धोनी को टी20 विश्वकप में लाने के पीछे किसका था दिमाग, मोंटी पनेसर ने किया बड़ा दावा

T20 World Cup
Photo Credit: BCCI/Twitter

नई दिल्ली। यूएई में खेले जा रहे टी20 विश्वकप में भारतीय टीम को अपने अभियान का आगाज रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले महामुकाबले के साथ करना है, जिससे पहले भारतीय टीम ने तैयारियों के तहत इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो वार्म अप मुकाबले खेले और दोनों में आसान जीत हासिल कर ली। भारतीय टीम इस विश्वकप में एक नये जोश के साथ उतरी है और 8 सालों से चले आ रहे आईसीसी खिताब के सूखे को मिटाने की कोशिश कर रही है। भारतीय टीम ने अपने खिताबी सूखे को मिटाने के लिये टूर्नामेंट से पहले महेंद्र सिंह धोनी को बतौर मेंटॉर टीम के प्लानिंग विभाग का हिस्सा बनाकर मास्टरस्ट्रोक लगाया है।

और पढ़ें: शाकिब अल हसन ने लगाया विकेट का चौका, इस मामले में की शाहिद अफरीदी की बराबरी

2007 से शुरू हुए टी20 विश्वकप से लेकर अब तक खेले गये हर टी20 विश्वकप में महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय टीम की कप्तानी की है और यह पहला मौका है जब वो टीम के साथ मैदान पर नहीं होंगे। हालांकि भारतीय चयनकर्ताओं ने उनके अनुभव का फायदा लेने के लिये सपोर्ट स्टाफ का हिस्सा बना दिया ताकि भारत की जीतने का प्रायिकता में इजाफा हो।

और पढ़ें: IND vs PAK: वॉर्म अप मैच के बाद जानें किसका पलड़ा भारी, हो सकता है बड़ा उलटफेर

धोनी को मेंटॉर बनाने के पीछे कोहली का हाथ

धोनी को मेंटॉर बनाने के पीछे कोहली का हाथ

इस बीच इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ने बड़ा दावा करते हुए बताया है कि महेंद्र सिंह धोनी को टी20 विश्वकप में भारतीय खेमे के साथ बतौर मेंटॉर जोड़ने का श्रेय विराट कोहली को जाता है। पनेसर का मानना है कि विराट कोहली अपने टी20 कप्तानी करियर का अंत एक बड़ी जीत के साथ करना चाहते हैं और धोनी की मदद से वो अपनी पहली आईसीसी ट्रॉफी को जीत सकते हैं, यही कारण है कि उन्होंने धोनी को टीम का हिस्सा बनाया।

टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ बात करते हुए पनेसर ने कहा,'धोनी को बतौर मेंटॉर टीम में लाने का निर्णय विराट का है, उसने यह बात जरूर कही होगी कि देखिये बतौर कप्तान यह मेरा आखिरी टी20 विश्वकप है, मैंने धोनी के अंडर खेलकर काफी कुछ सीखा है। वह एक अच्छी याद के साथ और एक अच्छे नोट पर इसे खत्म करना चाहते हैं और यही वजह है कि वो धोनी को बतौर मेंटॉर टीम में लेकर आये।'

धोनी करेंगे विराट का सपना पूरा

धोनी करेंगे विराट का सपना पूरा

उल्लेखनीय है कि धोनी ने अगस्त 2020 में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर को अलविदा कहते हुए खेल के हर प्रारूप से संन्यास का ऐलान कर दिया था। धोनी भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैंं जिनकी कप्तानी में भारत ने दो आईसीसी विश्वकप और एक चैम्पियन्स ट्रॉफी का खिताब जीता। पनेसर का मानना है कि धोनी की मौजूदगी से कोहली में विश्वास आ जायेगा कि वो बतौर कप्तान आईसीसी ट्रॉफी जीतने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं।

उन्होंने कहा,'वह अपने पहले आईसीसी ट्रॉफी के सपने को पूरा होते हुए देखने के लिये धोनी को साथ देखना चाहते थे और साथ ही धोनी इस काम के लिये कुछ भी पैसा नहीं ले रहे हैं जो कि देखकर काफी अच्छा लग रहा है। वह इस खेल के लेजेंड हैं। विराट ड्रेसिंग रूम में उनकी मौजूदगी चाहते हैं और मुझे यकीन है कि धोनी और विराट साथ मिलकर भारतीय टीम के लिये विश्वकप में कमाल कर सकते हैं।'

धोनी-कोहली की रणनीति मिटायेगी खिताब का सूखा

धोनी-कोहली की रणनीति मिटायेगी खिताब का सूखा

गौरतलब है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली के टी20 प्रारूप में टीम की कमान संभालने के बाद यह पहला टी20 विश्वकप खेला जा रहा है, जिसके बाद कप्तान कोहली ने इस प्रारूप की कप्तानी छोड़ने का ऐलान पहले ही कर दिया है। ऐसे में यह उनके लिये बतौर कप्तान पहला और आखिरी टी20 विश्वकप होने वाला है। पनेसर का मानना है कि धोनी का अनुभव विराट को वर्ल्ड टाइटल जीतने की राह बता सकता है।

उन्होंने कहा,'धोनी जानते हैं कि टूर्नामेंट कैसे जीते जाते हैं। वह विराट कोहली के ड्रेसिंग रूम से गाइडिंग फोर्स का काम करेंगे। विराट और धोनी ने साथ मिलकर भारत के लिये बहुत सारे मैच जीते हैं और वो एक दूसरे को काफी अच्छे तरीके से जानते हैं। इतना ही नहीं धोनी के लिये विराट के मन में काफी सम्मान है। धोनी जानते हैं कि बड़े मैच और टूर्नामेंट में जीत कैसे हासिल की जाती है और विराट उन रणनीतियों और गेम प्लान के लिये धोनी के दिमाग का इस्तेमाल करेंगे। वह ठीक वैसे ही भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे जैसे धोनी विश्वकप जैसे बड़े टूर्नामेंट में किया करते थे। वो दोनों साथ मिलकर गेमप्लान बनायेंगे और टीम को जीत दिलायेंगे।'

फाइनल में तय है भारतीय टीम का पहुंचना

फाइनल में तय है भारतीय टीम का पहुंचना

इस दौरान मोंटी पनेसर ने यूएई में खेले जा रहे टी20 विश्वकप में भारतीय टीम के जीतने के चांसेज पर भी बात की और कहा कि विराट सेना के पास वो सबकुछ जो उसे फाइनल में पहुंचाने का दम रखती है।

उन्होंने कहा,'भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में सबसे प्रबल दावेदार होने वाली है, वह इस टूर्नामेंट में विजेता बनने की सबसे पहली पसंद हैं। मुझे लगता है कि वो फाइनल में पक्का पहुंचेंगे। विराट बतौर कप्तान अपना पहला आईसीसी टाइटल ढूंढ रहे हैं और वो इस मौके को बिल्कुल आसानी से नहीं जाने देंगे। यह उनका टी20 प्रारूप में बतौर कप्तान आखिरी टूर्नामेंट होगा तो वो इसे आसानी से नहीं छोड़ेंगे। वह आईसीसी खिताब के लिये भूखे नजर आ रहे हैं।'

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, October 22, 2021, 1:22 [IST]
Other articles published on Oct 22, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X