जोकोविच के लिए जीतना था मुश्किल, लेकिन इस बच्चे ने मैच के दाैरान दी कोचिंग

नई दिल्ली। नोवाक जोकोविच ने रविवार को पेरिस के रोलैंड गैरोस में फ्रेंच ओपन 2021 पुरुष एकल फाइनल में 5वीं वरीयता प्राप्त स्टेफानोस सितसिपास के खिलाफ 2 सेट से वापसी करने के बाद अपना 19 वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीता। जोकोविच ने 6-7 (6), 2-6, 6-3, 6-2, 6-4 से बाजी मारी। हालांकि जोकोविच की जीत में एक बच्चे की अहम भूमिका रही जिसका खुलासा उन्होंने मैच के बाद खुद किया। यही नहीं, जोकोविच ने खुश होकर बच्चे को अपना रैकेट भी गिफ्ट के ताैर पर साैंप दिया।

विंबलडन 2021 में, सर्बियाई ऐस के पास रोजर फेडरर और राफेल नडाल की 20 ग्रैंड स्लैम जीत की बराबरी करने का मौका होगा। नोवाक जोकोविच के लिए यह उपलब्धि हासिल करना संभव नहीं हो सकता था, अगर वह लड़का स्टैंड में उन्हें प्रोत्साहित नहीं करता। प्रेस कॉन्फ्रेंस में 34 वर्षीय जोकोविच ने अपने रैकेट को प्रशंसक को सौंपने की वजह का खुलासा किया है।

डेविड वार्नर बोले- इन दो भारतीय स्पिनरों से परेशान हो सकते हैं न्यूजीलैंड के बल्लेबाजडेविड वार्नर बोले- इन दो भारतीय स्पिनरों से परेशान हो सकते हैं न्यूजीलैंड के बल्लेबाज

जोकोविच ने कहा, "वह मेरे कान में मूल रूप से पूरे मैच में था, खासकर जब मैं दो-सेट-टू-लव डाउन था। वह मुझे प्रोत्साहित कर रहा था। वह वास्तव में मुझे रणनीति भी दे रहा था। वह ऐसा था, 'अपनी सर्विस पकड़ो, पहली गेंद आसान करो, फिर अटैक करो, उसके बैकहैंड पर जाओ। वह सचमुच मुझे कोचिंग दे रहा था। मुझे वह बहुत प्यारा, बहुत अच्छा लगा। इसलिए मुझे लगा कि मैच के बाद सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति को रैकेट देना है।"जोकोविच ने कहा, "मेरे साथ बने रहने और मेरा समर्थन करने के लिए यह मेरा आभार था।"

उस समय मैं शतक बनाना चाहता था, तब पिता भी मुझसे निराश थे : शुबमन उस समय मैं शतक बनाना चाहता था, तब पिता भी मुझसे निराश थे : शुबमन

विश्व नंबर 1 जोकोविच ने प्रतिकूलताओं पर काबू पाने के बाद अपना दूसरा फ्रेंच ओपन खिताब जीता, जो दर्शाता है कि वह पिछले कुछ वर्षों में खेल में क्या जोड़ पाए हैं। कभी न हारने वाला रवैया चमक गया क्योंकि उन्होंने 3 दिनों की अवधि में दो आश्चर्यजनक जीत हासिल की।

जोकोविच ने जीत के बाद कहा, "यह एक चमकने वाला माहौल था। मैं अपने कोच और अपने फिजियो को धन्यवाद देना चाहता हूं, जो इस सफर में मेरे साथ रहे हैं। मैंने दो महान चैंपियन के खिलाफ पिछले 48 घंटों में लगभग नौ घंटे खेले हैं, पिछले तीन दिनों में यह वास्तव में शारीरिक रूप से कठिन था, लेकिन मुझे अपनी क्षमताओं पर भरोसा था और मुझे पता था कि मैं यह कर सकता हूं।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Read more about: novak djokovic tennis
Story first published: Monday, June 14, 2021, 9:43 [IST]
Other articles published on Jun 14, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X