BCCI की कॉस्ट कटिंग पॉलिसी के तहत बदला यह बड़ा नियम, ऐसे बचेगा पैसा

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) में काफी कुछ बदलता हुआ देखने को मिला है, खासतौर से जबसे बीसीसीआई के नये अध्यक्ष के रूप में सौरव गांगुली और सचिव के रूप में जय शाह ने कार्यभार संभाला है। हाल ही में बीसीसीआई ने अपने खर्चों पर लगाम लगाने और बचत को बढ़ाने के लिये दुनिया के सबसे अमीर बोर्ड ने आईपीएल में टीमो में मिलने वाली इनामी राशि को घटाने का ऐलान किया था और फैसला किया था कि 2019 के मुकाबले 2020 में आयोजित होने वाले आईपीएल टूर्नामेंट की इनाम की राशि में 50 फीसदी की कटौती की जायेगी।

20 साल बाद हरभजन सिंह का खुलासा, सचिन तेंदुलकर की वजह से मिस हुई थी द्रविड़ लक्ष्मण की ऐतिहासिक पारी

हालांकि इसके बाद सभी फ्रैंचाइजी टीमों ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर इस कदम पर अपनी नाराजगी दर्ज कराई थी लेकिन बोर्ड अपने रुख पर जस का तस कायम है। इस बीच बीसीसीआई ने अपनी कॉस्ट कटिंग पॉलिसी के तहत एक और फैसला लिया है जिसके तहत अब वह अपने अधिकारियों की हवाई यात्राओं के खर्चे पर कैंची चलाने में जुटा है।

'बिना भारत-पाकिस्तान मैच के बेकार है टूर्नामेंट', वकार यूनिस ने टेस्ट चैम्पियनशिप पर कही बड़ी बात

बीसीसीआई ने हवाई उड़ान के नियम मे किया बदलाव

बीसीसीआई ने हवाई उड़ान के नियम मे किया बदलाव

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का मानना है कि दुनिया भर में जारी आर्थिक मंदी के असर को देखते हुए अगर बोर्ड अपने खर्चों को सामित करने की कोशिश कर तो वह इसके दुष्प्रभावों से बच सकता है। एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक बीसीसीआई ने अपने लगभग सभी अधिकारियों की घरेलू उड़ान को बिजनेस क्लास की बजाय इकॉनमी क्लास में सफर करना होगा।

बीसीसीआई के इस नये नियम के तहत अब सिर्फ सीनियर और जूनियर टीम के चीफ सिलेक्टर ही घरेलू उड़ानों के लिए बिजनेस क्लास में सफर करने की इजाजत है इनके अलावा सभी अधिकारियों बीसीसीआई अधिकारियों (महाप्रबंधकों समेत) को भी इकॉनमी क्लास में ही सफर करना होगा।

सिर्फ हवाई यात्रा की क्लास बदलने से बीसीसीआई बचायेगी पैसा

सिर्फ हवाई यात्रा की क्लास बदलने से बीसीसीआई बचायेगी पैसा

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह का मानना है कि अगर घरेलू उड़ानों के लिए बिजनेस क्लास श्रेणी की यात्राओं में कमी की जाए तो इससे बोर्ड काफी सारा पैसा बचाया जा सकता है। हलांकि फ्लाइट्स की यात्रा में लगने वाला समय अगर 7 घंटे से ज्यादा का है, तब अधिकारी बिजनस क्लास श्रेणी में यात्रा कर सकते हैं। अगर फ्लाइट में यात्रा का समय 7 घंटे से कम का है, तब बाकी के अन्य चयनकर्ताओं (चीफ सिलेक्टर के अलावा) को भी इकॉनमी श्रेणी में यात्रा करनी होगी।

बीसीसीआई के इस नए नियम का अर्थ यह है कि अब सिर्फ सुनील जोशी और आशीष कपूर, जो सीनियर और जूनियर सिलेक्शन कमिटी के चीफ हैं, उन्हें ही बिजनस क्लास में सफर करने की इजाजत है।

चयनकर्ताओं को हुआ फायदा, महिला चयन समिति का चयन होना बाकी

चयनकर्ताओं को हुआ फायदा, महिला चयन समिति का चयन होना बाकी

सीनियर पुरुष टीम की चयनसमिति की बात करें, तो इस चयनसमिति में सुनील जोशी के अलावा सरनदीप सिंह, हरविंदर सिंह, देवांग गांधी और जतिन परांजपे का नाम शामिल है, जबकि आशीष कपूर के नेतृत्व वाली जूनियर चयनसमिति में उनके अलावा देबाशीष मोहंती, अमित शर्मा, ज्ञानेंद्र पांडे और राकेश पारीख का नाम शुमार है।

महिला क्रिकेट टीम की चयन समिति की अगर बात करें, तो बीसीसीआई को नई चयन समिति का चुनाव करना है क्योंकि इससे पहले वाली महिला टीम की चयनसमिति का हाल ही में कार्यकाल खत्म हुआ है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, March 18, 2020, 18:03 [IST]
Other articles published on Mar 18, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X