AUS vs IND: लक्ष्मण का खुलासा, बताया विराट कोहली को कप्तानी में कहां काम करने की है जरूरत

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच गुरुवार से शुरू होने वाली बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज (Border Gavaskar Test Series) का पहला मैच एडिलेड के मैदान पर खेलने उतरेंगी। इस बीच बीसीसीआई (BCCI) ने एडिलेड (Adelaide Test) के मैदान पर खेले जाने वाले पिंक बॉल टेस्ट मैच (Pink Ball Test Match) के लिये प्लेइंग 11 का ऐलान कर दिया है। कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पहले टेस्ट मैच के लिये न तो शुबमन गिल (Shubman Gill) को मौका दिया है और न ही विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को मौका दिया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने कप्तान विराट कोहली की कैप्टेंसी को लेकर सवाल उठाये।

इस बीच भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने बताया कि विराट कोहली कहां अपनी कप्तानी में सुधार कर सकते हैं। वीवीएस लक्ष्मण का मानना है कि विराट कोहली अपनी टीम के खिलाड़ियों के लिये आदर्श हैं और प्रेरणा का स्त्रोत कहना गलत नहीं होगा। कोहली अपनी फील्डिंग सजाने में थोड़ा डिफेंसिव जरूर हैं लेकिन उसके अलावा टीम में लगातार बदलाव करते रहते हैं। वह अपने काम के प्रति समर्पित रहने वाले कप्तानों में से एक हैं।

और पढ़ें: AUS vs IND: शेन वॉर्न ने की भविष्यवाणी, बताया कौन जीतेगा बॉर्डर-गावस्कर सीरीज

स्टार स्पोर्ट्स के शो 'क्रिकेट कनेक्टेड' में बात करते हुए वीवीएस लक्ष्मण ने कहा, 'मैं पहले भी कह चुका हूं कि कोहली जब भी मैदान पर होते हैं तो वह खेल में डूब जाते हैं और इसका पता उनकी बल्लेबाजी और फील्डिंग के दौरान चेहरे पर आने वाले हाव-भाव से ही चल जाता है। वह एक उदाहरण बनकर टीम की कमान संभालते हैं और खिलाड़ियों पर इसका पॉजिटिव असर देखने को मिलता है।'

हालांकि लक्ष्मण का मानना है कि इसके बावजूद विराट कोहली अपनी कप्तानी में कुछ सुधार कर सकते है जिसकी उन्हें जरूरत हैं।

और पढ़ें: आपके पास है करोड़ों की लॉटरी जीतने का मौका, जानिए कैसे खेलें?

उन्होंने कहा,' कोहली ने टीम की कमान संभालने के बाद लगातार प्रयोग किये हैं जिससे खिलाड़ियों में टीम में अपनी जगह को लेकर असुरक्षा की भावना पैदा होती है। मैं अपने अनुभव से कह सकता हूं कि खिलाड़ी चाहे नया हो या फिर अनुभवी उसे टीम में स्थिरता और सुरक्षा की भावना चाहिये होती है, जिसके चलते वह टीम के लिये बेस्ट प्रदर्शन करने पर ध्यान लगा सकता है। उन्हें इस क्षेत्र में सुधार की जरूरत है। इसके अलावा विराट कोहली को अपनी फील्डिंग सजाने पर भी काम करना चाहिये क्योंकि मुझे लगता है कि वह अक्सर मैदान पर थोड़ा डिफेंसिव हो जाते हैं।'

गौरतलब है कि विराट कोहली ने साल 2014 में टेस्ट कप्तानी संभाली थी जबकि साल 2017 में लिमिटेड ओवर्स की टीम के कप्तान बनें। आपको बता दें कि भारतीय टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में ऑस्ट्रेलियाई टीम को उसकी सरजमीं पर टेस्ट सीरीज में धूल चटाने का काम किया और 2-1 से सीरीज जीतने का काम किया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, December 16, 2020, 17:53 [IST]
Other articles published on Dec 16, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X