Tokyo Olympics में इतिहास रचने की कगार पर हैं सानिया मिर्जा, ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला बनेंगी

नई दिल्ली। भारतीय महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा इस समय लंदन में टेनिस कोर्ट पर वापसी कर अगले महीने से शुरू होने वाले टोक्यो ओलंपिक्स खेलों की तैयारी कर रही हैं। हालांकि इस ओलंपिक में मैदान पर कदम रखते ही सानिया मिर्जा बड़ा इतिहास रचने का काम करेंगी और 4 ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली महिला बनेंगी। ओलंपिक्स की तैयारियों के लिये पहुंची सानिया मिर्जा ने इस पर बात करते हुए बताया कि वह कब तक ऐसे खेलना जारी रखेंगी। संन्यास के बारे में बात करते हुए सानिया मिर्जा ने कहा कि वो इस बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचती हैं कि वो कब तक खेलना जारी रखेंगी।

उन्होंने कहा,' मेरा अब तक का करियर काफी शानदार रहा है और यह बस खुद में विश्वास रखने की बात है। मैं अभी अपने उम्र के तीसरे दशक में हूं और इस बारे में बिल्कुल नहीं सोचती कि कब तक खेलना जारी रखूंगी। मैं एक बार में एक दिन पर ध्यान देती हूं और भविष्य को लेकर ज्यादा विचार नहीं करती।'

और पढ़ें: सजन प्रकाश ने रचा इतिहास, टोक्यो ओलंपिक में क्वालिफाई करने वाले पहले भारतीय तैराक बनें

उल्लेखनीय है कि सानिया मिर्जा ने 2018 में अपने बेटे इजहान को जन्म देने के बाद पिछले साल जनवरी में जीत के साथ वापसी की थी। सानिया मिर्जा ने होबार्ट इंटरनेशनल डब्लूटीए टूर्नामेंट जीता था और अब विंबलडन और ओलंपिक्स का हिस्सा बनने को तैयार हैं। सानिया मिर्जा इस हफ्ते ईस्टबॉर्न में डब्लूटीए इवेंट के साथ वापसी करने को तैयार हैं। अपने पिछले ओलंपिक अनुभव के बारे में बात करते हुए सानिया मिर्जा ने 2016 के रियो ओलंपिक्स में मिक्स्ड डबल्स इवेंट में रोहन बोपन्ना के साथ चौथे स्थान हासिल करने को करियर का सबसे खराब अनुभव बताया।

उन्होंने कहा,'मेडल के इतने करीब पहुंचकर उसे हासिल न कर पाना मेरे जीवन का सबसे निराशाजनक पल था। मुझे अब ओलंपिक्स में वापसी करने का इंतजार है, ताकि मैं भारत का प्रतिनिधित्व कर सकूं। मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करने में काफी गर्व महसूस होता है फिर वो चाहे किसी भी स्तर पर हो। मुझे बताया गया है कि जब मैं इस बार ओलंपिक में खेलने उतरूंगी तो सबसे ज्यादा ओलंपिक खेलने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन जाऊंगी।'

और पढ़ें: WTC फाइनल जीतने के बाद कीवी टीम को पुलिस ने एयरपोर्ट पर रोका, पासपोर्ट जब्त कर की खास डिमांड

गौरतलब है कि सानिया मिर्जा जब इस बार ओलंपिक्स का हिस्सा बनने पहुंचेंगी तो विश्व रैंकिंग में 9वीं रैंकिंग के साथ उतरेंगी। सानिया मिर्जा ने साल 2008 में बीजिंग ओलंपिक के दौरान सुनीता राव के साथ पहली बार हिस्सा लिया था, तो 2012 के लंदन ओलंपिक्स में रश्मि चक्रवर्ती और 2016 के रियो ओलंपिक्स में प्रार्थना थोंबरे के साथ जोड़ी बनाकर उतरने का काम किया था। आपको बता दें कि वह इस साल ओलंपिक में अंकिता रैना के साथ खेलती नजर आयेंगी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, June 26, 2021, 22:51 [IST]
Other articles published on Jun 26, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X