ईशांत शर्मा के 100वां टेस्ट खेलने पर कोहली खुश, आज के पेसरों में ये है एक दुर्लभ उपलब्धि

नई दिल्लीः ईशांत शर्मा 24 तारीख को वाकई में एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर लेंगे। कुछ ऐसी जो जहीर खान और जवागल श्रीनाथ जैसे भारत के दो सर्वश्रेष्ठ पेसर भी नहीं कर पाए थे।

भारत के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को अनुभवी गेंदबाज ईशांत शर्मा की सराहना की, जो बुधवार को अहमदाबाद में गुलाबी गेंद के टेस्ट में अपना 100वां टेस्ट मैच खेलेंगे और उन्होंने कहा कि गेंदबाज इस तरह की लंबी पारी के लिए पूरा श्रेय लेने का हकदार है।

कोहली ने कहा कि ईशांत शर्मा अपने करियर को लंबा करने के लिए सफेद गेंद वाले क्रिकेट को प्राथमिकता दे सकते थे, लेकिन उन्होंने टेस्ट क्रिकेट को महत्व देने के लिए गेंदबाज की प्रशंसा की।

विराट कोहली ने मंगलवार को अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "यह देखना दुर्लभ है कि एक तेज गेंदबाज की इन दिनों इतनी लंबी उम्र है। ईशांत आसानी से सफेद गेंद वाले क्रिकेट को प्राथमिकता दे सकते थे। मैं बहुत खुश हूं कि वह अपना 100वां टेस्ट खेल रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि वह अच्छा प्रदर्शन करेंगे और भारत के लिए कई और वर्षों के लिए खेलेंगे। "

300 विकेट, 100वां टेस्ट- ईशांत शर्मा ने बताया कौन भारतीय पेसर तोड़ेगा उनका ये रिकॉर्ड

उन्होंने कहा कि वह और ईशांत दिल्ली के लिए एक साथ क्रिकेट खेलते रहे हैं और कहा कि दोनों खिलाड़ियों के बीच बहुत भरोसा है।

एक दिलचस्प किस्से में, कोहली ने यह भी साझा किया कि जब भारत के लिए चुने जाने की खबर की घोषणा की गई थी तब ईशांत सो रहे थे और उन्होंने कहा कि उन्हें ईशांत को यह जानकारी लात मारकर बतानी पड़ी।

कोहली ने कहा, "मैं उन्हें अपनी गेंदबाजी का लुत्फ उठाते हुए देखकर बहुत खुश हूं। ईशांत ने मेरे साथ राज्य क्रिकेट खेलना शुरू किया। जब वह भारत के लिए चुने गए, तो वह सो रह थे और मुझे उसे खबर देने के लिए लात मारनी पड़ी। हम कितनी दूर जाते हैं। हमारे बीच बहुत भरोसा है।"

IND vs ENG Day-Night Test Preview: सीरीज में बढ़त और WTC फाइनल पर होगा भारत का फोकस

घरेलू व्हाइट-बॉल प्रतियोगिताओं और इंडियन प्रीमियर लीग की विशेषता के बावजूद, ईशांत को एक लाल गेंद विशेषज्ञ माना गया है। ईशांत ने आखिरी बार 2016 में भारत के लिए वनडे और 2013 की शुरुआत में टी 20 आई खेले थे।

अब शायद आप ईशांत शर्मा को कभी भी सफेद गेंद क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए नहीं देखें जैसे की जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड करते हैं लेकिन ईशांत टेस्ट क्रिकेट में एशियाई तेज गेंदबाजी में नए कीर्तिमान हासिल कर सकते हैं। वे कुछ ही विकेटों के बाद जहीर खान के ओवरऑल टेस्ट विकेटों को पछाड़ देंगे जिसके बाद उनकी नजरें चामिंडा वास के टेस्ट विकेटों पर होनी चाहिए।

अगर ईशांत चार पांच साल और खेले तो वे वकार युनुस, इमरान खान जैसे एशियाई तेज गेंदबाजों का भी रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। यह सभी वे गेंदबाज हैं जो एशिया के पेसर हैं और उन्होंने 400 से कम टेस्ट विकेट लिए हैं। केवल वसीम अकरम और कपिल देव ही ऐसे एशियाई पेसर हैं जिन्होंने 400 से ऊपर टेस्ट विकेट लिए हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Tuesday, February 23, 2021, 16:28 [IST]
Other articles published on Feb 23, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X