स्मिथ के आंसुओं से पिघला क्रिकेट जगत, रोहित शर्मा ने कही बड़ी बात

Posted By:
Rohit Sharma says Steve Smith and David Warner are Still 'Great Players | वनइंडिया हिंदी
स्मिथ के आंसुओं से पिघला क्रिकेट जगत, रोहित शर्मा ने कही बड़ी बात

नई दिल्ली। बॉल टेम्परिंग के आरोप में एक साल के लिए बैन किए गए ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ मीडिया के सामने अपने दर्द को बयां करते-करते जोर-जोर से रो पड़े। लेकिन स्मिथ के आंसुओं ने क्रिकेट जगत को पिघला दिया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन केमरून बेनक्रॉफ्ट को बॉल टेम्परिंग करते पकड़ा गया था। जिसके बाद स्मिथ ने बतौर कप्तान स्वीकार किया था कि ये बॉल टेम्परिंग प्लानिंग के तहत की गई और उन्हें इस बात की जानकारी थी। हालांकि अफ्रीका से ऑस्ट्रेलिया लौटने के बाद जब स्मिथ का सामना मीडिया से हुआ तो वे अपने आंसू रोक नहीं पाए और जोर-जोर से रोने लगे। इस बीच स्मिथ ने सभी से मांफी मागते हुए कहा कि उनकी ये गलती उन्हें जिंदगी भर सताती रहेगी।

रोहित ने कही बड़ी बात

लेकिन स्मिथ के आंसू देख कई क्रिकेट दिग्गज खुद को सहानभूति दिखाने से नहीं रोक पाए। भारतीय ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने ट्वीट कर लिखा कि 'स्टीव स्मिथ को जोहानिसबर्ग एयरपोर्ट पर जिस तरह से ट्रीट किया गया वह बिलकुल भी अच्छा नहीं था और सिडनी में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जिस तरह से स्मिथ भावुक हुए वह मेरे दिमाग में घूम रहा है। खेल की भावना अत्यंत महत्वपूर्ण है, इसमें कोई इनकार नहीं करता। स्मिथ ने एक गलती की और उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया। मेरा यहां बैठकर ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड के फैसले पर सवाल उठाना अनुचित होगा, लेकिन स्मिथ महान खिलाड़ी हैं और मुझे नहीं लगता कि ये विवाद उन्हें परिभाषित करता है।'

स्मिथ के साथ किया गया व्यवहार पसंद नहीं आयाः पीटरसन

अकेले रोहित ही नहीं बल्कि इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर केविन पीटरसन ने भी स्मिथ के साथ सहानभूति जताते हुए कहा कि स्मिथ क्रिमनल नहीं हैं। उन्हें स्मिथ के साथ किया गया व्यवहार पसंद नहीं आया।

वे भविष्य में बेहतर बनकर उभरेगेंः जॉन्सन

मिचेल जॉन्सन ने ट्वीट कर कहा कि कैमरून बेनक्रॉफ्ट और स्टीव स्मिथ की प्रेस कॉनफ्रेंस देखना उनके लिए मुश्किल था। उन्होंने कहा कि "वे इससे सीखेंगे और भविष्य में बेहतर बनकर उभरेगें।"

डु प्लेसिस ने भेजा स्मिथ को संदेश

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि उन्हें लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर लगा 12 महीने का प्रतिबंध काफी‘कड़ा'है। उन्होंने जोहानिसबर्ग में मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा कि उन्हें स्मिथ के लिए बहुत दुख है और उन्होंने उनके समर्थन में एक संदेश भेजा है।

'मैं खिलाड़ियों को इस दौर से गुजरते हुए नहीं देखना चाहता'

डु प्लेसिस ने कहा, 'मुझे सच में दिल से उनके लिए दुख महसूस हो रहा है। मैं खिलाड़ियों को इस दौर से गुजरते हुए नहीं देखना चाहता। अगले कुछ दिन उनके लिए काफी मुश्किल होंगे इसलिए मैंने उनके समर्थन के लिए संदेश भेजा कि वह इस कठिन दौर से निकल जाएंगे और उन्हें मजबूत होना चाहिए।'

स्टीव स्मिथ के पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के लिए दुख है: गंभीर

गंभीर ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया और आम जनता से अपील की कि वे खिलाड़ियों के परिवारों के बारे में भी सोचें। उन्होंने ने लिखा, 'स्टीव स्मिथ के पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के लिए दुख है। उम्मीद करता हूं कि मीडिया और ऑस्ट्रेलिया की जनता उनके खिलाफ आक्रामक नहीं होगी क्योंकि परिवार आसान निशाना होते हैं।'

स्टीव स्मिथ को अब मिला सचिन का साथ

सचिन ने ट्वीट कर कहा कि "जिन्होंने ये किया है वो अपने किए पर पछता रहे हैं और अब उन्हें अपने किए गए इस काम के साथ जीना होगा। उनके परिवार के बारे में सोचें, क्योंकि खिलाड़ियों के साथ उनके परिवार को भी यह झेलना होगा। अब समय आ गया है कि हम सभी पीछे हटें और उन्हें थोड़ा समय दें।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

    Story first published: Friday, March 30, 2018, 8:42 [IST]
    Other articles published on Mar 30, 2018
    POLLS

    MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more