प्रवीण तांबे बोले- बढ़ती उम्र बाधा नहीं बन सकती, KKR ने कुछ देखा तभी मुझे खरीदा

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व लेग स्पिनर प्रवीण तांबे ने 48 की उम्र में भी आईपीएल में दबदबा कामय रखने का काम किया है। 19 दिसंबर को कोलकाता में आईपीएल सीजन-13 के लिए हुई खिलाड़ियों की नीलामी में तांबे को कोलकाता नाइट राइडर्स ने उनके बेस प्राइस 20 लाख में अपनी टीम के साथ जोड़ लिया है। अब तांबे 3 सीजन बाद आईपीएल में उतरेगें। उन्होंने आखिरी सीजन 2016 में गुजरात लायंस के लिए खेला था। तांबे ने केकेआर का हिस्सा बनने के बाद पीटीआई को दिए साक्षात्कार में कहा कि वो 48 साल के होने के बावजूद टीम के लिए एक 20 साल के युवा खिलाड़ी जैसा प्रदर्शन करेंगे।

IPL 2020 : यूसुफ पठान की नहीं लगाई किसी ने बोली, इरफान ने लिखा इमोशनल मैसेज

बढ़ती उम्र बाधा नहीं बन सकती

बढ़ती उम्र बाधा नहीं बन सकती

प्रवीण तांबे का मानना ​​है कि वह 48 साल की उम्र में भी 20 की उम्र वाले खिलाड़ी जैसा खेल दिखा सकते हैं। उन्होंने कहा, "मैं अभी भी एक मानसिकता के साथ खेलता हूं जैसे मैं एक 20 साल का युवा हूं और वह सकारात्मकता के साथ अपना सारा अनुभव और ऊर्जा टीम के लिए लाऊंगा। मुझे पता है कि मैं उसे ला सकता हूं।" तांबें समझते हैं कि बढ़ती उम्र उनके लिए बाधा नहीं बन सकती। उन्होंने कहा, "लोग बहुत सी बातें कहते हैं, लेकिन मैं अपना काम करता रहता हूं और बहुत अधिक मेहनत करता हूं। मुझे क्षेत्ररक्षण या गेंदबाजी में जो भी भूमिका दी गई है, उसमें मैं अच्छा प्रदर्शन करना चाहूंगा। यह कुछ साबित करने के लिए नहीं है। यदि ऐसा था, तो मैं इतना लंबा नहीं खेल सकता था। मैं वास्तव में उनके लिए खेलने के लिए उत्साहित हूं।

खरीदने से पहले KKR ने कुछ मुझमें कुछ देखा

खरीदने से पहले KKR ने कुछ मुझमें कुछ देखा

ताबें का एक 18 साल का बेटा है जो इंजीनियरिंग कर रहा है, जबकि ताम्बे का क्रिकेट के प्रति जुनून सिर चढ़कर बोल रहा है। उन्होंने अपने बेटे को क्रिकेट से दूर रखा। उन्होंने कहा, " मेरा बेटा कभी भी एक क्रिकेटर नहीं बनना चाहता था, उसने इंजीनियंरिंग में कदम रखा। मेरे परिवार ने इन सभी वर्षों में मेरा समर्थन किया है। वे मुझे प्रेरणा देते रहते हैं। केकेआर ने मुझे खरीदने से पहले मुझमें कुछ देखा होगा। मैं केकेआर टीम प्रबंधन का आभारी हूं। मैं उनके लिए योगदान देना चाहता हूं। यदि आपको समर्थन मिला है, तो आप एक लंबा रास्ता तय कर सकते हैं।"

KKR के खिलाफ ले चुके हैं हैट्रिक

KKR के खिलाफ ले चुके हैं हैट्रिक

आईपीएल 2014 में तांबे ने राजस्थान राॅयल्स की तरफ से खेलते हुए एक मैच में कोलकाता के खिलाफ हैट्रिक ली थी, जिस कारण उनकी टीम 10 रन से जीत पाई। इसका जिक्र करते हुए तांबे ने कहा, "मैं उस पल को याद कर रहा हूं। मैं वास्तव में एक ही टीम के लिए खेलकर गर्व महसूस कर रहा हूं। यह मैच जीतने वाला शो था और मेरा सपना अब केकेआर के लिए एक समान मैच जीतने वाला प्रदर्शन देना होगा।" ताम्बे पीयूष चावला की कमी पूरी करेंगें जो अब चेन्नई सुपर किंग्स के साथ जुड़ गए हैं। जब उनसे पूछा गया कि वो चावला की कमी पूरी करेंगें तो इसको लेकर तांबे ने कहा कि मुझे पता था कि मैं एक बैक-अप खिलाड़ी के रूप में फिट होऊंगा। उनके पास स्लॉट में कई स्पिनर नहीं बचे हैं। मैं सिर्फ अच्छा प्रदर्शन करने के बारे में सोच हूं। मैं परेशान नहीं होना चाहता कि लोग किस बारे में बात कर रहे हैं। मैं कभी भी कुछ भी हासिल करने के लिए क्रिकेट नहीं खेलता था। मुझे यह खेल बहुत पसंद है और इसने मुझे हमेशा आगे बढ़ाया है।"

तांबे का आईपीएल में अबतक का प्रदर्शन

तांबे का आईपीएल में अबतक का प्रदर्शन

बता दें कि तांबे अबतक 33 मैच खेल चुके हैं जिस दाैरान उन्होंने 28 विकेट अपने नाम किए हैं। उन्होंने आखिरी सीजन 2016 में गुजरात लायंस के लिए खेला था, जिसमें खेले 7 मैचों में 5 विकेट हासिल किए थे। आईपीएल 2017 के लिए सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 10 लाख में खरीदा था लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन में खेलने का माैका नहीं दिया था। उन्होंने साल 2014 में राजस्थान के लिए 13 मैचों में 15 विकेट हासिल किए थे, जिसकी बदाैलत वह पर्पल कैप भी हासिल कर सके थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, December 21, 2019, 14:04 [IST]
Other articles published on Dec 21, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X