B,day Special : वीडियो में देखिए शेन वार्न की वो गेंद जो कहलाई थी 'बाॅल ऑफ द सेंचुरी'

नई दिल्ली। शेन वाॅर्न वो खिलाड़ी हैं जिन्होंने क्रिकेट जगत में नाम तो कमाया लेकिन साथ-साथ में अपने लाइफस्टाइल को लेकर भी खूब सुर्खियां बटोरीं। 13 सितंबर 1969 को जन्मे वॉर्न आज अपना 50वां जन्मदिन मना रहे हैं। वाॅर्न दुनिया के महान स्पिनरों में से एक हैं। उनकी घूमती गेंदों को पढ़ना बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं रहता था। भला वो लम्हा काैन भूल सकता है जब वॉर्न ने रहस्यमयी गेंद फेंकते हुए सबको चाैंका दिया था। इस गेंद को फिर 'बाॅल ऑफ द सेंचुरी' का नाम दिया गया था।

बल्लेबाज को दे गई थी चकमा

बल्लेबाज को दे गई थी चकमा

वॉर्न ने 4 जून, 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ यह गेंद फेंकी थी, जो क्रिकेट इतिहास की सबसे खतरनाक गेंद में शुमार होती है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच उस समय 6 टेस्ट मैचों की एशेज सीरीज खेजी गई थी। लेकिन इसी सीरीज के पहले मैच में ही बॉल ऑफ द सेंचुरी गेंद डाली गई। मैनचेस्टर में सीरीज के पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन शेन वॉर्न ने इंग्लैंड की पहली पारी के दौरान अपने पहले ही स्पेल की पहली ही गेंद पर ऐसी गेंद डाली जो क्रिकेट के इतिहास में अमर हो गया। उनके सामने दिग्गज बल्लेबाज माइक गेटिंग थे। गेटिंग 4 रन बनाकर क्रीज पर थे। वॉर्न की पहली गेंद लेग स्टंप के काफी बाहर पिच हुई और ऐसा लग रहा था कि गेंद वाइड हो सकती है। इसी के चलते गेटिंग ने उसे खेलने का प्रयास नहीं किया। इस बीच, जबरदस्त तेजी से टर्न हुई गेंद गेटिंग को चकमा देते हुए ऑफ स्टंप पर जा लगी, जिसे देखकर सभी हैरान हो गए।

VIDEO: विराट के नाम पर हुआ स्टैंड, इमोशनल अनुष्का शर्मा ने किया पति को KISS

सचिन आते थे सपने में

वाॅर्न ने जब क्रिकेट में कदम रखा था तो बल्लेबाजों में उनका खाैफ देखने को मिलता था। लेकिन भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने वाॅर्न को 1998 में शरजाह में उनकी ऐसी पिटाई की थी कि सचिन उनके सपने में नजर आने लगे थे। वाॅर्न भी मानते हैं कि सचिन ने उनकी नींद उड़ाने का काम किया है। उन्होंने कहा था कि ऐसा लगता है कि वह (सचिन) उनके सपने में भी छक्के लगा रहे हैं। शरजाह में खेले गए कोका-कोला कप में सचिन के शानदार खेल से भारत ने ट्राई सीरीज जीती थी। इसमें भारत-ऑस्ट्रेलिया के अलावा न्यूजीलैंड की टीम भी थी। फाइनल में सचिन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 134 रन की पारी खेली थी।

ऐसा करने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज

ऐसा करने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज

शेन वॉर्न ने करियर की शुरुआत 1992 में सिडनी टेस्ट मैच में भारत के खिलाफ की थी, जबकि वनडे क्रिकेट में पदार्पण 1993 में न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था। शेन वॉर्न ने टेस्ट क्रिकेट में भारत के रवि शास्त्री को अपना अपना पहला शिकार बनाया था। यहां से उन्होंने फिर विकटों की ऐसी झड़ी लगाई कि आज वो टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज बने हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया के इस महान गेंदबाज ने साल 2007 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। शेन वॉर्न के नाम टेस्ट में 708 लेने का रिकॉर्ड है, वहीं वनडे में उन्होंने 293 विकेट झटके थे। वहीं वाॅर्न विश्व के ऐसे दूसरे गेंदबाज भी हैं, जिसने टेस्ट और वनडे मैचों को मिलाकर 1000 विकेटों के आंकड़े को छुआ है। इस सूची में भी पहला नंबर मुथैया मुरलीधरन का है।

T-20 क्रिकेट में बना नया रिकाॅर्ड, इस बल्लेबाज ने 11वें नंबर पर आकर बनाए सबसे ज्यादा रन

3 देशों के खिलाफ कर चुके हैं यह कारनामा

3 देशों के खिलाफ कर चुके हैं यह कारनामा

वह अकेले ऐसे गेंदबाज हैं, जिसने किसी एक देश के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में 100 या 100 से ज्यादा विकेट चटकाए हैं। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 195, न्यूजीलैंड के खिलाफ 103 और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 130 विकेट चटकाए थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Read more about: shane warne cricket t20
Story first published: Friday, September 13, 2019, 12:59 [IST]
Other articles published on Sep 13, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X