जब ब्रैडमैन ने सचिन को देखकर कहा-अरे ये तो मेरा क्लोन है, मेरी तरह खेलता है-VIDEO

When Don Bradman said after watching Sachin Tendulkar batting that he is my clone

नई दिल्ली: आज यानी 25 फरवरी के दिन इस बात को पूरे 19 साल गुजर गए हैं जब क्रिकेट के सबसे महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रेडमैन का निधन हुआ था। शायद ऐसा बल्लेबाज अब दोबारा कभी नहीं हो सकता और पहले भी नहीं हुआ। डॉन अपनी तरह की इकलौती खेल हस्ती हैं जिन्होंने किसी खास खेल में इतना बड़ा मुकाम पाया है।

ब्रेडमैन 25 फरवरी 2001 के दिन 92 साल की उम्र के दौरान न्यूमोनिया से जूझते हुए दुनिया से विदा ले चुके थे। ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स, कोटामुंद्रा में जन्मे इस करिश्माई बल्लेबाज ने एक के बाद एक रिकॉर्ड को ऐसे तोड़ा जैसे कोई बच्चे का खेल हो। उनमें से कुछ रिकॉर्ड तो अभी तक बने हुए हैं।

सचिन को बैटिंग करते देख आती थी खुद की याद-

सचिन को बैटिंग करते देख आती थी खुद की याद-

ब्रेडमैन ने जब क्रिकेट से विदाई ली तो उनके नाम 52 टेस्ट मैचों में 29 शतक थे। लेकिन एक बल्लेबाज ऐसा भी जिसमें ब्रेडमैन को अपनी झलक दिखाई दी और यह बल्लेबाज और कोई नहीं बल्कि भारत के महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर थे। सचिन को 90 के दशक में बल्लेबाजी करते हुए देखकर ब्रेडमैन काफी खुश थे और उन्होंने कहा था कि सचिन की बैटिंग को देखकर उनको अपनी याद आ जाती है। इतना ही नहीं ब्रेडमैन ने सचिन को अपना क्लोन भी बताया था।

WT20 WC: बांग्लादेशी खिलाड़ी के आंखों के काजल ने लूटी सोशल मीडिया की महफिल

सचिन ब्रैडमैन को रखते हैं इस वजह से याद

सचिन ब्रैडमैन को रखते हैं इस वजह से याद

इतना ही नहीं सचिन तेंदुलकर भी उन शख्स में शामिल हैं जो ब्रेडमैन को करीब से जान पाए थे। सचिन कहते हैं कि कई लोग ब्रैडमैन को उनकी बल्लेबाज क्षमता के कारण ही जानते हैं लेकिन ये उनका दयालु और मजाकिया स्वभाव था जिसके लिए मैं उनको याद रखता हूं। सचिन और ब्रेडमैन की मुलाकात 1998 में हुई थी। उस मुलाकात के समय ब्रैडमैन ने सचिन के लिए कहा था- यह छोटा सा बच्चा कितना प्यारा है।

कुछ रिकॉर्ड जो कभी नहीं टूट सकते-

कुछ रिकॉर्ड जो कभी नहीं टूट सकते-

ब्रेडमैन के कुछ रिकॉर्ड आज भी ऐसे हैं जो कभी टूट नहीं पाएंगे। जिनमें उनका 99.94 का टेस्ट औसत सबसे ऊपर शामिल है। ब्रैडमैन ने इंग्लैंड के खिलाफ 37 टेस्ट में ही 5028 रन बनाए थे जो किसी भी बल्लेबाज द्वारा किसी एक विपक्षी के खिलाफ बनाए अभी तक के सबसे ज्यादा स्कोर है। इसमें इंग्लैंड के खिलाफ बनाए 19 शतक भी शामिल हैं जो फिर से किसी बल्लेबाज द्वारा एक टीम के खिलाफ बनाए सर्वाधिक शतक हैं। इतना ही नहीं उनके नाम सबसे कम पारियों (56) में पांच हजार टेस्ट रन करने का रिकॉर्ड है।

जबरदस्त जीत

जबरदस्त जीत

सर डॉन ब्रैडमैन की कप्तानी में 1936-37 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड से 0-2 से पिछड़ने के बाद 3-2 से सीरीज में मात दी थती। ब्रैडमैन ने अपना पहला शतक महज 12 वर्ष की आयु में लगाया था, इस मैच में उन्होंने कुल 125 रन बनाए थे। अपना पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ ब्रैडमैन ने 30 नवंबर 1928 में खेला था, जबकि आखिरी मैच 18 अगस्त 1948 को इंग्लैंड के खिलाफ ही खेला था।

सचिन-ब्रैडमैन की तुलना का वीडियो यहां देखें

महज 52 टेस्ट मैच खेले वाले ब्रैडमैन ने अपने कैरियर में 29 शतक लगाए जबकि 13 अर्धशतक लगाए और कुल 6996 रन बनाए। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 334 रहा है। इस दौरान 10 इनिग में ब्रैडमैन नाबाद लौटे। यही नहीं ब्रैडमैन ने अपने करियर में 9 दोहरे शतक लगाए , जबकि तीन तिहरे शतक लगाए। गौर करने वाली बात यह है कि एक बाार वह तिहरा शतक लगाकर नाबाद भी लौटे हैं। यही नहीं पांच बार शतक लगाने के दौरान भी वह नाबाद लौटे हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Tuesday, February 25, 2020, 14:42 [IST]
Other articles published on Feb 25, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more