ये पांच शानदार क्रिकेटर चढ़ गए थे पुलिस के हत्थे, किसी को फंसाया गया तो किसी से हुई गलती

नई दिल्लीः क्रिकेटरों को भारत में भगवान का दर्जा दिया जाता है लेकिन खिलाड़ी भी एक आम नागरिक ही होते हैं और उनसे भी कुछ गलतियां हो सकती हैं। अगर गलतियां होती हैं तो उनको भी उसी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है जो कि देश के आम नागरिकों को गुजरना पड़ता है। अगर गलतियां बड़ी है तो कानूनी कार्यवाही की जाती है। आपको ऐसे ही 5 लोकप्रिय क्रिकेटरों के नाम बताते हैं जिनको उनकी किसी ना किसी गलती के कारण गिरफ्तार किया गया।

1. सुरेश रैना-

1. सुरेश रैना-

यह बात थोड़ी हैरान करने वाली थी कि सुरेश रैना मुंबई में लॉकडाउन नियमों को तोड़ने के चलते गिरफ्तार किए गए थे। यह घटना पिछले साल के अंत की है जब सुरेश रैना मुंबई में पार्टी करने के लिए आए थे। बाएं हाथ के इस दिग्गज बल्लेबाज को तब आईपीसी की धारा 269,188, व 34 के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया था। इस घटना के बाद उनके फैंस चौक गए थे और सुरेश रैना की टीम ने एक स्टेटमेंट जारी किया था जिसके अनुसार वे मुंबई में एक शूट के लिए थे जो कि कुछ घंटे चलने वाला था और वे अपने दोस्त के यहां फटाफट डिनर के लिए भी आमंत्रित थे जिसके बाद उनको वापस दिल्ली की फ्लाइट पकड़नी थी। वह लोकल टाइमिंग और प्रोटोकॉल को लेकर जागरूक नहीं थी। टीम ने यह भी बताया कि सुरेश रैना एक जिम्मेदार नागरिक हैं और सभी तरह के नियमों का पालन करते हैं लेकिन जागरूकता ना होने के कारण वे स्थानीय प्रोटोकॉल को लेकर अनभिज्ञ थे जिसके कारण उनको काफी पछतावा है। मेरठ में पैदा हुए इस क्रिकेटर कोउसके बाद बेल पर छोड़ दिया गया था।

ICC T20 WC 2021 की मेजबानी में ओमान क्रिकेट भी बन सकता है बड़ा प्लेयर

2. वसीम अकरम-

2. वसीम अकरम-

हाल ही में अपना 55वां जन्मदिन मनाने वाले पाकिस्तान के महानतम तेज गेंदबाज वसीम अकरम भी विवादों में गुजरे हैं। वे वेस्टइंडीज में एक बीच पर गए थे। उस समय पाकिस्तान की टीम कैरेबियाई दौरे पर पहुंची ही थी। दरअसल समुद्री किनारे पर आपको कुछ नियमों का पालन करना पड़ सकता है जोकि स्थानीय कानून से तय होते हैं लेकिन वसीम अकरम के साथ उनके दोनों साथियों (वकार यूनुस व आकिब जावेद) ने ऐसा कुछ भी नहीं किया और बीच पर कचरा किया था। उन्होंने अपने बीच पर ठहराव के दौरान कई सिगरेट के पैकेट भी बिखेरे थे। हालांकि वसीम अकरम को जल्दी ही रिहा कर दिया गया क्योंकि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं था लेकिन जानकार बताते हैं अगर वैज्ञानिक तरीके से जांच की जाती तो वसीम अकरम पर चार्ज भी लग सकते थे।

3. प्रवीण कुमार

3. प्रवीण कुमार

अब बात आती है एक और तेज गेंदबाज की जो कि भारत के मेरठ जिले से ही ताल्लुक रखते हैं। हम बात कर रहे हैं स्विंग गेंदबाज प्रवीण कुमार की जिन पर अपने पड़ोसी को उसके बेटे सहित पीटने का आरोप था। प्रवीण कुमार ने मामले से पल्ला झाड़ने की कोशिश की और कहा कि वह अपने पड़ोसी के पास नहीं रहते हैं बल्कि वह तो ऐसे ही कुछ चीजें चेक करने के लिए वहां पर गए थे। प्रवीण कुमार के मुताबिक उनके खिलाफ राजनीति की जा रही थी और सच तो यह है कि उनके पड़ोसी ने उनके गले की चेन खींचने की कोशिश की थी।

प्रवीण कुमार ने पीटीआई से बात करते हुए बताया था, "यह सब झूठ है उसने मेरी चेन खींचने की कोशिश की। यह स्थानीय राजनीति है और कुछ भी नहीं है। मैं तो उसे जगह पर रहता भी नहीं। मेरे 2-3 घर है जो वहां है और पेंट का काम चल रहा था जिसको देखने के लिए मैं वहां पर गया था। विनोद कांबली एक विवादित शख्सियत रहे हैं जो कई बार अस्थिर स्वभाव के कारण जाने जाते हैं।

4. विनोद कांबली

4. विनोद कांबली

कांबली मुंबईया अंदाज के खिलाड़ी हैं जो कभी कान में बाली पहन कर बड़े ही मस्त अंदाज में बैटिंग करते थे लेकिन सचिन तेंदुलकर के साथ ने उनको कहीं अधिक चर्चाएं थी क्योंकि उनका अंतरराष्ट्रीय कैरियर लंबा नहीं चला था। कांबली और उनकी पत्नी पर 2015 में एक मामला दर्ज हुआ था जो कि उनकी घरेलू सहायिका ने दर्ज किया कराया था। घरेलू सहायिका का कहना था कि कांबली और उनकी पत्नी ने उसकी इजाजत के बिना उसको अपने घर में बंद रखा। ऐसा उन्होंने तब किया जब उसने अपने काम के पैसे इस दंपत्ति से मांगे थे।

हालांकि कांबली की पत्नी ने इस बात को सफेद झूठ बताया था और कहा था कि उनके नौकर घर में कई तरह की अवैध ड्रग्स का इस्तेमाल करते थे और बहुत छुट्टियां भी लेते थे जिसके चलते उनको नौकरी से निकाल दिया गया था। नौकरी से निकालने के बाद बदले के तौर पर घरेलू सहायिका ने यह कार्रवाई की थी। ऐसा कांबली की पत्नी का कहना था।

5. बेन स्टोक्स

5. बेन स्टोक्स

इंग्लैंड के आलराउंडर बेन स्टोक्स का मामला भी काफी चर्चित है जोकि ब्रिस्टल के एक नाइट क्लब में 2017 में हुआ था। तब बेन स्टोक्स एक आदमी के साथ हाथापाई में शामिल हो गए थे और उस पर उन्होंने काफी घूसे बरसाए थे जिसके चलते व्यक्ति को चेहरे पर कई चोटों के कारण हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा था। इस घटना के बाद काफी लोग स्तब्ध रह गए और बेन स्टोक्स को भी एक पूरी रात जेल में बिताना पड़ा। हालांकि बाद में 2 समलैंगिक लोगों ने बेन स्टोक्स के पक्ष में गवाही दी और कहा कि इस खिलाड़ी ने उनको उस व्यक्ति के अटैक से बचाया था। वे इस घटना के चश्मदीद गवाह भी थे। माना जाता है कि इंग्लैंड के एक और खिलाड़ी एलेक्स हेल्स भी इस मामले में शामिल थे और इन दोनों को ही वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथे एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले से बाहर कर दिया गया था। ऐसा पहली बार नहीं है जब बेन स्टोक्स पुलिस के मामले में पड़े क्योंकि 2012 की रात में भी उनका पुलिस से पंगा हो चुका है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, June 6, 2021, 12:29 [IST]
Other articles published on Jun 6, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X