मेरा खून खौल रहा था और विकेट चाहिए था- प्रसाद ने याद किया पाक के खिलाफ सबसे बड़ा किस्सा

नई दिल्ली: 90 के दशक के उत्तरार्ध का एक किस्सा भारतीय क्रिकेट में अमर है। यह पाकिस्तान के साथ हमारी प्रतिद्वंदता का प्रतीक है, यह एक ऑइकॉनिक मोमेंट है जो उस मैच में वेंकटेश प्रसाद और आमिर सोहेल के बीच हुई गहमागहमी और फिर भारत को मिले विकेट को याद कर आज भी फैंस के रोंगटे खड़े कर देता है। यह बात है 1996 के विल्स वर्ल्ड कप की जो भारतीय उपमहाद्वीप में खेला जा रहा है भारत व पाकिस्तान के बीच नॉकआउट मुकाबला चल रहा था।

घर का भेदी लंका ढाए- 72 साल पहले जब एक ऑस्ट्रेलियन ने करवाया था ब्रैडमैन को OUTघर का भेदी लंका ढाए- 72 साल पहले जब एक ऑस्ट्रेलियन ने करवाया था ब्रैडमैन को OUT

भारत-पाक मैच का सबसे यादगार किस्सा-

भारत-पाक मैच का सबसे यादगार किस्सा-

वेंकटेश प्रसाद का इसी मैच में आमेर सोहेल को भेजा जाना भारत-पाकिस्तान क्रिकेट के इतिहास में सबसे चर्चित क्षणों में से एक है। 1996 के विश्व कप के दौरान, सोहेल ने प्रसाद को कवर पर चौके के लिए भेजने के बाद गेंदबाज पर अपनी उंगलियों से इशारा किया था कि अगली गेंद पर भी चौका मारेंगे। हालांकि, अगली गेंद पर जो हुआ, उसे याद किया जाता है कि प्रसाद ने सोहेल का स्टंप उड़ा दिया था।

भारत और पाकिस्तान 1996 विश्व कप का क्वार्टर फाइनल खेल रहे थे-

भारत और पाकिस्तान 1996 विश्व कप का क्वार्टर फाइनल खेल रहे थे-

24 साल बाद, प्रसाद ने इस घटना को याद करते हुए बताया कि कैसे वह नियमित रूप से इसे याद करते रहते हैं। भारत और पाकिस्तान 1996 विश्व कप का क्वार्टर फाइनल खेल रहे थे और जीत के लिए 288 रनों का पीछा करते हुए पाकिस्तान ने पहले विकेट के लिए 84 रनों की जोरदार शुरुआत की थी। प्रसाद ने खुलासा किया कि सोहेल ने उन्हें एक चौका लगाने के बाद उन्हें क्या कहा था।

स्वरा भास्कर ने की सनराइजर्स से माफी की मांग, सैमी ने अभिनेत्री को दिया ये जवाब

प्रसाद ने फैनकोड पर कहा, "एक भी दिन ऐसा नहीं है, जब कोई मुझसे इस बारे में बात नहीं करता हो।"

वेंकटेश प्रसाद और आमिर सोहेल में हुई गर्मागर्मी-

वेंकटेश प्रसाद और आमिर सोहेल में हुई गर्मागर्मी-

उन्होंने कहा, '' सोहेल शायद अपनी क्रीज पर वापस चले गए, लेकिन कुछ शब्दों का आदान-प्रदान हुआ और जो इशारा उन्होंने किया वो वास्तव में अच्छा नहीं था। जाहिर है, पूरे देश और दर्शक ये देख रहे थे, और निश्चित रूप से मेरा खून वाकई उबल रहा था और हमें विकेट की जरूरत थी। "

यह इतनी चर्चित घटना थी कि इसका एक YouTube वीडियो 1 मिलियन से अधिक बार देखा गया है। प्रसाद ने स्वीकार किया तब वह भाग्यशाली थे कि बिना किसी सजा के बच गए। दरअसल प्रसाद ने विकेट लेने के बाद जबरदस्त तरीके से जश्न मनाते हुए सोहेल पर छींटाकशी की थी।

सजा से बच गए थे प्रसाद-

सजा से बच गए थे प्रसाद-

"मुझे तब दंड दिया जा सकता था क्योंकि तब ICC की आचार संहिता आ गई थी; इसलिए मुझे बहुत सावधान रहना पड़ा। और शेफर्ड अंपायर थे, इसलिए अजहर, श्रीनाथ और सचिन, हर कोई मेरे बचाव में आया, अन्यथा, मुझे शायद दंडित किया जाता या प्रतिबंध लगाया जा सकता था, "पूर्व तेज गेंदबाज ने जोड़ा।

आपको बता दें कि भारत यह मुकाबला जीतकर सेमीफाइनल में पहुंच गया था जहां उसको श्रीलंका के हाथों दुर्भाग्य पूर्ण तरीके से हार का सामना कर विश्व कप से बाहर होना पड़ा। श्रीलंका पहली बार विश्व विजेता इसी प्रतियोगिता में बना था जब उसने फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Friday, June 12, 2020, 17:08 [IST]
Other articles published on Jun 12, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X