WTC Final : रविंद्र जडेजा हासिल करेंगे बड़ी उपलब्धि, चाहिए सिर्फ 46 रन

नई दिल्ली। आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले को देखने के लिए क्रिकेट फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। दो साल के चक्र के बाद आखिर तय हुआ कि काैन दो टीमें खिताब के लिए भिड़ेंगी। भारत के लिए न्यूजीलैंड को चुनाैती देना आसान नहीं रहेगा, क्योंकि कीवी बल्लेबाज हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से जीत दर्ज कर आत्मविश्वास में है। लेकिन फैंस की नजरें उन भारतीयों पर रहेंगी जो किसी भी मोड़ पर मैच का रूख बदलने में दम रखते हैं। उनमें से एक हैं- ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा। डब्ल्यूटीसी फाइनल मुकाबला जडेजा के लिए खास रहने वाला है क्योंकि उनके पास एक बड़ी उपलब्धि हासिल करने का माैका है।

WTC Final : कितनी भाषाओं में दिखेगा LIVE मैच, क्या है इनामी राशि, ये रही पूरी जानकारीWTC Final : कितनी भाषाओं में दिखेगा LIVE मैच, क्या है इनामी राशि, ये रही पूरी जानकारी

चाहिए सिर्फ 46 रन

चाहिए सिर्फ 46 रन

जहां जडेजा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश कर रहे होंगे, वहीं ऑलराउंडर एक प्रभावशाली उपलब्धि हासिल करने के कगार पर है। दरअसल, जडेजा के टेस्ट में 1954 रन और 220 विकेट हैं, जिसका मतलब है कि वह 2000 से अधिक रन बनाने और प्रारूप में 200 से अधिक विकेट लेने वाले कुछ भारतीय क्रिकेटरों में से एक बनने से केवल 46 रन दूर हैं। वास्तव में, जडेजा के वहां पहुंचने के बाद, वह ऐसा करने वाले केवल पांचवें भारतीय क्रिकेटर बन जाएंगे और इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए डब्ल्यूटीसी के फाइनल मुकाबले से बेहतर अवसर क्या हो सकता है।

जो क्रिकेट जगत में हुआ खूब बदनाम, उसी के हक में बोले सचिन तेंदुलकर

कम मैचों में मुकाम हासिल करने का है माैका

कम मैचों में मुकाम हासिल करने का है माैका

46 रन बनाने के बाद जडेजा एक खास सूची में शामिल हो जाएंगे और अनिल कुंबले, कपिल देव, हरभजन सिंह और आर अश्विन के साथ होंगे। अगर जडेजा साउथेम्प्टन टेस्ट में ही इस मुकाम तक पहुंच जाते हैं तो वह इयान बॉथम (42), इमरान खान (50), कपिल (50) और अश्विन (51 टेस्ट) के बाद सबसे कम मैचों में यह उपलब्धि हासिल करने वाले चौथे गेंदबाज बन जाएंगे। रिचर्ड हेडली ने 54 टेस्ट, शॉन पोलक ने 56 और न्यूजीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर क्रिस केर्न्स ने 58 टेस्ट मैचों में यह मुकाम हासिल किया है।

भारत के सबसे मूल्यवान खिलाड़ी बन गए हैं जडेजा

भारत के सबसे मूल्यवान खिलाड़ी बन गए हैं जडेजा

ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा शायद सभी प्रारूपों में भारत के सबसे बेहतर क्रिकेटर हैं। उनके पास ना सिर्फ गेंद से कमाल करने की बल्कि मुश्किल समय रन बटोरने की भी क्षमता है। पिछले तीन वर्षों में, जडेजा का टेस्ट में बल्ले से औसत 36.19 तक पहुंचा है। तीन साल पहले भारत के इंग्लैंड दौरे से ओवल में अंतिम टेस्ट मैच के बाद से जडेजा ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वह एक साझेदारी तोड़ने वाले यकीनन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डर हैं। जडेजा न केवल भारत के सबसे मूल्यवान खिलाड़ी बन गए हैं, बल्कि भारत की इकाई का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं। 2019 विश्व कप का सेमीफाइनल में जब भारत और न्यूजीलैंड की टक्कर हुई थी तो जडेजा ने शानदार अर्धशतक के साथ बहादुरी से लड़ाई लड़ी, लेकिन यह भारत को मैच को बचाने के लिए पर्याप्त नहीं था।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, June 16, 2021, 16:56 [IST]
Other articles published on Jun 16, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X