ISL 2021: ओडिशा के खिलाफ मुकाबले में फिर से जीत के ट्रैक पर लौटना चाहेगी चेन्नइयन FC

नई दिल्लीः पिछले मैच में मिली दिल तोड़ देने वाली हार के बाद चेन्नइयन एफसी और ओड़िसा एफसी शनिवार को वापसी करने के इरादे से वास्को डे गामा स्थित तिलक मैदान स्टेडियम में उतरेगी, जब ये दोनों टीमें हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) 2021-22 में भिड़ेगी।

मुंबई सिटी एफसी के खिलाफ पिछले मैच में मिली हार ने चेन्नइयन के अपराजित रहने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया था। विदेशी कोच बांदोविक की देखरेख में उतरी चेन्नई की यह टीम पांच मैचों में आठ अंक जुटाकर तालिका में पांचवें स्थान पर है और शनिवार को जीत मिलने पर वो तीसरे स्थान पर आ जाएगी।

लीग में अब तक चेन्नइयन का डिफेंसिव रिकॉर्ड श्रेष्ठ रहा है लेकिन वो गोल करने के लिए संघर्ष करती नजर आई है। यही वो कमी है, जिस पर मोंटेनेग्रो के कोच बांदोविक को काम करना होगा। वैसे, चेन्नइयन ने गोलपोस्ट की तरफ बहुत से शॉट्स बनाए हैं लेकिन वे उनको गोलजाल तक पहुंचा सके हैं।

SA जाते हुए दिखा विराट का मजाकिया अदांज, ईशांत बोले- सुबह-सुबह ये सब मत करSA जाते हुए दिखा विराट का मजाकिया अदांज, ईशांत बोले- सुबह-सुबह ये सब मत कर

दूसरी ओर, ओड़िसा एफसी ने गोल के अवसर कम जरूर बनाए हैं लेकिन उनमें से ज्यादातर को भुनाया है। अच्छी शूटिंग तकनीक वाले अरिदाई कैबरेरा, जावी हर्नांडेज जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी टीम के लिए मददगार रही है।

नए कोच बांदोविक की देखरेख में तैयार किए गए चेन्नइयन के रक्षात्मक सेटअप में सर्बियाई खिलाड़ी स्लावको दाम्जेनोविक डिफेंसिव लीडर के रूप में उभरकर सामने आए हैं। 29वर्षीय डिफेंडर हवाई झड़प की स्थितियों में 1.89 मीटर की लंबाई का भरपूर लाभ उठाता है। इगोर एंगुलो, बार्थोलोमेव ओग्बेचे और रॉय कृष्णा जैसे फॉरवर्ड्स को दाम्जेनोविक के खिलाफ द्वंद करने मुश्किलें आई, क्योंकि सर्बियाई डिफेंडर की ताकत और रक्षण करने की क्षमता ने अपने विपक्षियों को दबाकर रखा।

कोच बांदोविक ने कहा, "पिछले दो मैचों में हमने बहुत अवसर बनाए। यह समय की बात है कि हम अपने गोल करेंगे। लेकिन हमने अपनी डिफेंस पर भी ध्यान रखना होगा। हमें संतुलन की जरूरत है। जहां तक हमलावर मोर्चे की बात है तो मेरा मानना है कि हम प्रभावी ढंग से आगे बढ़ेगे। हमारा लक्ष्य एकदम साफ है कि हर मैच से तीन अंक हासिल करना है।"

दूसरी ओर, ओड़िसा, चेन्नइयन से एक स्थान ऊपर चौथे पायदान पर है। पिछले सीजन में फिसड्डी रहने वाली इस टीम ने इस बार शानदार शुरुआत की है। लेकिन जमशेदपुर एफसी से 0-4 की मिली करारी शिकस्त ने उसकी रक्षात्मक कमियों को उजागर किया है।

कलिंगा वारियर्स 20 हीरो आईएसएल मैचों में 44 गोल खाने के बाद खराब डिफेंसिव रिकॉर्ड के साथ सीजन 20-21 में फिसड्डी रहे थे। नए स्पेनिश कोच किको रामिरेज की देखरेख में उतरने के बाद इस टीम में थोड़ा सा सुधार हुआ है। लेकिन जमशेदपुर जैसे अच्छे हमलावरों के खिलाफ उसके रक्षण की पोल खुल गई।

रामरेज ने कहा, "पिछली हार के बाद मैंने अपने खिलाड़ियों से केवल यही कहूंगा कि हमारे पास चीजें बदलने और जीत के लिए नए अवसर हैं। हमें अपनी गलतियों को सुधारने की जरूरत है और समुचित उपायों को मैदान पर लागू करना होगा।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, December 17, 2021, 16:50 [IST]
Other articles published on Dec 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X