

चेन्नई की फ्रेंचाइजी के पास स्पिन गेंदबाजी के विकल्प की अधिकता के कारण उनको मौका मिलना मुश्किल है। महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम ने बहुत सारे स्पिनरों को चुना है। यद्यपि संयुक्त अरब अमीरात में स्थितियां स्पिन के अनुकूल हैं, पीली सेना के पास पहले से ही कई अंतरराष्ट्रीय स्पिनर हैं।

टीम में हरभजन सिंह की अनुपस्थिति के बावजूद, इमरान ताहिर, पीयूष चावला, मिशेल सेंटनर और रवींद्र जडेजा शामिल हैं।

5. हरप्रीत बरार

5. हरप्रीत बरार

हरप्रीत बरार को पिछले साल पंजाब फ्रेंचाइजी के लिए कुछ खेल मिले लेकिन इस साल प्रबंधन और टीम का संयोजन अलग-अलग है। बल्लेबाजी ऑलराउंडर को कुछ बड़े शॉट मारने के लिए जाना जाता है, जो कि एक आसान फायदा है। युवा क्रिकेटर भले ही मुख्य कोच अनिल कुंबले के अनुभव तले बहुत कुछ सीखते हों, लेकिन मैच हासिल करना उनके लिए मुश्किल लगता है।

पंजाब की ताकत केएल राहुल और गेल में सबसे ऊपर है। लेकिन टीम की बल्लेबाजी लाइन ग्लेन मैक्सवेल के साथ-साथ निकोलस पूरन और कृष्णप्पा गौथम के भी इर्द-गिर्द रहेगी। गौथम स्पिन-गेंदबाजी ऑलराउंडर के रूप में भी काम करते हैं।

फ्रंट लाइन स्पिनर्स के लिहाज से, पंजाब में मुजीब उर रहमान और मुरुगन अश्विन के साथ है। इस संयोजन में केएल राहुल के लिए अनुभवी विकल्पों के बजाय बरार को चुनना की संभावना बहुत कम है।

6. निखिल नाइक

6. निखिल नाइक

कोलकाता नाइट राइडर्स इस सीजन में अपना तीसरा खिताब जीतने की कोशिश कर रही है। टीम के मालिक सुपरस्टार शाहरुख खान हैं और दिनेश कार्तिक कप्तान हैं। कोलकाता टूर्नामेंट की सबसे लोकप्रिय फ्रेंचाइजी में से एक रही है और टीम को बहुत ठोस प्लेइंग इलेवन के लिए जाना जाता है।

25 वर्षीय विकेटकीपर निखिल नाइक को केकेआर ने 2019 की नीलामी में खरीदा था। उन्हें मुख्य रूप से चोट लगने की स्थिति में कीपर के रूप में देखा जाता है। टीम के कप्तान कार्तिक के तौर पर विकेटकीपर विकल्प होने के चलते इस साल संयुक्त अरब अमीरात में इस खिलाड़ी को गेम मिलने की संभावना बहुत कम है।

7. पवन देशपांडे

7. पवन देशपांडे

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 2018 आईपीएल में पवन देशपांडे को खरीदा। बैटिंग ऑलराउंडर को बीच के ओवरों में कुछ स्पिन गेंदबाजी करने के अलावा तेज रन बनाने के लिए जाना जाता है।

RCB का बल्लेबाजी विभाग शीर्ष क्रम पर विराट कोहली, एबी डिविलियर्स और एरॉन फिंच से सुसज्जित है। देवदत्त पडिक्कल और शिवम दुबे ऐसे भारतीय विकल्प हैं, जिन्हें मौका मिलेगा।

ऑलराउंडर के रूप में लाइन-अप में मोइन अली, वॉशिंगटन सुंदर और क्रिस मॉरिस के साथ भी, देशपांडे को लेने की संभावना बहुत पतली हो गई है।

8. शेफरेन रदरफॉर्ड

8. शेफरेन रदरफॉर्ड

मुंबई इंडियंस अब तक की सबसे सफल आईपीएल फ्रेंचाइजी है। टीम टूर्नामेंट के इस सीजन में भी सबसे मजबूत दिख रही है। गत विजेता जसप्रीत बुमराह और पांड्या भाइयों की तरह कुछ असाधारण प्रतिभाओं को खोजने के लिए टीम को जाना जाता है, लेकिन उनके अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी किसी से पीछे नहीं हैं।

शेरफेन रदरफोर्ड को मुंबई फ्रैंचाइजी ने दिल्ली कैपिटल के साथ एक ट्रेड के माध्यम से चुना है। कैरेबियाई ऑलराउंडर कप्तान रोहित शर्मा को एक और विकल्प देता है, वह है तेज गेंदबाजी और लंबी गेंद को हिट करने की क्षमता।

लेकिन टीम के पास पहले से ही ऑलराउंड विकल्प के रूप में किरोन पोलार्ड और पांड्या बंधु हैं जो टीम में काफी सुलझे हुए हैं। इससे ऑलराउंडर के लिए किसी भी खेल में शामिल होना बेहद संदिग्ध है और वह पूरे टूर्नामेंट के लिए ड्रेसिंग रूम में ही रह सकता है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, September 18, 2020, 13:52 [IST]
Other articles published on Sep 18, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X