आखिर क्यों है सीएसके आईपीएल की सबसे सफल टीम, आशीष नेहरा ने किया कारणों का खुलासा

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में 9वीं बार फाइनल में खेलने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर चौथी बार ट्रॉफी अपने नाम कर ली। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने 2020 के शर्मनाक सफर को भुलाकर जबरदस्त तरीके से वापसी की और लगातार अच्छी लय को बरकरार रख कर खिताब अपने नाम किया। इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास की सबसे सफल टीमों की बात करें तो सीएसके का नाम जरूर आता है जिसने 12 बार सीजन में हिस्सा लिया और 11 बार प्लेऑफ में जगह बनायी। इस दौरान उसने 9 बार फाइनल खेला और 4 बार खिताब अपने नाम किया।

और पढ़ें: रोहित-कोहली नहीं बल्कि इस खिलाड़ी पर होगा पाकिस्तान का ध्यान, बाबर ने बताया कौन होगा T20 WC में खतरनाक खिलाड़ी

आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स से ज्यादा निरंतर कोई टीम नहीं रही है, जिसको लेकर अक्सर यह सवाल उठता है कि किस वजह से महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली यह टीम इतनी ज्यादा कामयाब होती है। भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इसके पीछे की वजह बताते हुए खुलासा किया है कि ऐसा क्या है जो धोनी की टीम को इतना स्पेशल बनाता है।

और पढ़ें: दर्शकों के बीच भारत में खेला जायेगा आईपीएल 2022?, मेजबानी को लेकर सौरव गांगुली ने दिया बड़ा बयान

इस वजह से है सबसे सफल टीम

इस वजह से है सबसे सफल टीम

क्रिकबज के साथ बात करते हुए आशीष नेहरा ने कहा कि आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स इकलौती ऐसी फ्रैंचाइजी है जो कभी यह कहती हुई नजर नहीं आती कि उसे सबकुछ आता है और हर समय अपने आप में कुछ नया करने की कोशिश करती रहती है।

उन्होंने कहा,'सीएसके की टीम को आप जब भी देखेंगे तो वो कभी भी खुद से संतुष्ट नहीं होते हैं। भले ही वह खिताब जीते हों या फाइनल तक पहुंचे हों, वो हमेशा अपनी गलतियों पर काम कर खुद में सुधार करने की कोशिश करते हुए नजर आते हैं। सीएसके की टीम कभी नहीं कहती कि उसे सब कुछ आता है, वह हमेशा गलतियों पर ध्यान देती है और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करती है। यही वजह है कि वह आईपीएल की सबसे सफल टीम है।'

जो कम गलतियां करता है उसे मिलता है खिताब

जो कम गलतियां करता है उसे मिलता है खिताब

आशीष नेहरा का मानना है कि आईपीएल में उसी टीम के हाथ जीत लगती है जो कम गलतियां करता है। मुझे लगता है कि सीएसके की टीम बाकी फ्रैंचाइजियों के लिये आदर्श टीम साबित हो सकती है कि कैसे खिलाड़ियों को मैनेज किया जाये।

उन्होंने कहा,'बाकी सभी टीमों को सीखना चाहिये कि कैसे सीएसके ने अपने हर खिलाड़ी को आगे बढ़ने में अहम योगदान दिया है। अगले साल मेगा ऑक्शन होने के चलते शायद इन सभी खिलाड़ियों को 15वें सीजन में दोबारा एक साथ देखना मुश्किल होगा, लेकिन यह अभी तय नहीं है कि धोनी टीम की अगुवाई करेंगे या नहीं। हालांकि अगर मैं चेन्नई की विरासत पर कहूं तो हर वो खिलाड़ी जो इस टीम में आया है उसने अपना सबकुछ इसे आगे बढ़ाने में दिया है। जिस तरह से इस टीम ने प्रदर्शन किया है वह बाकी टीमों के लिये एक मिसाल है।'

सीएसके की टीम ने जीता चौथा खिताब

सीएसके की टीम ने जीता चौथा खिताब

गौरतलब है कि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने साल 2010 में अपना पहला खिताब जीता था जबकि अगले साल 2011 में उसे सफलता पूर्वक बचाने वाली पहली टीम बनी। इसके बाद साल 2018 में जब टीम बैन के बाद वापस लौटी तो सीएसके ने अपना तीसरा खिताब जीता। आपको बता दें कि साल 2019 में सीएसके की टीम को आखिरी गेंद पर हार मिली थी जिसके बाद 2020 में चेन्नई का प्रदर्शन खराब रहा और वो पहली बार प्लेऑफ तक नहीं पहुंच सकी।

आपको बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने इस सीजन जबरदस्त शुरुआत की और 14 मैचों में से 9 में जीत हासिल कर प्लेऑफ में जगह बनायी और उसके बाद सेमीफाइनल में दिल्ली कैपिटल्स को तो वहीं पर फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर खिताब अपने नाम किया।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, October 16, 2021, 23:28 [IST]
Other articles published on Oct 16, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X