Preview: अफ्रीकी चुनौतियों के लिए तैयार विराट ब्रिगेड! इतिहास रचने उतरेगी टीम इंडिया

Posted By:
India vs South Africa 1st Test Match PREVIEW & Prediction | वनइंडिया हिंदी
South Africa vs India 1st Test match preview Newlands, Cape Town

केप टाउन। वो घड़ी आ गई जिसका सभी क्रिकेट प्रेमियों को पिछले काफी समय से इंतजार था। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज शुक्रवार यानी 5 जनवरी से खेली जाएगी। सीरीज का पहला मैच केप टाउन के न्यूलैंड्स में भारतीय समयानुसार दोपहर 2 बजे से खेला जाएगा। पूरे साल (2017) अजेय रही टीम इंडिया के सामने दक्षिण अफ्रीका की कड़ी चुनौती होगी। विराट कोहली की अगुआई वाली टीम इंडिया ने साल 2017 में एक भी सीरीज नहीं हारी।

मौजूदा आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन टीम इंडिया और नंबर दो दक्षिण अफ्रीका के बीच साल की शुरुआत में ही कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी। घरेलू पिचों पर बड़ी से बड़ी टीमों को धूल चटाने वाली टीम इंडिया को अफ्रीका में दूसरी तरह की क्रिकेट देखने को मिलेगी।

खिलाड़ियों ने इस बीच नेट पर जमकर पसीना बहाया

खिलाड़ियों ने इस बीच नेट पर जमकर पसीना बहाया

शादी के बाद कोहली पहली बार टीम की कप्तानी करते नजर आएंगे। श्रीलंका के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज से आराम लेकर कोहली ने न केवल जरूरी काम निपटाए बल्कि अफ्रीकी तैयारियों पर भी काफी फोकस किया है। टीम ने अफ्रीकी प्रसीडेंट इलेवन के खिलाफ प्रैक्टिस मैच कैंसिल कर खुद से ट्रेनिंग की है। कोच शास्त्री से लेकर कप्तान कोहली ने भी कहा है कि प्रैक्टिस मैच कैंसिल कर खुद से तैयारी करना अच्छा फैसला था। हालांकि इसका कितना असर पड़ता है ये आने वाला समय बताएगा लेकिन खिलाड़ियों ने इस बीच नेट पर जमकर पसीना बहाया।

अफ्रीकी इतिहास पर एक नजर, एशियन टीमें दक्षिण अफ्रीका में नहीं जीतती हैं

अफ्रीकी इतिहास पर एक नजर, एशियन टीमें दक्षिण अफ्रीका में नहीं जीतती हैं

कहा जाता है कि एशियन टीमें दक्षिण अफ्रीका में नहीं जीतती हैं। ऐसा हम नहीं बल्कि आंकड़े बोलते हैं। भारत ने अब तक 17 टेस्ट खेले हैं दक्षिण अफ्रीका में जिसमें उसे केवल 2 मैचों में जीत हासिल हुई। जबकि 7 मैच ड्रॉ रहे। वहीं पाकिस्तान ने 12 टेस्ट खेले हैं और दो जीते व 1 मैच ड्रॉ रहा है। श्रीलंका ने 13 टेस्ट मैच खेले, 1 जीती, 1 ड्रॉ वहीं बांग्लादेश ने 6 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उसे सभी में हार मिली है। इन आंकड़ों से पता चलता है कि अफ्रीका में एशियन टीमों के लिए कितनी कठिन चुनौती का सामना करना पड़ता है।

इन भारतीय खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

इन भारतीय खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

मौजूदा भारतीय टीम के पास दक्षिण अफ्रीका में इतिहास रचने का मौका है। भारतीय टीम में टॉप आईसीसी टेस्ट रैंकिंग के बल्लेबाज हैं। विराट कोहली, रहाणे, पुजारा, रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों के हाल के प्रदर्शनों पर नजर डालें तो पता चलता है कि खिलाड़ियों को पेस के साथ खेलना पसंद आ रहा है। शरीर पर आती हुई गेंदों में अच्छे से खेला है।

