क्या वेस्टइंडीज-ऑस्ट्रेलिया की तरह भारतीय टीम का भी दबदबा होगा कायम, गावस्कर ने कहा- मुश्किल है

नई दिल्ली। क्रिकेट के इतिहास की बात करें तो यह हमेशा से युगों के बीच याद किया जाता है और जब युगों की बात आती है तो ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज की टीमों का नाम जरूर आता है जिन्होंने दशकों तक अपने खेल से विश्व क्रिकेट पर राज किया। हालांकि मौजूदा समय में दोनों ही टीमें अपने इतिहास के उलट प्रदर्शन करती नजर आती हैं। वेस्टइंडीज की बात करें तो उन्होंने 1970 से लेकर 1980 के दशक के बीच बेरहमी से क्रिकेट खेला। वेस्टइंडीज ने वनडे विश्व कप के पहले 2 खिताब (1975 और 1979) को अपने नाम किया जबकि 1983 में वो उपविजेता बने।

और पढ़ें: बायोबबल की लाइफ से परेशान हुए आंद्रे रसेल, कहा- इसने मेरा मानसिक सुकून छीना

विश्व स्तर के बल्लेबाजों और डरा कर आउट करे वाले गेंदबाजों की मौजूदगी में वेस्टइंडीज ने लगभग 2 दशकों तक खेल जगत पर रात किया जिसे शायद ही दोबारा देखा जा सके। वेस्टइंडीज की ही तर्ज पर ऑस्ट्रेलिया ने भी 1990 से लेकर 2010 के दशक के बीच क्रिकेट खेला और इस दौरान 2 बार लगातार 16 टेस्ट मैच जीतने का कारनाम किया, इतना ही नहीं ऑस्ट्रेलिया ने 1999, 2003 और 2007 में लगातार 3 बार विश्व कप और 2006 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीतने का काम किया।

और पढ़ें: 'अब भारत में नहीं होते हैं क्वालिटी स्पिनर्स', मुरली कार्तिक ने गेंदबाजों के भविष्य पर जताई चिंता

भारत के पास वेस्टइंडीज वाली मानसिकता

भारत के पास वेस्टइंडीज वाली मानसिकता

वेस्टइंडीज ने 70-80 और ऑस्ट्रेलिया ने 90 और 2000 के दशक के दौरान क्रिकेट में खास दबदबा बनाकर दिखाया। विश्व क्रिकेट में मौजूदा समय में यह दबदबा शायद ही कोई टीम दिखा पाये, हालांकि भारतीय टीम इस समय इकलौती ऐसी टीम है जो इस दबदबे के करीब नजर आती है। इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डैरेन गॉफ ने कुछ समय पहले ही एक बयान में कहा था कि भारतीय टीम जिस मानसिकता से खेलती है वो 90 के दशक की ऑस्ट्रेलिया से मिलता जुलता है, हालांकि 2013 के बाद से एक भी आईसीसी ट्रॉफी न जीत पाना भारतीय क्रिकेट के लिये समस्या पैदा कर रहा है।

मुश्किल है भारत का वेस्टइंडीज की तरह दबदबा बना पाना

मुश्किल है भारत का वेस्टइंडीज की तरह दबदबा बना पाना

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम काफी टैलेंटेड है और उसने साबित किया है कि वो दुनिया की किसी भी टीम को हरा सकती है, लेकिन इसके बावजूद उन्हें वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया की श्रेणी में रखना जल्दबाजी होगी।

गावस्कर ने यूट्यूब के एक शो द एनालिस्ट पर इसका कारण बताते हुए कहा,'मैं इस बात पर कुछ भी पक्की तरह से नहीं कह सकता कि भारतीय टीम वेस्टइंडीज की तरह दबदबा बना पायेगी कि नहीं। वो 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के सभी मैच जीतते थे, जबकि ऑस्ट्रेलिया सिर्फ 4 ही जीत पाती थी। मुझे नहीं पता कि यह भारतीय टीम यह कर पायेगी या नहीं। यह टीम वाकई में काफी टैलेंट से भरी हुई है लेकिन जब आप इस पर नजर डालते हैं तो निरंतरता में थोड़ी कमी दिखती है। यही वो चीज है जो मुझे ऐसा कहने से रोक रही है। हालांकि टीम की क्षमता की बात करें तो आकाश ही सीमा है।'

ज्यादा से ज्यादा मैच जीतने में सक्षम है विराट सेना

ज्यादा से ज्यादा मैच जीतने में सक्षम है विराट सेना

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम ने पिछले कुछ सालों में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है और ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर लगातार दो बार टेस्ट सीरीज में हराया है। जबकि अपने घर पर इंग्लैंड को भी पीट कर विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में जगह हासिल की। गावस्कर का मानना है कि विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम में काफी क्षमता है और उसे वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया की तरह विश्व क्रिकेट में दबदबा बनाने का यही सही वक्त है।

उन्होंने कहा,'क्रिकेट के खेल में सभी 11 खिलाड़ियों को सफलता मिलना मुश्किल है लेकिन 4 को मिल सकती है जिसमें अगर 2 गेंदबाज और 2 बल्लेबाज निरंतर सफलता हासिल करें तो आप लगातार मैचों में जीत हासिल करते हैं और यह भारतीय टीम वो करने में पूरी तरह से सक्षम है।'

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, June 4, 2021, 18:36 [IST]
Other articles published on Jun 4, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X