अभी तक संन्यास नहीं लिया इन 2 बड़े भारतीय क्रिकेटरों ने, ढूंढ चुके हैं दूसरा काम

स्पोर्ट्स डेस्क (नोएडा) : भारतीय क्रिकेट टीम में माैजूदा समय खिलाड़ियों की कमी नहीं है। कोच रहे रवि शास्त्री के कार्यकाल में इतने युवाओं को अवसर मिला कि अब बीसीसीआई दो टीमें एक ही समय पर विरोधियों को खिलाफ उतार सकती हैं। वहीं जो, खराब फाॅर्म से गुजर रहे हैं, उनका करियर खतरे में पड़ रहा है, लेकिन नए खिलाड़ियों का आना भी जारी है। न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में वेंकटेश अय्यर, आवेश खान जैसे नए सितारे डेब्यू करते दिख सकते हैं। वहीं कुछ ऐसे भारतीय खिलाड़ी भी हैं जिन्होंने खूब क्रिकेट खेला, लेकिन अभी तक संन्यास नहीं लिया है। काैन हैं वो 2 बड़े खिलाड़ी, आइए जानें-

यह भी पढ़ें- IPL 2022 : वो 5 भारतीय खिलाड़ी, जिनकी लग सकती है करोड़ों में बोली

हरभजन सिंह

हरभजन सिंह

अपनी स्पिन से विरोधी बल्लेबाजों को फंसाने वाले हरभजन सिंह टीम से पूरी तहर से बाहर हैं। लेकिन बावजूद इसके उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास नहीं लिया है। हरभजन पिछले 5 सालों से टीम के लिए कोई मैच नहीं खेल पाए, लेकिन शायद उनको लगता है कि वो आईपीएल के जरिए कभी वापसी कर पाएंगे। हालांकि आईपीएल में भी उनका प्रदर्शन पहले मुताबिक खास नहीं रहता। साल 2021 में हरभजन कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले थे। उन्हें तीन मैचों में माैका दिया था, लेकिन वे एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाए थे। हरभजन के साथी युवराज सिंह संन्यास ले चुके हैं। उनके साथ खेले गाैतम गंभीर, जहीर खान, इरफान पठान, वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गज भी संन्यास ले चुके हैं, लेकिन हरभजन ने अभी तक इसको लेकर कोई फैसला नहीं लिया।

रिकी पोंटिंग हों या फिर एंड्रयू सायमंड्स या फिर क्रिस गेल हों, सभी दिग्गज उनके आगे बेबस ही साबित हुए। हरभजन ने अपने क्रिकेट करियर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 103 मैच खेले, जिसमें 417 विकेट लिए हैं। इस दाैरान उन्होंने 25 बार पांच विकेट तो पांच बार दस विकेट झटके हैं। हरभजन टेस्ट में सवार्धिक विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज हैं। वहीं उनके वनडे करियर की बात करें तो 236 मैच खेले हैं, जिसमें 269 विकेट दर्ज किए हैं। उन्होंने तीन बार 5 या इससे अधिक विकेट लिए। टी20आई में खेले 28 मैचों में उन्होंने 25 विकेट लिए हैं। 41 साल के हरभजन ने मार्च 1998 में देश के लिए टेस्ट के रूप में पहला मैच खेला था। वहीं आखिरी मैच टी20आई के रूप में 3 मार्च 2016 को खेला था। इसके बाद हरभजन कभी वापसी नहीं कर पाए, ना ही उन्होंने संन्यास लेना सही समझा।

दिनेश कार्तिक

दिनेश कार्तिक

दो साल से ज्यादा का वक्त हो गया, विकेटकीपर दिनेश कार्तिक भी भारतीय टीम से पूरी तरह से बाहर हो गए हैं। माैजूदा समय जिस तरह से नए खिलाड़ी अपने पैर पसार रहे हैं, उसे देख नहीं लगता कि अब कार्तिक को भारत के लिए कोई मैच खेलने का माैका मिलेगा। 36 साल के कार्तिक का करियर उतना ज्यादा नहीं चला, जितनी कि चलना चाहिए था। उन्होंने 2004 में डेब्यू किया था, लेकिन वे तीनों फाॅर्मेट के कुल मिलाकर 152 मैच ही खेल पाए हैं, जिसमें 26 टेस्ट, 94 वनडे तो 31 टी20आई मैच हैं। कार्तिक ने अपना आखिरी मैच जुलाई 2019 में वनडे के रूप में खेला था। यह मैच आईसीसी वनडे विश्व कप 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल के रूप में था। इस मैच में भारत को हार मिली, साथ ही यह मुकाबला कार्तिक के लिए भी आखिरी साबित हो गया।

विकेटकीपर कार्तिक ने टेस्ट में 1 शतक व 7 अर्धशतक की मदद से 25 की एवरेज के साथ 1025 रन बनाए हैं। वहीं 79 वनडे पारियों में 30.21 की एवरेज से 1752 रन बनाए, जिसमें 9 अर्धशतक शामिल रहे। कार्तिक वनडे में शतक लगाने में भी विफल रहे। वहीं 26 टी20आई पारियों में 399 रन उनके नाम दर्ज हैं। कार्तिक अभी भी आईपीएल में सक्रिय हैं। वह केकेआर के लिए खेल रहे हैं। आईपीएल 2021 में उन्होंने 5वें नंबर पर बैटिंग करते हुए 17 मैचों मैचों में 223 रन बनाए, साथ ही टीम को फाइनल तक पहुंचाने में योगदान दिया। कार्तिक को लगता है कि वे आईपीएल के जरिए राष्ट्रीय टीम में फिर से वापसी कर पाएंगे, लेकिन ऐसा होना फिलहाल असंभव है क्योंकि भारत में माैजूदा समय वैसे भी केएल राहुल, रिषभ पंत व ईशान किशन के रूप में विकेटकीपर शामिल हैं जिससे कार्तिक की जगह किसी भी कारण टीम में नहीं बनती। खैर, अब देखना है कि कार्तिक कब संन्यास लेंगे।

ढूंढ चुके हैं दूसरा काम

ढूंढ चुके हैं दूसरा काम

खास बात यह है कि हरभजन और कार्तिक नया काम भी ढूंढ चुके हैं। साथ ही उसमें जबरदस्त परफाॅर्मेंस भी दे रहे हैं। यह काम है बताैर कमेंटेटर दर्शकों का ध्यान अपनी ओर खींचना। अब ये दोनों दिग्गज कमेंट्री बाॅक्स में नजर आते हैं। मैदान पर भूमिका देने की बजाय टीवी पर आकर दर्शकों का मनोरंजन करवाते हैं। दोनों ही बड़ी बेबाकी और हंसी मजाक के साथ कमेंट्री करते हैं। भारत जब इंग्लैंड दाैरे पर गया था तो कार्तिक ने बैट और ग्लव्स छोड़कर पहली बार कमेंट्री करते हुए सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। गाैर हो कि तब यूके में सर्वश्रेष्ठ कॉमेंटेटर की रैंकिंग OLBG ने बनाई है। जिसमें उन्हें सोशल मीडिया में पॉजिटिव और निगेटिव रिमार्क के आधार पर रैंकिंग दी गई है। इस सूची में कार्तिक पहला स्थान हासिल किया था।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, November 11, 2021, 20:54 [IST]
Other articles published on Nov 11, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X