क्या हो सकता है टीम इंडिया का प्लेइंग कॉम्बीनेशन

क्या हो सकता है टीम इंडिया का प्लेइंग कॉम्बीनेशन

अफ्रीकी पिचों के हिसाब से टीम इंडिया रहाणे और रोहित शर्मा को प्लेइंग इलेवन में जरूर शामिल करेगी। ऐसे में टीम इंडिया 3 फास्ट बॉलर और एक स्पिनर के साथ मैदान पर उतर सकती है। ये तीन फास्ट बॉलर ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार हो सकते हैं। वहीं स्पिनर की बात करें तो जडेजा को वायरल है अगर वे ठीक नहीं होते हैं तो अश्विन का खेलना तय है। भारतीय टीम 6 बल्लेबाजों 4 तेज गेंदबाजों और 1 स्पिनर के साथ भी मैदान पर उतर सकती है। ऐसे में जसप्रीत बुमराह का डेब्यू होना भी तय माना जा रहा है। पहली बार साउथ अफ्रीका गए भुवनेश्वर को पिछले साल के आखिरी मैच में श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में हरी घास के साथ उछाल वाली पिच पर गेंदबाजी करने का मौका मिला। 136-138 किलोमीटर के साथ दोनों तरफ गेंद को स्विंग करवाने की क्षमता के कारण भुवनेश्वर ने अपने पहले चार ओवरों में दोनों ओपनरों को निपटा दिया। ऐसे में अपनी स्विंग के लिए फेमस भुवी अफ्रीकी बैटिंग लाइन अप को उसी तरह हिला सकते हैं जैसे कागिसो रबाडा के लिए कहा जा रहा है।

टीम इंडिया प्लेइंग इलेवन (संभावित)- मुरली विजय, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रिद्धिमान साहा, आर अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा।

बेहद मजबूत है दक्षिण अफ्रीकी टीम का कॉम्बीनेशन

बेहद मजबूत है दक्षिण अफ्रीकी टीम का कॉम्बीनेशन

पहले टेस्ट मैच से पहले साउथ अफ्रीका की बाउंसी व तेज पिचों पर उसके पेसर्स कागिसो रबाडा, डेल स्टेन, मोरने मोर्कल और वेरनॉन फिलेंडर की गेंदबाजी को एक चिंता की तरह देखा जा रहा है। भारतीय बल्लेबाजी के लिए इन चारों का सामना पूरे कैरियर का निचोड़ साबित होने वाला है। हालांकि आगर बारतीय ओपनर पहले 20 ओवर कूकाबुरा गेंद की चमक और मूवमेंट के बीच अपनी विकेट बचाने में कामयाब हो जाते हैं तो स्कोरबोर्ड भरा सा दिखेगा। यानी दक्षिण अफ्रीका में पूरा खेल इस बात पर निर्भर करेगा कि बल्लेबाज और गेंदबाज नई गेंद के सामने खुद को कैसे संभालते हैं। डीन एल्गर, ऐडेन मार्कराम, हाशिम अमला, फाफ डु प्लेसिस, क्विंटन डी कॉक, कागिसो रबाडा, वेर्नान फिलेंडर और केशव महाराज वो नाम हैं जो जिसे विश्व क्रिकेट का हर कोई व्यक्ति जानता है। इनमें एक नाम एबी डिविलियर्स का भी है जो किसी भी समय टीम के लिए मैच का पासा पलट सकता है।

दक्षिण अफ्रीका प्लेइंग इलेवन (संभावित)- डीन एल्गर, ऐडेन मार्कराम, हाशिम अमला, एबी डिविलियर्स, फाफ डु प्लेसिस, क्विंटन डी कॉक, कागिसो रबाडा, वेर्नान फिलेंडर और केशव महाराज, क्रिस मोरिस, मोरने मार्केल।

क्या है पिच का हाल, भारतीय बल्लेबाजों को मिलेगी चुनौती?

क्या है पिच का हाल, भारतीय बल्लेबाजों को मिलेगी चुनौती?

पहला टेस्ट केपटाउन में खेला जाएगा, जहां कि तेज, उछाल भरी पिच तेज गेंदबाजों को खासा मदद देती है। हालांकि टीम इंडिया के खिलाफ ऐसा नहीं होने वाला। दरअसल केपटाउन में सूखे के हालात हैं और जिसके चलते केपटाउन के न्यू लैंड्स मैदान की पिच पर ज्यादा पानी नहीं डाला गया है, जिसकी वजह से इस पिच में उतरी कठोरता नहीं होगी जिसके लिए ये जानी जाती है। पिच क्यूरेटर एवेन फ्लिंट ने बताया कि पानी की कमी के चलते मैदान पर हफ्ते में दो ही बार पानी डाला गया है, जिसकी वजह से न्यूलैंड्स की पिच पहले जैसी कठोर नहीं रहेगी। साथ ही मैदान की घास भी बिलकुल हरी-भरी नहीं होगी। जिस वजह से गेंद आउट फील्डर पर रुकेगी नहीं और तेजी से बाउंड्री पार होगी।

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, January 4, 2018, 16:18 [IST]
Other articles published on Jan 4, 2018

MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट