वानखेड़े के मैदान पर धोनी ने दिलाई 2019 विश्व कप की याद, माही ने सुधारी गलती

IPL 2021
Photo Credit: Twitter

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का 12वां मैच चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला गया, जहां पर संजू सैमसन की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। वहीं चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट खोकर 188 रनों का स्कोर खड़ा किया और राजस्थान को जीत के लिये 189 रनों का लक्ष्य दिया। यह मैच सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिये खास रहा क्योंकि राजस्थान के खिलाफ उन्होंने बतौर कप्तान मैचों का दोहरा शतक किया।

सीएसके के लिये ऋतुराज गायकवाड़ एक बार फिर अच्छी शुरुआत करने में नाकाम रहे और 10 रन बनाकर वापस पवेलियन लौटे। वहीं पर फाफ डुप्लेसिस ने 17 गेंदों में 4 चौके और 2 छक्कों की मदद से 33 रनों की पारी खेली। सीएसके की टीम ने तेजी से रन तो बनाये लेकिन लगातार अंतराल पर विकेट खोती रही जिसके चलते 125 रन पर 5 विकेट खोने के बाद कप्तान एम एस धोनी मैदान पर उतरे।

और पढ़ें: CSK vs RR: वानखेड़े के मैदान पर धोनी ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाले पहले कप्तान बने

वानखेड़े के मैदान पर बल्लेबाजी करने आये महेंद्र सिंह धोनी को अपनी दूसरी ही गेंद पर डाइव लगाकर अपनी विकेट बचानी पड़ी जिसने फैन्स की आंखों के सामने 2019 विश्व कप के सेमीफाइनल मैच की याद दिला दी। राहुल तेवतिया पारी का 15वां ओवर लेकर आये थे जिसकी दूसरी गेंद पर धोनी ने हल्का सा बल्ला लगाकर रन चुराने की कोशिश की, हालांकि जब वो थोड़ा आगे गये थे तभी फील्डर ने गेंद पकड़कर विकेटकीपर की ओर गेंद पर फेंका।

जडेजा ने धोनी को रन लेने से मना किया और वो वापस स्ट्राइक की ओर भागे। संजू सैमसन के हाथों में सीधा थ्रो आया और ऐसा लगा मानों धोनी का रन आउट होना तय है। हालांकि धोनी ने इस बार वो गलती नहीं कि जो उनसे 2019 विश्व कप के सेमीफाइनल के दौरान हुई थी। धोनी ने डाइव लगा दी और रन आउट होने से बाल-बाल बचे।

और पढ़ें: IPL 2021: महेला जयवर्धने का खुलासा, बताया- क्यों मुंबई के लिये गेंदबाजी नहीं कर रहे हार्दिक पांड्या

गौरतलब है कि एमएस धोनी ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच 2019 विश्व कप सेमीफाइनल के रूप में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था, जहां पर 2 रन लेने के चक्कर में धोनी ब्रैंडन मैक्कलम के डायरेक्ट थ्रो का शिकार हुए थे, वहां पर धोनी क्रीज से एक इंच दूर रह गये थे और भारत को हार का सामना करना पड़ा था। संन्यास के बाद धोनी ने डाइव न लगाने को लेकर कहा था कि मन में टीस रह गई कि वो डाइव क्यों नही ंलगा सके।

आपको बता दें कि पहले मैच में बिना रन बनाये आउट होने वाले धोनी ने इस मैच में बल्लेबाजी में थोड़ा रंग दिखाया और 17 गेंदों में 2 चौके लगाकर 18 रनों की पारी खेली। चेतन साकरिया ने उनका विकेट हासिल किया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, April 19, 2021, 21:54 [IST]
Other articles published on Apr 19, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X