'किसी की परछाई नहीं बल्कि अपने नाम से मशहूर होना चाहती हूं', सहवाग-रिचर्डस से तुलना होने पर नाराज हुई शैफाली

shafali verma
Photo Credit: Twitter

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिये पिछले कुछ समय में सलामी बल्लेबाज शैफाली वर्मा ने अपने लिये एक अच्छा खासा नाम कमाया है। शैफाली वर्मा ने अपने विस्फोटक अंदाज से न सिर्फ महिला क्रिकेट के खेलने का अंदाज बदल दिया है बल्कि मुश्किल परिस्थितियों में भी खेल को अपनी ओर ले जाने की क्षमता है। दायें हाथ की इस महिला बल्लेबाज ने अपने निडर अंदाज से गेंदबाजों के छक्के छुड़ाने का काम किया है, फिर चाहे वो टेस्ट क्रिकेट हो या फिर टी20 क्रिकेट शैफाली वर्मा का गेंदबाजों को खेलने का अपना अंदाज है।

और पढ़ें: 2 हफ्ते में तीसरे युवा क्रिकेटर ने भारत छोड़ थामा अमेरिका का हाथ, MCL के साथ किया 3 साल का करार

शैफाली वर्मा के खेलने का यह तरीका अभी तक उनके लिये काफी कारगर साबित हुआ है और उन्होंने इससे काफी दिग्गज प्रभावित हुए हैं। शैफाली वर्मा के शानदार प्रदर्शन के चलते भारतीय टीम ने पिछले कुछ समय में कई सारी जीत हासिल की हैं और महज 17 साल की उम्र में अंतर्राष्ट्रीय टी20 क्रिकेट के नंबर 1 बल्लेबाज बन गई हैं।

और पढ़ें: अपनी बहन से की है शादी और जल्द बनने वाले हैं पिता, विश्व चैम्पियन खिलाड़ी ने किया चौंकाने वाला खुलासा

किसी की परछाई नहीं बनना चाहती

किसी की परछाई नहीं बनना चाहती

शैफाली वर्मा की विस्फोटक बल्लेबाजी स्किल्स के चलते फैन्स और क्रिकेट एक्सपर्टस अक्सर उनकी तुलना पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग या सर विवियन रिचर्डस से करते नजर आते हैं। भले ही यह खिलाड़ी खेल जगत के दिग्गजों में शुमार हैं लेकिन शैफाली वर्मा को अपनी तुलना इन खिलाड़ियों से करना बिल्कुल भी पसंद नहीं है। शैफाली वर्मा का मानना है कि वह किसी की परछाई बनकर नहीं रहना चाहती हैं बल्कि वह अपने नाम की अलग पहचान बनाना चाहती हैं। शैफाली वर्मा ने सहवाग-रिचर्डस के साथ तुलना करने को लेकर कहा कि मैं चाहती हूं कि मैं उनसे ज्यादा से ज्यादा सीख सकूं लेकिन मैं उन्हें कॉपी नहीं करना चाहती हूं।

सहवाग से तुलना होने पर बढ़ता है आत्म-विश्वास

सहवाग से तुलना होने पर बढ़ता है आत्म-विश्वास

टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बात करते हुए शैफाली ने कहा,'मैं सिर्फ अपने नाम से मशहूर होना चाहती हूं, मैं चाहती हूं कि लोग मुझे सिर्फ शैफाली के नाम से जाने। ऐसा नहीं है कि मैं दूसरे खिलाड़ियों को देखकर सीखना नहीं चाहती हूं। मैं उनसे सीखना चाहती हूं लेकिन मैं उन्हें कॉपी नहीं करना चाहती हूं। मैं किसी की परछाई नहीं बनना चाहती, हालांकि मुझे यह कहने में कोई दिक्कत नहीं है कि जब भी सहवाग से मेरी तुलना होती है तो मेरा आत्म-विश्वास बढ़ जाता है।'

ऑस्ट्रेलिया दौरे की तैयारी कर रही हैं शैफाली

ऑस्ट्रेलिया दौरे की तैयारी कर रही हैं शैफाली

गौरतलब है कि शैफाली अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपना एक नाम बनाने को लेकर बेकरार हैं और ऐसे में यह देखना काफी शानदार होगा कि उनका करियर किस तरह से निखर कर आता है। इस युवा बल्लेबाज ने भारत के लिये अब तक एक टेस्ट मैच, 3 वने मैच और 25 टी20 मैचों में शिरकत की हैं जिसमें उन्होंने 159 टेस्ट रन, 78 वनडे रन और 665 टी20 रन बना लिये हैं।

आपको बता दें कि शैफाली ने हाल ही में महिलाओं के द हंड्रेड में हिस्सा लिया था, जहां पर बर्मिंघम फीनिक्स की ओर से खेलते हुए शैफाली वर्मा ने 8 पारियों में 140 की स्ट्राइक रेट से 171 रन बनाये। हालांकि बर्मिंघम की टीम टूर्नामेंट नहीं जीत सकी लेकिन वर्मा की शानदार पारियों के चलते उनकी जमकर तारीफ हुई है। फिलहाल शैफाली ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिये कमर कस रही हैं जिसका आगाज 19 सितंबर से होना है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, August 23, 2021, 21:33 [IST]
Other articles published on Aug 23, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X