अगर 70 के दशक में होता आईपीएल तो इस खिलाड़ी पर जमकर बरसता पैसा

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने साल 2008 में जब आईपीएल की शुरुआत की थी तो उस वक्त शायद ही किसी ने ऐसा सोचा होगा कि आने वाले समय में यह लीग दुनिया की सबसे बड़ी और महंगी क्रिकेट टी20 लीग बनने वाली है। हालांकि मौजूदा समय में यह बिल्कुल सच है। आईपीएल के जरिये न सिर्फ भारतीय क्रिकेट में निखार आया है बल्कि विदेशों से आने वाले खिलाड़ियों के टैलेंट पर भी जमकर पैसा बरसता है। इसी के चलते साल 2020 के सीजन की नीलामी में ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज बैट कमिंस पर जमकर पैसा बरसा।

और पढ़ें: कोरोना वायरस के चलते गई एक और दिग्गज क्रिकेटर की जान, आनन-फानन में दफनाया

इस बीच अगर सोचा जाये कि आईपीएल की शुरुआत अगर 70 के दशक में की गई होती तो किस विदेशी खिलाड़ी पर पैसों की बारिश होती, तो इसका जवाब न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर इयान स्मिथ ने दिया है, साथ ही उस बल्लेबाज का नाम भी बताया जो उस दशक में टेस्ट क्रिकेट को फटाफट क्रिकेट की तरह खेला करता था।

और पढ़ें: मोहम्मद शमी ने निकाला क्रिकेट में सलाइवा बैन का तोड़, कहा- अब ऐसे करायेंगे स्विंग

70 के दशक में होता आईपीएल तो यह खिलाड़ी होता मालामाल

70 के दशक में होता आईपीएल तो यह खिलाड़ी होता मालामाल

कीवी टीम के पूर्व कप्तान और क्रिकेटर इयान स्मिथ का मानना है कि अगर 70 के दशक में टी20 क्रिकेट की शुरुआत हुई होती और उस वक्त आईपीएल खेला जा रहा होता तो कैरिबियाई टीम के विवियन रिचर्डस दर्शकों के पसंदीदा बल्लेबाज होते। इतना ही नहीं टूर्नामेंट में शामिल फ्रैंचाइजी टीमें उन्हें अपने साथ जोड़ने के लिये जमकर पैसा बरसाती।

उन्होंने कहा,' अगर 70 के दशक में आईपीएल होता तो आज के समय में बेन स्टोक्स और पैट कमिंस पर जितनी रकम फ्रैंचाइजी ने लगाई है उससे ज्यादा पैसे खर्च करके वह विवियन रिचर्डस को अपनी टीम से जोड़ने के लिये बेकरार रहती।'

किसी भी दशक के बेहतरीन खिलाड़ी थे रिचर्डस

किसी भी दशक के बेहतरीन खिलाड़ी थे रिचर्डस

उल्लेखनीय है कि सर विवियन रिचर्डस ने साल 1975 और 1979 में खेले गये विश्व कप के दौरान सबसे आक्रामक बल्लेबाजी की और दोनों ही विश्व कप में अपनी टीम वेस्टइंडीज को विजेता बनाया। इस दौरान उन्होंने 121 टेस्ट मैच में 8540 रन और 187 वनडे मैच में 6721 रन बनाए।

आईसीसी की वीडियो सीरिज ‘इनसाइड आउट' में बात करते हुए आईसीसी ने कहा, ‘मेरा मानना है कि विव रिचडर्स किसी भी दशक में किसी भी प्रारूप में बेहतरीन खिलाड़ी होते। उनका स्ट्राइक रेट देखो जो उस समय सबसे ज्यादा था। यह टी20 का स्ट्राइक रेट था जबकि यह प्रारूप उस समय था भी नहीं।'

अगर टी20 खेलते तो फ्रैंचाइजियों में मच जाती होड़

अगर टी20 खेलते तो फ्रैंचाइजियों में मच जाती होड़

कीवी टीम के पूर्व विकेटकीपर का मानना है कि अगर विवियन रिचर्डस टी20 खेल रहे होते तो हर फ्रैंचाइजी उन्हें अपने साथ जोड़ने केी होड़ लगा देती और वह आईपीएल के मौजूदा समय से भी ज्यादा सबसे महंगे क्रिकेटर साबित होते।

स्मिथ ने कहा, ‘वह टी20 क्रिकेट में लीजैंड होते। उन पर कमिंस, स्टोक्स पर मिलाकर खर्च हुई रकम से ज्यादा दाम लगता। वह दर्शकों को जबर्दस्त मनोरंजन देते। जब भी आप सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ विश्व एकादश चुनेंगे तो उनका नाम हमेशा जेहन में रहेगा।'

सिर्फ विकेटकीपर बनने से काम नहीं चलता

सिर्फ विकेटकीपर बनने से काम नहीं चलता

स्मिथ ने रिचर्डस की तारीफ करते हुए कहा कि क्रिकेट इतिहास में कई दिग्गज खिलाड़ी आये और रिकॉर्ड बनाये लेकिन जिस हिसाब से उन्होंने गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाई वैसा कोई खिलाड़ी नहीं देखने को मिला।

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि अब यह बीते जमाने की बात हो गई। अब विकेटकीपर बल्लेबाजों का चलन है और यह सिलसिला एडम गिलक्रिस्ट से शुरू हुआ। यदि मैं विराट कोहली , रोहित शर्मा या डेविड वॉर्नर का कैच शुरू में ही छोड़ दूं तो मेरे 40 रन बनाने का क्या फायदा।'

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, June 3, 2020, 9:51 [IST]
Other articles published on Jun 3, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X