क्या IPL 2022 की नीलामी का हिस्सा बन पायेगी अहमदाबाद, अभी अधर में लटका है फैसला

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन की तैयारियां जोरों पर हैं और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड दो नई टीमों के साथ मेगा ऑक्शन की तारीख का ऐलान जल्द ही कर सकता है। बीसीसीआई ने आईपीएल 2022 में अहमदाबाद और लखनऊ के रूप में दो नई टीमों की नीलामी की है, हालांकि बेटिंग कंपनियों के साथ कनेक्शन को लेकर अहमदाबाद के भविष्य पर अभी तक फैसला नहीं हो सका है। उल्लेखनीय है कि अक्टूबर के महीने में बीसीसीआई ने दो नई टीमों की खरीदारी के लिये नीलामी का आयोजन किया था जिसमें सीवीसी स्पोर्टस की टीम ने अहमदाबाद की फ्रैंचाइजी को खरीदा था, लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि बीसीसीआई ने अभी तक इस फ्रैंचाइजी को एनओसी नहीं दी है, जिसकी वजह से गुजरात पर आधारित इस फ्रैंचाइजी के भविष्य पर अभी तक फैसला नहीं लिया जा सका है।

और पढ़ें: विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में बढ़ी इंग्लैंड की मुश्किलें, आईसीसी ने फिर से काटे 3 प्वाइंट

रिपोर्ट की मानें तो अहमदाबाद की टीम ने श्रेयस अय्यर को अपनी टीम का कप्तान बनाने के लिये एप्रोच किया है लेकिन एनओसी नहीं मिल पाने की वजह से अब तक करार नहीं कर सकी है। दरअसल टीम की खरीदारी के महज 48 घंटे बाद ही यह खबरें सामने आयी थी कि सीवीसी स्पोर्टस ने कई अंतर्राष्ट्रीय बेटिंग फर्म के शेयर में निवेश किया है, जिसके बाद बीसीसीआई की ओर से टीम बेचने को लेकर सवाल उठने लगे।

और पढ़ें: Ashes 2021-22: पिंक बॉल टेस्ट में शतक जड़ मार्नस लाबुशेन ने रचा इतिहास, तोड़ा रोहित शर्मा का बड़ा रिकॉर्ड

अधर में लटका है अहमदाबाद का मालिकाना हक

अधर में लटका है अहमदाबाद का मालिकाना हक

सीवीसी स्पोर्टस ने अहमदाबाद की टीम को 5625 करोड़ रुपये में खरीदा है। इस मामले के सामने आने के बाद आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी ने भी ट्वीट कर बीसीसीआई पर निशाना साधा और कहा कि शायद अब नियमों में बदलाव हो गया है और अब बेटिंग कंपनियां भी आईपीएल में टीम खरीदने की हकदार बन गई हैं। क्या बीसीसीआई ने टीम बेचने से पहले अपना होम वर्क नहीं किया था, ऐसे मामले में एंटी करप्शन क्या कर सकता है।

इन रिपोर्ट के सामने आने के बाद बीसीसीआई ने करार पर एनओसी देने पर रोक लगा दी और मामले को कानूनी तरीके से पूरी जांच करने का फैसला लिया। पिछले कुछ समय से इस मामले पर लगातार चुप्पी बनी हुई है, जिसके बाद अब तक तय नहीं हो पा रहा है कि क्या अहमदाबाद की टीम नीलामी का हिस्सा बन पायेगी। गौरतलब है कि अगर सीवीसी स्पोर्टस से अहमदाबाद के मालिकाना हक छीन लिये जाते हैं तो दोबारा से नीलामी की जायेगी और इससे बोर्ड के 15वें सीजन की नीलामी के शेड्यूल में देरी हो सकती है।

सीवीसी स्पोर्टस के खिलाफ गई है कानूनी सलाह

सीवीसी स्पोर्टस के खिलाफ गई है कानूनी सलाह

इस मामले पर क्रिकबज ने ताजा जानकारी देते हुए रिपोर्ट जारी की है, जिसके अनुसार बीसीसीआई ने इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के एक रिटायर्ड जज से संपर्क किया है और उनकी सलाह का इंतजार कर रही है। ऐसे में जो भी सलाह होगी उसी के हिसाब से अहमदाबाद के भविष्य पर फैसला हो पायेगा। गौरतलब है कि अगर सीवीसी स्पोर्टस की टीम कानूनी प्रक्रिया में अहमदाबाद की टीम को रिटेन कर पाने में नाकाम रहती है तो अहमदाबाद के लिये दूसरी सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले अडानी ग्रुप को इसका जिम्मा दे दिया जायेगा।

क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार विशेषज्ञों की सलाह सीवीसी स्पोर्टस के खिलाफ गई है। जहां एक ओर अहमदाबाद की टीम के मालिकाना हक पर अनिश्चितता के बादल छाये हुए हैं तो वहीं पर बोर्ड और टीम के बीच सकारात्मकता बनी हुई है।

इस नियम के तहत बीसीसीआई दे सकती है मालिकाना हक

इस नियम के तहत बीसीसीआई दे सकती है मालिकाना हक

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार आईपीएल में अहमदाबाद की फ्रैंचाइजी के मालिकाना हक को लेकर बीसीसीआई को सीवीसी स्पोर्टस से कोई दिक्कत नहीं है। इसके पीछे का मुख्य कारण है सीवीसी स्पोर्टस के जिस कनेक्शन की बात की जा रही है वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर है जबकि उसके एशियाई शेयरधारक का इससे कोई भी नाता नहीं है और न ही बेटिंग कंपनियों में कोई निवेश है।

संडे एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के अनुसार सीवीसी के पास दो तरह के फंड है, जिसमें एक यूरोपियन है तो दूसरा एशियन। जहां एक ओर सीवीसी के यूरोपियन फंड के लिंक खेल से जुड़ी बेटिंग कंपनियों के निवेश से है (जो कि कानूनी तौर पर वैध है) तो वहीं पर एशियन फंड पूरी तरह से क्लीन है। इतना ही नहीं सीवीसी ने आईपीएल में अपने एशियन फंड को निवेश किया है। बीसीसीआई फिलहाल इसी समझ के तहत काम कर रही है लेकिन इस मुद्दे पर पूरी तरह से क्लियर होने के लिये वह एक समिति बना सकती है जो कि 25 दिसंबर तक इस पर आखिरी फैसला सुना सकता है।'

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, December 17, 2021, 22:26 [IST]
Other articles published on Dec 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X