18 साल पहले शोएब अख्तर ने फेंकी वो गेंद, जो शेन वॉटसन को नहीं दी थी दिखाई- VIDEO

नई दिल्ली: यह 19 जून 2002 की बात है जब पाकिस्तानी टीम कंगारूओं की धरती पर वनडे सीरीज का तीसरा मैच खेल रही थी। तब ऑस्ट्रेलिया के पास ग्लेन मैक्ग्रा और शेन वार्न हुआ करते थे। जेसन गिलेस्पी भी उस समय की ऑस्ट्रेलिया के दर्ज के बॉलर थे तो पाकिस्तान के पास सपनों सरीखा पेस अटैक था।

इस पेस अटैक में वसीम अकरम, वकार यूनिस और शोएब अख्तर शामिल थे। शोएब अपने करियर के उफान पर थे और इसी मुकाबले में पाकिस्तान ने दिखा दिया कि उनका पेस अटैक अगर क्लिक कर जाए तो दुनिया के किसी भी बैटिंग ऑर्डर में उनका सामना करने की काबिलियत नहीं।

शोएब की बॉलिंग ने यादगार बना दिया मुकाबला-

शोएब की बॉलिंग ने यादगार बना दिया मुकाबला-

यह मुकाबला ब्रिस्बेन में खेला गया जहां पाकिस्तान ने पहले बैटिंग करते हुए 7 विकेट पर 256 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तानी बॉलर्स ने जो दमखम दिखाया वह कंगारूओं को आज भी याद आता है। इस मैच में ये शोएब अख्तर थे जिनके तेज स्पैल ने मुकाबले को हमेशा के लिए यादगार बना दिया। उन्होंने तेज गेंदबाजी का जो नमूना पेश किया उसके चलते 18 साल बाद भी यह गेंदबाजी बल्लेबाजों के रोंगटे खड़ी कर देती है।

'नंबर 5 पर कुछ नहीं होने वाला दादा': पूर्व कोच की सलाह जिसने बदला गांगुली का करियर

आधी टीम को आउट करके कहर बनकर टूटे अख्तर-

आधी टीम को आउट करके कहर बनकर टूटे अख्तर-

सब जानते हैं कि शोएब एक वास्ताविक तेज गेंदबाज थे जो विशुद्ध गति पैदा करने के लिए पूरी जान झोंकता है। 257 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कंगारू टीम के टॉप ऑर्डर पर शोएब कहर बनकर टूट पड़े। देखते ही देखते ही आधी ऑस्ट्रेलियाई टीम मात्र 65 रनों के स्कोर पर पवेलियन लौट चुकी थी। इस दौरान शोएब ने रिकी पोंटिंग, डेमियन मार्टिन और डेरेन लेहमान को चलता कर दिया था। दोनों ही बल्लेबाजों को बोल्ड करके अख्तर ने स्पीड का शानदार नमूना पेश किया था।

शेन वॉटसन को दिखाई नहीं दी गेंद-

शेन वॉटसन को दिखाई नहीं दी गेंद-

पांच विकेट खोने के बाद ऑस्ट्रेलिया जोड़ी शेन वॉटसन और माइकल बेवन के रूप में मौजूद थी लेकिन उनके हौसले पस्त थे। और इसी का फायदा उठाते हुए जोशीले शोएब ने कंगारू पारी का 17वां ओवर इतना तेज फेंका कि वॉटसन के सामने क्रीज संभालना और भी मुश्किल हो गया। इस दौरान स्पीड गन पर गति 150 किलोमीटर प्रति घंटा के औसत से दर्शायी गई थी लेकिन गेंद का असर बल्लेबाजों पर उससे भी कहीं तेजी से हो रहा था।

बेसबॉल प्लेयर है या क्रिकेटर- ये हैं क्रिकेट में अजीबोगरीब तरीके से खड़े होने वाले 5 बल्लेबाज

विकेटकीपर के भी ऊपर से उड़ते हुए निकली-

इसी दौरान 17वें ओवर की चौथी गेंद पर शोएब ने पटकते हुए फेंकी जो वॉटसन के चेहरे को टारगेट करते हुए डिलीवर की गई थी। यह गति पिच पर पड़ते ही गोली की गति से वॉटसन के चेहरे के सामने से उड़ती हुई निकल गई। गेंद ने इतनी तेज गति और उछाल पकड़ा की यह विकेटकीपर राशिद लतीफ के दस्तानों की पहुंच से भी बाहर साबित हुई। लतीफ ने पूरी उछाल के साथ गेंद पकड़नी चाही लेकिन वह उनके ऊपर से निकलकर पीछे सीधे चौके के लिए चली गई।

गलवान में भारतीय शहीदों पर किए विवादित ट्वीट के बाद CSK के निलंबित डॉक्टर ने मांगी माफी

पाकिस्तान ने 91 रनों से जीता यह मुकाबला-

पाकिस्तान ने 91 रनों से जीता यह मुकाबला-

वॉटसन किसी तरह से यह ओवर झेल पाए लेकिन शोएब ने अपने अगले ही ओवर में माइकल बेवन को चलता करके अपना चौथा विकेट ले लिया। मजेदार बात यह है कि वॉटसन किसी तरह टिकने में सफल रहे और अंत तक नाबाद रहे। उन्होंने 44 रन बनाए। शोएब ने बाद में एक और विकेट लिया जो जेसन गिलेस्पी का था। इसके साथ ही उन्होंने मैच में अपने 5 विकेट पूरे किए। इस मैच में अख्तर ने 8 ओवर में 25 रन देकर 5 विकेट लिए थे और ऑस्ट्रेलिया पारी को 40 ओवरों में 165 के स्कोर पर भी ढहा दिया था। पाकिस्तान शान से यह मुकाबला 91 रनों से जीतने में कामयाब रहा। आज भी क्रिकेट प्रेमियों के लिए यह गेंदबाजी जेहन में ताजा है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, June 19, 2020, 11:59 [IST]
Other articles published on Jun 19, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X