जडेजा या पांड्या कौन होगा वर्ल्ड कप 2019 का मुख्य ऑलराउंडर, कोहली ने लगा दी इनके नाम पर मुहर

Ravindra Jadeja or Hardik Pandya Who will be all rounder for World Cup 2019

नई दिल्ली। आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 जैसे-जैसे करीब आ रहा है। टीमें अपने सभी पहलुओं पर काम करती नजर आ रही हैं। भारत को नंबर चार पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाजी की तलाश लंबे अर्से से थी जो शायद अंबाती रायडू पर आकर खत्म हुई है। लेकिन ऑलराउंडर के तौर पर चयनकर्ताओं को प्लेयर के सलेक्शन को लेकर संशय की स्थिति बरकरार है । पिछले कुछ समय से टीम के मुख्य ऑलराउंडर के रूप में नजर आने वाले हार्दिक पांड्या फिलहाल चोट से उभर रहे हैं जबकि उनकी गैरमौजूदगी में रवींद्र जडेजा धमाल मचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। आखिर कप्तान कोहली के लिए विश्व कप में उनका मुख्य ऑलराउंडर कौन होगा ये एक बड़ा सवाल है।

कोहली की नजर में कौन है बेस्ट?

कोहली की नजर में कौन है बेस्ट?

याद कीजिए 2011 का विश्वकप युवराज सिंह ने भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। युवराज सिंह उस समय बेस्ट ऑलराउंडरों की सूची में शीर्ष पर शुमार थे। ऐसे ही फिलहाल 2019 के विश्व कप के लिए भारत को भी एक परफेक्ट हरफनमौला कि तलाश है जो भारतीय टीम को जीत के दरवा्जे तक ले जा सके। विंडीज के साथ वनडे सीरीज का अंतिम मुकाबला खेलने के बाद प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान विराट से यह सवाल पूछा गया कि रविंद्र जडेजा या हार्दिक पांड्या विश्व कप के लिए वह मुख्य ऑलराउंडर किसे मानते हैं। विराट ने इस सवाल के जवाब पर कहा कि कहा, ‘यह निर्भर करता है। जब हार्दिक (पांड्या) फिट होकर खेलने के लिये सही हो जाता है तो आपको देखना होगा कि विश्व कप में आप किस संयोजन के साथ जाना चाहोगे। अगर हार्दिक फिट होता है तो केदार भी स्पिन विकल्प बन सकता है। हार्दिक के फिट होने से आपको चार सीमर के विकल्प भी मिलते हैं जिसमें केदार और एक और स्पिनर हो सकता है।'
कोहली ने आगे कहा, 'आपको एक और स्पिन विकल्प की जरूरत हो सकती है। टीम संतुलन में जडेजा भी अहम बन सकते हैं। टेस्ट मैचों में भी मुझे लगता है कि उसने अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी की। मुझे महसूस होता है कि वह अपने खेल को बखूबी समझता है। उसने खुद पर काफी मेहनत की है, विशेषकर सफेद गेंद से।भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तिरुवनंतपुरम में हुए पांचवें व अंतिम वनडे मैच में शानदार प्रदर्शन किया और रवींद्र जडेजा यहां हीरो साबित हुए। 'मैन ऑफ द मैच' जडेजा ने पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम को बिखेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

क्या कहते हैं हार्दिक के आंकड़े:

क्या कहते हैं हार्दिक के आंकड़े:

आईपीएल से करियर की शुरुआत करने वाले इस खिलाड़ी ने अपने प्रदर्शन का जलवा लगभग सभी प्रारूपों में बिखेरा है ।मुंबई इंडियंस के साथ खेलते हुए इस खिलाड़ी ने अपना लोहा मनवाया।

वनडे गेंदबाजी में भी 10 मैचों में 79.19 की औसत से 5 विकेट लिए हैं जिनमें उनकी इकोनॉमी 5.55 रही. टी20 में 8 मैचों में 6 पारियां खेल 201.72 की स्ट्राइक रेट से कुल 117 रन बनाए हैं, जिसमें 33 नाबाद सर्वाधिक है। गेंदबाजी में 8 मैचों में 24.29 के औसत और 8.10 की इकोनॉमी से 10 विकेट लिए हैं। इस तरह देखा जाए तो हार्दिक टी20 में तो बेहरतीन रहे, लेकिन वनडे में उन्होंने निराश ही किया।

इस साल हार्दिक ने 8 टेस्ट मैच खेले जिसमें बल्लेबाजी में 15 पारियों में हार्दिक के 25.28 के साथ 354 रन है जिसमें उनका उच्चतम स्कोर 93 रन है। वहीं गेंदबाजी में हार्दिक के नाम 14 पारियों में 33.30 की औसत और 3.48 की इकोनॉमी से कुल 13 विकेट हैं जिसमें से एक बार इंग्लैंड में उनके नाम पांच विकेट लेने का रिकॉर्ड भी हैं। हार्दिक ने पिछले एक साल में 10 मैचों में 6 पारियों में बल्लेबाजी की और उनमें 13.60 की औसत, 87.17 के स्ट्राइक रेट के साथ कुल 68 रन बनाए जिसमें उच्चतम 21 रन था।

इस साल का हार्दिक का आंकड़ा कुछ ऐसा रहा लेकिन वनडे करियर की बात करें तो पांड्या ने42 वनडे में की 27 पारियों में 670 रन बनाए हैं जिसमें से 83 रन उनका बेस्ट रहा है। पांड्या का औसत 29.13 का रह है।पांड्या ने वनडे में कुल 4 अर्धशतक जड़े हैं। जबकि उनके करियर का शतक अभी आना बाकि है।

ऐसा रहा है जडेजा का प्रदर्शन:

ऐसा रहा है जडेजा का प्रदर्शन:

रविंद्र जडेजा के प्रदर्शन की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। कुलदीप और यजुवेंद्र की चमक के आगे जडेजा पर ध्यान भले ना जाता हो लेकिन अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जडेजा ने इसी साल जमाया है। टेस्ट रैंकिंग में 383 अंक बनाकर आईसीसी की ऑलराउंडर रैंकिंग में दूसरा स्थान भी हासिल किया है। गेदंबाज के तौर पर जडेजा ने 140 पारियों में 169 शिकार किए हैं और उनका औसत 34.94 रहा है और 5/36 उनका बेस्ट स्पेल रहा है। वहीं बल्लेबाज के तौर पर बात करें तो जडेजा ने 144 मैच में 97 पारियों में उतरते हुए 1982 रन बनाए हैं। 87 रन उनका बेस्ट स्कोर रहा है। इस दौरान उन्होंने 10 अर्धशतक जमाए हैं।

बता दें कि भारतीय टीम ने पांचवें वनडे में वेस्टइंडीज को 31.5 ओवर में कुल 104 रन पर ही समेट दिया। इस दौरान वेस्टइंडीज के आठ बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाए। जडेजा के अलावा बुमराह और खलील अहमद ने 2-2 विकेट लिए जबकि भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव ने 1-1 विकेट लिया। जवाब में उतरे भारतीय बल्लेबाजों ने धवन (6) के रूप में पहला विकट गंवाकर रोहित शर्मा (नाबाद 63) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 33) ने 14.5 ओवर में आसान लक्ष्य हासिल कर लिया। भारत ने इस सीरीज पर 3-1से कब्जा जमा लिया। फिलहाल टीम की नजरें होने वाले तीन टी20 मैच वाली सीरीज पर है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

    Story first published: Friday, November 2, 2018, 11:17 [IST]
    Other articles published on Nov 2, 2018
    POLLS

    MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more