बहुत मुश्किलों से गुजरकर पाकिस्तान ने तय किया है WC का रास्ता, भारत को सावधान रहना होगा

नई दिल्लीः पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए विश्व कप में आने की डगर बड़ी मुश्किल रही है। T20 वर्ल्ड कप में 24 अक्टूबर को भारत के साथ पाकिस्तान क्रिकेट टीम का मुकाबला है और यह इस वर्ल्ड कप का सबसे हाई वोल्टेज मैच है जो प्रतियोगिता के शुरुआती चरण में ही देखने को मिल रहा है। इस फॉर्मेट में पाकिस्तान की टीम को आमतौर पर खतरनाक माना जाता है लेकिन हकीकत में पाकिस्तान के लिए पिछले कुछ महीने काफी मुश्किल भरे रहे हैं क्योंकि पहले तो न्यूजीलैंड ने उनकी धरती पर आने के बाद सीरीज खेलने से पहले ही पलायन कर लिया और फिर इंग्लैंड ने भी पाकिस्तान के तय दौरे अपने हाथ खींच लिए।

दूसरी ओर भारतीय टीम है जिसने एक साथ अपनी दोनों 2 टीम उतारने का कारनामा करके दिखाया। उन्होंने इंग्लैंड में भी अच्छा प्रदर्शन किया और इंग्लैंड, श्रीलंका की धरती पर भी जाकर सफेद गेंद फॉर्मेट में अच्छे दिखाई दिए। फिर आईपीएल में भी भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों को अच्छा अनुभव मिला है।

ऐसे में मौजूदा फॉर्म की बात करें तो भारत आसानी से पाकिस्तान पर जीत हासिल करता हुआ दिखाई देता है लेकिन पाकिस्तान के मौजूदा हालात उसको एक खतरनाक टीम बना देते हैं। कहते हैं जब कोई बहुत तेजी से नीचे गिरता है तो उसमें खड़ा होने की ललक भी उतनी ही ज्यादा होती है और पाकिस्तान क्रिकेट इस विश्व कप में बेहतर प्रदर्शन करके दुनिया के सामने फिर से खड़ा होने की के लिए लालायित है।

आज होगा क्रिकेट का सबसे ब्लॉकबस्टर मुकाबला, भारत मजबूत तो पाकिस्तान भी कम खतरनाक नहींआज होगा क्रिकेट का सबसे ब्लॉकबस्टर मुकाबला, भारत मजबूत तो पाकिस्तान भी कम खतरनाक नहीं

निश्चित तौर पर पाकिस्तानी खिलाड़ियों को भारत की तुलना में कहीं अधिक मानसिक और आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और उनके पास दुनिया की बेस्ट टीम बनने के सिवा कोई विकल्प नहीं है। उनके नए अध्यक्ष रमीज राजा साफ कह चुके हैं कि जब तक पाकिस्तान विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीमों में शामिल नहीं होगा तब तक दुनिया की हर टीम कोई ना कोई बहाना लगा कर उनके खिलाफ खेलने से बचती रहेगी

दूसरी ओर, भारत के साथ मामला बिल्कुल ही अलग है। पाकिस्तान क्रिकेट का पतन लगभग एक दशक पहले तब देखने को मिला जब 2009 में श्रीलंका क्रिकेट टीम की बस पर लाहौर में हमला किया गया। उसके बाद से संयुक्त अरब अमीरात पाकिस्तान का दूसरा देश रहा है।

टॉप टीमों द्वारा पाकिस्तान आकर खेलने से मना करना एक झटका तो था ही लेकिन फिर पीसीबी की अंदरुनी राजनीति ने क्रिकेट का और नुकसान कर दिया। टी20 टूर्नामेंट के लिए टीम की घोषणा के कुछ ही घंटों बाद ही उनके मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक और उनके भरोसेमंद डिप्टी वकार यूनिस ने पद छोड़ने का फैसला किया।

IND vs PAK: दोनों देशों के राजनीतिक तनाव का मैच पर क्या असर होगा? गंभीर ने दिया ये जवाबIND vs PAK: दोनों देशों के राजनीतिक तनाव का मैच पर क्या असर होगा? गंभीर ने दिया ये जवाब

इसके बाद एक और इस्तीफा दिया गया क्योंकि मुख्य कार्यकारी वसीम खान ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को पुनर्जीवित करने की कोशिश में एक दशक बिताने के बाद अपनी भूमिका से हटने का फैसला किया।

फिर, टूर्नामेंट से कुछ दिन पहले, पाकिस्तान ने सरफराज अहमद, हैदर अली और फखर जमान को टी20 विश्व कप के लिए अपने 15 सदस्यीय टीम में जगह बनाई।

लेकिन पाकिस्तान ने अक्सर उथलपुथल के दौर में भी पनपने का एक रास्ता खोज लिया है। उन्होंने टी20 में एक मजबूत 2021 साल का आनंद लिया है जिसमें नौ जीत से सिर्फ पांच हार हैं। इसमें दक्षिण अफ्रीका (दो बार), जिम्बाब्वे और वेस्टइंडीज पर श्रृंखला जीत और इंग्लैंड में इंग्लैंड पर 2-1 से हार शामिल है।

इंग्लैंड में 2009 के टूर्नामेंट के संस्करण में खिताबी जीत के बाद से, पाकिस्तान टीम ट्रॉफी को फिर से घर वापस लाने की तलाश में है। एक खतरनाक गेंदबाजी आक्रमण के साथ, दुनिया के कुछ सर्वश्रेष्ठ टी 20 बल्लेबाज और संयुक्त अरब अमीरात की परिस्थितियों से परिचित होने के कारण, बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम को फिर से खिताब के लिए एक गंभीर चुनौती पेश करने की उम्मीद है। भारत को पहले मैच में थोड़ी भी ढील नहीं देनी होगी। इस ब्लॉकबस्टर मैच पर दुनिया की नजरें टिकी हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, October 24, 2021, 11:20 [IST]
Other articles published on Oct 24, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X