इतनी कम उम्र और ऐसा भारी शरीर, मोहम्मद यूसुफ ने कहा, कोहली से सीख ले ये पाकिस्तानी क्रिकेटर

Mohammad Yousuf wants Azam Khan to learn from Virat Kohli and Babar Azam | Oneindia Sports

नई दिल्लीः पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज मोइन खान अपने करियर के दिनों में काफी बढ़िया खिलाड़ी थे। वह एक चपल विकेटकीपर और आक्रामक बल्लेबाज थे जो शॉट लगाने पर आते थे तो फिर सामने किसी भी गेंदबाज की बखिया उधेड़ देते थे। मोईन खान के आंकड़े हालांकि उस तरह के नहीं है जिस तरह की प्रतिभा उनमें थी पर उस दौर में ऐसा कई पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ हुआ। मोइन खान के बेटे का नाम आजम खान है और वे अपने पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए एक आक्रामक बल्लेबाज के तौर पर उभर रहे हैं। हालांकि एक समस्या उनका शरीर है जो काफी भारी है।

मोइन खान के बेटे आजम खान-

मोइन खान के बेटे आजम खान-

22 साल की उम्र में इतना भारी शरीर होना वाकई में एक चिंता की बात है और आजम खान को अगर अपना क्रिकेट करियर लंबा खींचना है तो निश्चित तौर पर फिटनेस पर काम करना ही होगा। उनका शरीर इतना भारी है कि आलोचक इसको लेकर उनके ऊपर निशान साधते रहते हैं। हालांकि जब बात क्रिकेट कौशल की आती है तो इसमें कोई भी शक नहीं कि यह युवा बल्लेबाज विपक्षी गेंदबाजों की बखिया उधेड़ने का दम रखता है। उन्होंने अपनी बैटिंग का हुनर पीएसएल में भी दिखाया है। पाकिस्तान के बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ ने इस भारी-भरकम इस बल्लेबाज के बारे में बात की है। पाकिस्तान के पूर्व बेजोड़ बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ को आजम खान से कुछ शिकायतें हैं जिनमें इस बल्लेबाज का अति आक्रमक होना भी शामिल है।

आप रोजी-रोटी के लिए खेलते हो और हम मजे के लिए, पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने बॉयकॉट से क्यों कहे ये शब्द

पाकिस्तान का युवा उभरता हुआ आक्रामक बल्लेबाज-

पाकिस्तान का युवा उभरता हुआ आक्रामक बल्लेबाज-

मोहम्मद यूसुफ को लगता है कि आजम खान को अपने खेलने के तौर-तरीके पर विचार करने की जरूरत है क्योंकि वह हमेशा छक्के लगाने की सोचते हैं। इसके चलते आजम खान ने भारत के बेस्ट बल्लेबाज विराट कोहली से सीख लेने को भी कहा है। विराट कोहली फिटनेस के लिए एक बड़े आइकन माने जाते हैं और उनकी बल्लेबाजी की महानता में फिटनेस का काफी योगदान है। हालांकि कोहली की उम्र अब तेजी से ढल रही है लेकिन फिटनेस आज भी पहले की तरह शानदार बनी हुई है। मोहम्मद यूसुफ ने आजम खान के बारे में बात करते हुए कहा, "वह युवा है और उसने अभी केवल फर्स्ट क्लास क्रिकेट का एक ही सीजन खेला है। हालांकि वह एक उत्साही खिलाड़ी है और एक इमोशनल इंसान भी है जो छक्के मारना पसंद करता है। वह बेहतरीन कवर ड्राइव चलता है लेकिन उसकी छक्के मारने की आदत बहुत ज्यादा है। उसने T20 लीग भी खेली है जिसमें उसने छक्के मारना काफी पसंद किया है। लेकिन जिस तरह का हार्ड वर्क उसने अपने ऊपर किया है और अपनी बल्लेबाजी में भी बहुत मेहनत की है वह तारीफ के काबिल तो है ही।"

पहला मकसद वजन घटाना- यूसुफ

पहला मकसद वजन घटाना- यूसुफ

लेकिन इसके साथ ही मोहम्मद यूसुफ का मानना है कि इस बल्लेबाज को लगातार बड़े शॉट लगाने की अपनी आदत को रोकना होगा। मोहम्मद यूसुफ को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपने नेशनल हाई परफारमेंस सेंटर पर बल्लेबाजी कोच बनाया है। उन्होंने हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट लीग की फ्रेंचाइजी क्वेटा ग्लैडिएटर्स के बल्लेबाज आजम खान के साथ काम किया है और बताया है कि पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की फिटनेस तेजी के साथ सुधरी है। मोहम्मद यूसुफ आजम खान पर आगे बात करते हुए कहते हैं, "हमारा मुख्य मकसद तो उनका वजन घटाना है। इसके बाद हमको उनकी बल्लेबाजी पर भी काम करना होगा। छक्के बहुत जरूरी होते हैं लेकिन यह तभी काम आते हैं जब सही समय पर लगाए जाएं। अगर आपका स्कोरबोर्ड लगातार चल रहा है तो छक्कों की कोई जरूरत नहीं है। अगर आप बड़े खिलाड़ियों को देखे जैसे कि विराट कोहली, केन विलियमसन, बाबर आजम और रोहित शर्मा तो इनके खेलने के तौर तरीके से काफी कुछ समझ सकते हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, May 21, 2021, 17:26 [IST]
Other articles published on May 21, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X