WTC: फिर अपना ही गेम खेलते आउट हुए पंत, ये सही है या गलत? कोहली ने बताई अपनी सोच

Virat Kohli on Pant Flop show in WTC Final, 'Don't want Pant to lose his positivity'| वनइंडिया हिंदी

नई दिल्लीः न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में हारने के बाद, भारत के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि उनका टीम नहीं चाहती थी कि विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत अपने खेल के स्टाइल में कोई बदलाव करें। कोहली का कमेंट तब आया जब भारत बुधवार को यहां एजेस बाउल में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ आठ विकेट से हार गया।

कोहली ने ऋषभ पंत के स्टाइल पर क्या कहा-

कोहली ने ऋषभ पंत के स्टाइल पर क्या कहा-

कोहली ने एक आभासी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "देखिए, जब भी मौका मिलता है, ऋषभ खुद को दर्शाने वाले खिलाड़ी होते हैं। जब चीजें सही नहीं जाती हैं, तो आप कह सकते हैं कि यह फैसले की कमी थी, लेकिन हम नहीं चाहते कि वह टीम के लिए स्थिति बदलने में अपनी सकारात्मकता खो दें, यही उनकी पहचान हैं।

"हम निश्चित रूप से उस तरह से खेलने के लिए उसका समर्थन करना जारी रखेंगे और विपक्ष पर दबाव बनाने के तरीके ढूंढेंगे और रन बनाने के तरीके खोजेंगे।"

WTC: न्यूजीलैंड पहली बार घर ले जाएगा टेस्ट गदा, विजेता के तौर पर मिले 1.6 मिलियन डॉलर

हम दखल नहीं देंगे, पंत को खुद समझना होगा- कोहली

हम दखल नहीं देंगे, पंत को खुद समझना होगा- कोहली

उन्होंने पंत के बारे में बताते हुए कहा कि, 'हम इसके बारे में बहुत चिंतित नहीं हैं। मुझे लगता है कि यह उसके ऊपर है कि वह इसको कैसे समझता है, क्या यह निर्णय की त्रुटि थी या फिर आगे इनको सुधारें क्योंकि उनका भारतीय टीम के साथ एक लंबा करियर है, और वे निश्चित रूप से ऐसे खिलाड़ी हैं जो भविष्य में लगातार कई मौकों पर भारत के लिए मैच बनाने वाले खिलाड़ी हो सकते हैं।"

केन विलियमसन और रॉस टेलर ने क्रमशः 52 और 47 रनों की नाबाद पारी खेली, क्योंकि न्यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से हराकर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का पहला संस्करण जीता। इससे पहले, टिम साउदी ने चार विकेट झटके और भारत रिजर्व डे पर दूसरी पारी में 170 रन पर ढेर हो गया। फिर न्यूजीलैंड को खिताब जीतने के लिए न्यूनतम 53 ओवर में 139 रन बनाने होंगे। पंत भारत के लिए शीर्ष स्कोरर थे क्योंकि उन्होंने 41 रनों की पारी खेली थी।

खेल जागरुकता हासिल करने पर जोर दिया-

खेल जागरुकता हासिल करने पर जोर दिया-

कोहली ने कहा कि, 'हमें निश्चित रूप से रन बनाने के तरीके को समझने के मामले में बेहतर योजनाओं पर काम करने की जरूरत है। हमें खेल की गति के साथ तालमेल बिठाना होगा और खेल को बहुत ज्यादा दूर नहीं जाने देना होगा। मुझे नहीं लगता कि कोई तकनीकी दिक्कत है। लेकिन मुझे लगता है कि यह खेल जागरूकता और थोड़ा अधिक बहादुर होने के बारे में है ताकि विपक्षी गेंदबाजों को ऐसे स्विंग होने वाले हालातों में अधिक हावी ना होने दिया जाए।

भारत अब इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में भिड़ेगा। कोहली ने कहा कि उनकी टीम सीरीज से पहले प्रथम श्रेणी मैच चाहती थी, लेकिन उन्हें ऐसा नहीं दिया गया।

हालांकि उन्होंने माना की भारत के पास पहले टेस्ट के लिए तैयार होने के लिए पर्याप्त समय होगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, June 24, 2021, 13:01 [IST]
Other articles published on Jun 24, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X