सौरव गांगुली के 49वें जन्मदिन पर आईसीसी ने शेयर की खास पोस्ट, याद की करियर की 3 बड़ी उपलब्धियां

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली आज ( 8 जुलाई) अपना 49वां जन्मदिन मना रहे हैं, दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमी उन्हें इसकी बधाई देते नजर आ रहे हैं। जहां दुनिया भर से फैन्स अपने प्रिय दादा को जन्मदिन की बधाई देते नजर आये वहीं पर खेल जगत के दिग्गज खिलाड़ी और उनके पुराने साथी सचिन तेंदुलकर, सुरेश रैना और वीवीएस लक्ष्मण जैसे दिग्गजों ने भी बधाई देने का काम किया। सौरव गांगुली को बधाई देने वाले लोगों में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल भी शामिल हो गई है जिसने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से खास पोस्ट कर उनके करियर की 3 सबसे बड़ी उपलब्धियों को शेयर किया है।

सौरव गांगुली ने अपने करियर के दौरान महज 263 पारियां खेलकर 10 हजार रन पूरे किये और सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली के बाद तीसरे ऐसे बल्लेबाजी बने जिसने सबसे तेज 10 हजार रन बनाने का काम किया। इतना ही नहीं श्रीलंका के खिलाफ 1999 विश्व कप में उनकी ओर से खेली गई 183 रनों की नाबाद पारी वनडे विश्व कप में आज भी सबसे बड़ी पारियों में से एक है। इसके अलावा सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने विदेशी सरजमीं पर 11 टेस्ट सीरीज जीती जो कि कोहली के बाद दूसरे नंबर पर काबिज हैं।

और पढ़ें: IND vs ENG: सबा करीम ने शुबमन गिल के रिप्लेसमेंट को लेकर जताई नाराजगी, जानें क्या कहा

सौरव गांगुली 11221 वनडे रनों के साथ भारत के लिये सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज हैं। सचिन तेंदुलकर के साथ उनकी ओपनिंग साझेदारियों का रिकॉर्ड आज भी पहले नंबर पर है, जिसमें इस जोड़ी ने 136 पारियां खेलकर 21 शतकीय और 23 अर्धशतकीय साझेदारियां की और 6609 रन बनाये। 1996 में सौरव गांगुली ने लॉर्ड्स में डेब्यू करते हुए 131 रनों की पारी खेली और 10वें भारतीय खिलाड़ी बने जिसने शतक के साथ अपने करियर का आगाज किया।

साल 2000 में भारतीय टीम की कप्तानी संभालने के बाद सौरव गांगुली ने भारतीय टीम को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने का काम किया और विदेशी सरजमीं पर जीत दिलाई। उनकी कप्तानी में भारत ने नेटवेस्ट ट्रॉफी जीती और आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी 2002 की विजेता भी बनी।

और पढ़ें: क्या कोरोना के चलते फिर से कैंसिल होगा टी20 विश्वकप, जानें क्या बोले सौरव गांगुली

उनकी कप्तानी में भारतीय ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया और 2003-04 की सीरीज के दौरान बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को 1-1 से ड्रॉ कराया। इसके तुरंत बाद भारत ने पाकिस्तान का दौरान किया और 15 सालों में पहली बार टेस्ट और वनडे सीरीज में 2-1 और 3-2 से जीत हासिल की। गांगुली की कप्तानी में भारत ने 2003 विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई, हालांकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में उसे हार का सामना करना पड़ा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, July 8, 2021, 19:22 [IST]
Other articles published on Jul 8, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X