नहीं रही पाकिस्तानी बल्लेबाज शान मसूद की बहन, क्रिकेटर ने सोशल मीडिया पर लिखा इमोशनल मैसेज

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी शान मसूद के परिवार पर इस समय दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। इस खिलाड़ी ने अपने सोशल मीडिया से अपनी बहन मीशू के गुजरने की दुखद घटना शेयर की है। बायें हाथ का यह पाकिस्तानी बल्लेबाज इस समय रावलपिंडी क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित की जा रही नेशनल टी20 कप में सिंध की टीम का हिस्सा बना हुआ है। इस दुखद खबर को लेकर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सरफराज अहमद, अनवर अली, आबिद अली समेत कई सारे क्रिकेटर्स ने मसूद और उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदनायें व्यक्त की हैं। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नव चयनित चेयरमैन रमीज राजा ने भी इसको लेकर ट्वीट किया है।

31 वर्षीय शान मसूद इस खबर से बुरी तरह से टूटे हुए हैं कि वो अपनी प्यारी बहन को आखिरी बार अलविदा नहीं कह सके। इसके साथ ही उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपनी बहन की एक तस्वीर भी अपलोड की है।

और पढ़ें: बाबर आजम ने तोड़ा क्रिस गेल-कोहली का बड़ा रिकॉर्ड, T20 विश्वकप से पहले बढ़ाई भारत की टेंशन

उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा,'मीशू, तुम मेरे जीवन में सबसे कीमती थी और मुझे तुम्हे आखिरी बार गुडबॉय कह पाने का भी मौका नहीं मिल सका। तुम मुझे बहुत याद आओगी लेकिन मैं जानता हूं कि भगवान तुम्हें एक बेहतर जगह ले गया है। आप सभी से प्रार्थना है कि मेरी बहन की आत्मा के लिये प्रार्थना करें।'

उल्लेखनीय है कि ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए मसूद ने खुलासा किया था कि उनकी बहन क्रोमोसोम डिसऑर्डर की गंभीर बीमारी से जूझ रही हैं, जो कि उनके बड़े होने के बाद मिली है। मसूद ने बताया कि उनकी गंभीर बीमारी के चलते उनकी बहन मानसिक रूप से विकसित नहीं हो सकी थी जबकि शारीरिक रूप से उनका विकास पूरा हुआ।

और पढ़ें: 'धोनी जैसा है यह खिलाड़ी पर नहीं बन सकता अच्छा कप्तान', अजय जडेजा ने की विकेटकीपर बल्लेबाज की आलोचना

मसूद ने कहा था,'मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान में मेरी बहन जैसे बच्चों की बीमारी के प्रति ज्यादा जागरुकता है, वह एक खास तरह की बच्ची है, जिसका शारीरिक विकास ठीक है लेकिन मानसिक रूप से विकास नहीं हुआ है। वह एक नव जन्मे बच्चे की तरह हैं, जिन्हें डिपेंडेट वीजा नहीं मिल पा रहा है और इस के चलते वह इंग्लैंड में मेरे माता-पिता के साथ नहीं जा पा रही है। मेरी मां को उसकी देखभाल के लिये आना पड़ता है और पिता को एक साथ दो घर चलाना पड़ता है। मैं उम्मीद करता हूं कि उसे इस बात का एहसास हो सके कि हम उसके लिये क्या कर रहे हैं और उसे इस पर गर्व हो सके।

गौरतलब है कि शान मसूद का फार्म नेशनल टी20 कप में कुछ खास नहीं रहा है और 11.83 की औसत से सिर्फ 71 रन ही बना सके हैं और इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 31 का रहा। आपको बता दें कि सिंध की टीम इस समय अंकतालिका में पहले पायदान पर काबिज है जिसने टी20 चैम्पियनशिप में 6 में से 4 में जीत हासिल कर ली है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, October 4, 2021, 18:19 [IST]
Other articles published on Oct 4, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X