मजदूरी करने को मजबूर हुआ डेब्यू मैच में शतक लगाने वाला यह खिलाड़ी

नई दिल्ली। अगर आप से कहा जाये कोई ऐसा खिलाड़ी जिसने अपने डेब्यू मैच में ही 90 के दशक की सबसे खतरनाक गेंदबाजों की तिकड़ी ग्लैन मैकग्रा, ब्रेट ली और शेन वॉर्न जैसे गेंदबाजों को बुरी तरह पीटा लेकिन मौजूदा समय में उसे जानने वाले लोगों की संख्या बेहद कम है तो शायद आप इस बात से इंकार कर जायें लेकिन यह सच है। हम बात कर रहे हैं न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज लू विंसेंट की जिन्होंने अपना डेब्यू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था और अपने पहले ही मैच में शेन वॉर्न, ब्रेट ली और ग्लैन मैकग्रा जैसे गेंदबाजों की धुलाई करते हुए शतक लगाया था।

और पढ़ें: Viral Video: मोहम्मद शमी को जवाब देने के लिये अब मुमताज बनीं हसीन जहां

अपने करियर में न्यूजीलैंड के लिये 23 टेस्ट मैच, 9 टी20 मैच और 102 वनडे मैच खेलने वाले विस्फोटक बल्लेबाज लू विंसेंट मौजूदा समय में मजदूरी करने को मजबूर हैं। अपने विस्फोटक अंदाज के लिये मशहूर यह बल्लेबाज आखिर इस परिस्थिति में कैसे पहुंच गया इस बात पर एक नजर डालते हैं।

और पढ़ें: सौरव गांगुली को ICC का चेयरमैन बनाना चाहता है यह पाकिस्तानी खिलाड़ी, जानें क्यों

ऐसा रहा लू विंसेंट का शुरुआती करियर

ऐसा रहा लू विंसेंट का शुरुआती करियर

न्यूजीलैंड के वार्कवर्थ में जन्मे लू विंसेंट मशहूर खेल पत्रकार माइक विंसेंट के बेट थे, जिनका खेलों के प्रति रुझान अपने पिता की वजह से ही गया। 15 साल की उम्र में विंसेंट एडिलेड चले गये जहां पर उन्होंने क्रिकेट खेला लेकिन सही मौका नहीं मिलने के चलते 18 की उम्र में वापस न्यूजीलैंड आ गये। न्यूजीलैंड लौटते ही उन्हें अंडर19 टीम में खेलने का मौका मिला जिसके बाद वह ऑकलैंड की टीम में भी सेलेक्ट हो गये।

अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर विंसेंट ने 2001 में न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय टीम में जगह बना ली। अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर के दौरान विंसेंट ने 6 शतक लगाये। इतना ही नहीं साल 2005 में उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 172 रनों की पारी खेली जिसमें से 118 रन बाउंड्रीज के जरिये आये।

विंसेंट ने कर दी बड़ी गलती, लग गया बैन

विंसेंट ने कर दी बड़ी गलती, लग गया बैन

विंसेंट ने न्यूजीलैंड के लिये कई अहम पारियां खेलकर टीम को जीत दिलाने का काम किया। विंसेंट ने अपने करियर में कीवी टीम के अलावा इंग्लैंड की काउंटी क्रिकेट में भी हिस्सा लिया और लैंकशर, नॉर्थैम्पटनशर, ससेक्स और वूस्टरशर जैसी काउंटी टीमों के लिये टूर्नामेंट खेला। इस दौरान उनका जीवन काफी अच्छा बीत रहा था लेकिन तभी लू विंसेंट ने एक बड़ी गलती कर दी और उनकी पूरी जिंदगी बदल गई।

लू ने साल 2008 में काउंटी क्रिकेट में फिक्सिंग की और सिर्फ एक बार नहीं बल्कि आने वाले सीजन में भी करते चले गये। इतना ही नहीं विंसेंट ने साल 2011,2012 में इंडियन क्रिकेट लीग में भी फिक्सिंग की और 2014 में जब पकड़े गये तो आरोपों को कबूल कर लिया। इस गलती के चलते लू पर लाइफटाइम बैन लगा दिया और वो इंग्लैंड से वापस न्यूजीलैंड आ गये।

मजदूरी करके चला रहे परिवार

मजदूरी करके चला रहे परिवार

लू विंसेंट पर लगे बैन के अनुसार वो न तो क्रिकेट खेल सकते हैं और न ही इससे जुड़े किसी भी तरह के व्यव्साय से पैसे कमा सकते हैं। उनके कोचिंग करने और स्टेडियम में घुसने तक पर बैन लगा हुआ है। ऐसे में विंसेंट के पास जीवन चलाने के लिये कोई और विकल्प नहीं बचा। न्यूजीलैंड हेराल्ड की खबर के मुताबिक वो एक बिल्डिंग कंपनी के लिए मजदूरी करने लगे जहां पर वो बिल्डिंग में रिपेयरिंग का काम करते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार वो प्लैटिनम होम्स कंपनी के साथ जुड़े हुए थे जहां पर उन्हें घंटे के हिसाब से पैसे मिलते हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, June 8, 2020, 8:19 [IST]
Other articles published on Jun 8, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X