भारत की ऐतिहासिक जीत के फैन हुए मोहम्मद हाफिज, पाकिस्तान को दी सीखने की सलाह

Mohammad Hafeez praises Indian Team after historic Win Credits BCCI's Domestic System for making Come back after getting bowled at 36: नई दिल्ली। हाल ही में समाप्त हुए बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज (Border Gavaskar Test Series) के दौरान भारतीय टीम ने विषम परिस्थितियों के बावजूद ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर सीरीज जीतने का काम किया जिसके बाद दुनिया भर में भारतीय खिलाड़ियों की जमकर तारीफ हो रही है। खास बात यह रही कि इस टेस्ट सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम दूसरी पारी में महज 36 रन पर ऑल आउट हो गई थी, जिसके बाद टीम ने न सिर्फ वापसी की बल्कि खिलाड़ियों के लगातार चोटिल होने के बावजूद सीरीज को जीतने का काम किया।

भारतीय टीम की इस जीत के बाद पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट टीम के सीनियर बल्लेबाज मोहम्मद हाफीज (Mohammad Hafiz) ने भी खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की है और इस जीत का श्रेय बीसीसीआई को देते हुए कहा कि ऐसी सिर्फ इसलिये संभव हो सका क्योंकि भारत में घरेलू स्तर से प्रतिभा को निखारने की उचित व्यवस्था है।

और पढ़ें: अब भारत मे बैठे हुए जीत सकते हैं अमेरिकी लॉटरी, जैकपॉट में है एक अरब रुपये

पत्रकारों से बात करते हुए हाफीज (Mohammad Hafiz) ने कहा,' मैंने भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज का जमकर लुत्फ उठाया। एडिलेड में 36 रन पर ऑल आउट होने के बाद भारतीय टीम का मनोबल गिरा हुआ था लेकिन उसने जिस तरह से सीरीज में वापसी की वह लाजवाब रही। 36 रन पर सिमटने और अपने नियमित कप्तान विराट कोहली के न होने के बावजूद भारतीय खिलाड़ी ऐसा इस वजह से कर सके क्योंकि उन्हें घरेलू स्तर पर अच्छी तरह से तैयार किया गया है।'

हाफीज (Mohammad Hafiz) का मानना है कि अगर आज के समय में आपको अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बने रहना है तो आपको प्रतिभा के साथ-साथ उन्हें निखारने की उचित व्यवस्था भी करनी है जो कि पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट बोर्ड के पास नहीं है। हाफीज (Mohammad Hafiz) ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) में सिर्फ खिलाड़ियों की बल्लेबाजी और गेंदबाजी पर ध्यान दिया जाता है लेकिन उन्हें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की चुनौतियों के लिये तैयार नहीं किया जाता।

IND vs ENG: इंग्लैंड सीरीज से पहले हरभजन ने शुबमन गिल को दी खास सलाह, जानें क्या बोले

उन्होंने कहा, 'बदकिस्मति से हमारे क्रिकेट बोर्ड के पास ऐसी कोई व्यवस्था नहीं जो हमें मॉर्डन डे क्रिकेट की जरूरत के हिसाब से खिलाड़ी तैयार करने में मदद करे। यही कारण है कि हमारे पास टैलेंट होने के बावजूद हमारे युवा खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर असफल हो जाते हैं।'

आपको बता दें कि मोहम्मद हाफीज (Mohammad Hafiz) से पहले पाकिस्तान (Pakistan) के कई दिग्गज खिलाड़ी वसीम अकरम, शोएब अख्तर, वकार यूनिस, इंजमाम उल हक, राशिद लतीफ और मोइन खान भी भारतीय टीम की इस जीत और भारतीय क्रिकेट की संरचना की तारीफ कर चुके हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, January 22, 2021, 16:07 [IST]
Other articles published on Jan 22, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X