कोहली बनाम बीसीसीआई: क्या भारत की टेस्ट कप्तानी से भी देना होगा विराट को इस्तीफा?

नई दिल्लीः क्या विराट कोहली के चमकदार कैरियर का अंतिम पड़ाव आ चुका है? कम से कम उनकी कप्तानी के मोर्चे पर तो ऐसा ही लगता है। विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3 जनवरी को शुरू हुए दूसरे टेस्ट मैच में भाग नहीं लिया क्योंकि उनको कमर के ऊपर हिस्से में अकड़ाहट थी। कम से कम, आधिकारिक तौर पर यही बताया गया है। लेकिन विराट कोहली के लिए चीजें तबसे ठीक नहीं जा रही है जब से उन्होंने दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और सीधा बीसीसीआई के प्रेसिडेंट और भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को भी एक तरीके से झूठा ठहरा दिया था।

 बीसीसीआई बनाम विराट कोहली

बीसीसीआई बनाम विराट कोहली

जल्द ही यह मामला बीसीसीआई बनाम विराट कोहली बन गया। इसके बाद जब जोहांसबर्ग के वांडरर्स में होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले 2 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो वह विराट कोहली की जगह पर राहुल द्रविड़ ने अटेंड की थी। द्रविड़ ने कहा था कि विराट कोहली जब अपना 100वां टेस्ट मुकाबला खेलेंगे तो निश्चित तौर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिस्सेदारी करेंगे लेकिन अभी यह तय नहीं है कि विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में खेल पाएंगे या फिर नहीं।

वैसे तो यह भी हो सकता है कि विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज भी मिस करें क्योंकि यह पहली बार नहीं है जब भारतीय कप्तान को कमर की तकलीफ ने तंग किया हो। यह बता दें कि विराट कोहली ने कमर की चोट के चलते 2018 बेंगलुरु में अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच मिस कर दिया था। विराट कोहली की जगह पर जोहांसबर्ग में केएल राहुल कप्तानी कर रहे हैं और उन्होंने कहा कि विराट कोहली को अप्पर बैक स्पाज्म है।

एशेज: कोविड और चोट की मार से जूझ रही इंग्लैंड की टीम में स्टुअर्ट ब्रॉड की वापसी

कोहली की टेस्ट कप्तानी भी जाने का समय?

कोहली की टेस्ट कप्तानी भी जाने का समय?

बाद में बीसीसीआई ने भी इसी बात की ओर संकेत दिए जहां उन्होंने कहा- टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को इस सुबह कमर के ऊपरी हिस्से में स्पाज्म है। वह वांडरर्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मुकाबले में हिस्सा नहीं लेंगे। बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनकी निगरानी करेगी। उनकी अनुपस्थिति में केएल राहुल टीम के कप्तान होंगे। ऑल इंडिया सीनियर सेलेक्शन कमेटी ने दूसरे टेस्ट मैच के लिए जसप्रीत बुमराह को उप कप्तान के तौर पर नियुक्त किया गया है किया है।

विराट कोहली फिलहाल 98 टेस्ट मैचों में 50.35 की औसत से 7854 रन बना चुके हैं। जिस तरह से उनकी घटिया बल्लेबाजी फॉर्म जारी है उस हिसाब से यह औसत 50 से नीचे गिरना तय है। विराट कोहली ने अभी तक 27 शतक व इतने ही अर्धशतक टेस्ट मैचों में लगा रखे हैं। मौजूदा परिस्थितियों में विराट कोहली श्रीलंका के खिलाफ ही अपना 100वां टेस्ट मैच खेल पाएंगे जो फरवरी में एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में होगा। लेकिन इस बात की गारंटी नहीं दी जा सकती है कि विराट कोहली भारतीय टीम की टेस्ट कमान भी लंबे समय तक संभालेंगे। केएल राहुल या फिर रोहित शर्मा टेस्ट कप्तानी के रोल में भी आगे बढ़ते हुए दिखाई दे सकते हैं। रोहित ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चोटिल होने के चलते टेस्ट सीरीज में हिस्सा नहीं लिया है और वह मौजूदा समय में बेंगलुरु की नेशनल क्रिकेट अकादमी में रिहैबिलिटेशन कर रहे हैं।

आला कमान से टकराकर किस ओर जा रहे हैं विराट-

आला कमान से टकराकर किस ओर जा रहे हैं विराट-

सौरभ गांगुली ने विराट कोहली के साथ मतभेद के मुद्दे पर यह कहते हुए किनारा कर लिया था कि इस मुद्दे को आगे मत खींचिए। यह बीसीसीआई का मामला है और वे इससे निपट लेंगे। मेरे पास कहने के लिए कुछ नहीं है।

दादा का यह बयान थोड़ा कैजुअल और पॉलिटिकली करेक्ट स्टेटमेंट है और ऐसे लगता है वे बातों को ठंडा करने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन पर्दे के पीछे चीजें चल पड़ी हैं क्योंकि बीसीसीआई के चीफ सिलेक्टर चेतन शर्मा ने एक बार फिर से यह दावा किया है कि विराट कोहली से बार-बार आग्रह किया गया था कि वे T20 कप्तानी ना छोड़ें, लेकिन वे नहीं माने और फिर चयनकर्ताओं के सामने रोहित शर्मा को ओडीआई कमान सौंपने के अलावा कोई और चारा नहीं बचा था।

विराट अडिग तो बीसीसीआई भी पीछे हटने के तैयार नहीं-

विराट अडिग तो बीसीसीआई भी पीछे हटने के तैयार नहीं-

चेतन शर्मा ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के इस कथन को ही सपोर्ट किया है जहां पर दादा ने कहा था कि विराट से रिक्वेस्ट की गई थी कि वे T20 कमान ना छोड़े। चेतन शर्मा ने कहा था- हमने विराट कोहली से T20 कप्तानी ना छोड़ने को लेकर रिक्वेस्ट की थी। कप्तानी बदलने का कोई प्लान नहीं था लेकिन जब उन्होंने T20 कप्तानी से इस्तीफा दिया तो सिलेक्टरों ने यह डिसाइड कर लिया कि लिमिटेड ओवर क्रिकेट में अलग-अलग कप्तान बनाना ठीक नहीं है। चेतन शर्मा ने यह बात तब कही थी जब भारत की सीनियर सेलेक्शन कमेटी ने दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए ओडीआई सीरीज की घोषणा की थी। इस सीरीज में केएल राहुल को कप्तान बनाया गया है जबकि 10 जसप्रीत बुमराह उप कप्तान बने हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Tuesday, January 4, 2022, 12:06 [IST]
Other articles published on Jan 4, 2022
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X