IPL रिव्यू मीटिंग की तारीख को लेकर अभी तक नहीं हुआ कोई फैसला

नई दिल्ली। गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय सैनिकों की मौत के बाद चीन के खिलाफ जमकर विरोध किया जा रहा है। केंद्र सरकार ने चीन को सबक सिखाने के लिए टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप को भी बैन कर दिया है। लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अभी भी चीनी मोबाइल कंपनी वीवो का करार है। इसको लेकर लेकर एक रिव्यू मीटिंग होनी है, लेकिन अभी तक इसकी कोई तारीख निर्धारित नहीं की गई है। आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर 'वीवो' है, जो चीनी कंपनी है। कई भारतीय क्रिकेटर्स भी अब 'वीवो' से करार तोड़ने की मांग कर रहा है।

एएनआई के ट्वीट के मुताबिक बीसीसीआई के सूत्र ने कहा, ''फिलहाल IPL रिव्यू मीटिंग की तारीख को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। कुछ मामले हैं जिनपर बीसीसीआई अभी काम कर रहा है। आईपीएल के आसपास के सभी मसलों को जब निपटा लिया जाएगा तब यह मीटिंग होगी।'' बता दें कि इससे पहले मंगलवार को किंग्स इलेवन पंजाब के को-ओनर नेस वाडिया ने भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के कारण आईपीएल में चीन की कंपनियों के प्रायोजन को खत्म करने की मांग की थी।

चीन में आया नया जानलेवा वायरस, हरभजन सिंह ने ट्वीट के जरिए निकाली भड़ासचीन में आया नया जानलेवा वायरस, हरभजन सिंह ने ट्वीट के जरिए निकाली भड़ास

बीसीसीआई को चीन की कंपनियों द्वारा प्रायोजन की समीक्षा के लिए आईपीएल संचालन परिषद की बैठक करनी थी लेकिन ये अबतक नहीं हो पाई। बता दें कि चीन की मोबाइल फोन कंपनी वीवो आईपीएल की टाइटल प्रायोजक है और प्रत्येक साल भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) को 440 करोड़ रुपए देती है। यह करार 2022 तक चलेगा। आईपीएल से जुड़ी कंपनियों पेटीएम, स्विगी और ड्रीम इलेवन में भी चीन की कंपनियों का निवेश है। केवल आईपीएल ही नहीं बल्कि अन्य खेलों में भी चीन की कंपनियों का करार है। वहीं चेन्नई सुपर किंग्स सहित अन्य टीमों ने कहा कि वे सरकार के फैसले को मानेंगी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Read more about: ipl ipl 2020 bcci cricket
Story first published: Wednesday, July 1, 2020, 13:47 [IST]
Other articles published on Jul 1, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X