WTC-2 का पॉइंट सिस्टम क्या होगा? कौन-कौन सी टीमों के साथ होगा भारत का मुकाबला

ICC likley to make big changes in WTC points system for second Phase | Oneindia Sports

नई दिल्लीः भारत विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) साइकिल के दूसरे संस्करण में न्यूजीलैंड, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी करेगा और इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश की यात्रा करेगा। हाल में ही पहला एडिशन खत्म हुआ है जिसका विजेता न्यूजीलैंड है। अब अगला संस्करण शुरू होगा जो अगस्त से इंग्लैंड में विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम की पांच मैचों की श्रृंखला के साथ शुरू होगा।

पिछले चक्र की तरह, WTC 2 भी इस अगस्त से शुरू होगा और जून 2023 में फाइनल होने के साथ लगभग दो वर्षों तक जारी रहेगा, जिसके लिए अभी कोई जगह निर्धारित की जानी बाकी है।

भारत-इंग्लैंड श्रृंखला और इस वर्ष के अंत में एशेज ही केवल पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला है, वर्ना बाकी जगह दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला का प्रभुत्व है।

ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट में कहा गया है, "2022 में ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा, डब्ल्यूटीसी-2 में एकमात्र चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला है। इसके अलावा, सात तीन टेस्ट श्रृंखलाएं और 13 श्रृंखलाएं ऐसी हैं जिनमें दो टेस्ट शामिल हैं।"

पिछले डब्ल्यूटीसी चक्र से क्या बदला है?

पिछले डब्ल्यूटीसी चक्र से क्या बदला है?

पहले एडिशन में आईसीसी ने नियम बनाया था कि हर सीरीज के हिसाब से 120 अंक तय किए जाएंगे। चाहे वह दो मैचों की सीरीज हो या फिर 5 मैचों की। दो मैचों की सीरीज का एक मैच फिर 60 अंकों का होता था और पांच मैचों की सीरीज का एक मैच केवल 24 अंकों का। इसने भेदभाव पैदा किया और अंक प्रणाली मजाक बनकर रह गई। न्यूजीलैंड की टीम 90 प्रतिशत सीरीज केवल दो ही मैचों की खेलती है जबकि इंग्लैंड जैसी टीम बड़ी-बडी सीरीज खेलने के लिए जानी जाती है। ऐसे में एक टीम को फायदा और दूसरी को नुकसान होना ही था।

अब डब्ल्यूटीसी 2 में, टेस्ट मैच जीतने वाली टीमों को एक मैच जीतने पर 12 अंक दिए जाएंगे। एक ड्रा पर 4 अंक मिलेंगे जबकि एक टाई टेस्ट मैच दोनों टीमों को 6 अंक मिलेंगे।

BCCI ने खेल रत्न अवॉर्ड के लिए मिताली राज और रविचंद्रन अश्विन के नाम की सिफारिश की

POP के तहत तय होगी टीम की स्टैंडिंग-

POP के तहत तय होगी टीम की स्टैंडिंग-

स्टैंडिंग का निर्धारण अंकों के प्रतिशत (पीओपी) प्रणाली द्वारा किया जाएगा। यह नियम आईसीसी द्वारा तब लाया गया था जब महामारी ने पिछले डब्ल्यूटीसी चक्र में कुछ श्रृंखलाओं को स्थगित कर दिया था, जिससे अंक प्रणाली में काफी दिक्कत पैदा हो गई थी। लेकिन इसमें भी एक छोटा सा बदलाव है। पिछले चक्र में, पीओपी की गणना श्रृंखला की संख्या को आधार मानकर की जाती थी।

नई प्रणाली में, पीओपी की गणना मैचों की संख्या को आधार बनाकर की जाएगी। डब्ल्यूटीसी 2 में इंग्लैंड के 21 टेस्ट में खेलने की उम्मीद है, जिसका अर्थ है कि अगर वे सभी जीत जाते हैं तो वे 252 अंक अर्जित कर सकते हैं। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं, तो उनके पीओपी की गणना 252 संख्या के प्रतिशत के आधार पर की जाएगी।

कौन सी टीम खेलेगी कितने टेस्ट?

कौन सी टीम खेलेगी कितने टेस्ट?

लगभग दो वर्षों के अगस्त-जून चक्र के अलावा, प्रति टीम श्रृंखला की संख्या नौ टेस्ट खेलने वाले देशों की 6 ही रहेगी। यह सीरीज आईसीसी के फ्यूचर टूर प्रोग्राम्स (एफटीपी) के अनुसार खेली जाएगी।

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले डब्ल्यूटीसी चक्र की तरह, इंग्लैंड को डब्ल्यूटीसी 2 में सबसे अधिक मैच खेलने है, इसके बाद भारत (19 टेस्ट), ऑस्ट्रेलिया (18) और दक्षिण अफ्रीका (15) का स्थान है। बांग्लादेश केवल 12 टेस्ट खेलेगा। वर्तमान डब्ल्यूटीसी विजेता, न्यूजीलैंड हमेशा की तरह ज्यादा टेस्ट खेलने से इस बार भी बचेगा और कीवियों के केवल 13 टेस्ट होंगे, जबकि वेस्टइंडीज और श्रीलंका व पाकिस्तान को 14 टेस्ट खेलने हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, June 30, 2021, 12:56 [IST]
Other articles published on Jun 30, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X