IND vs ENG: सहवाग का खुलासा, बताया- किस वजह से विराट कोहली बने फिटनेस फ्रीक

India vs England Virender Sehwag reveals What lead Virat Kohli to obsession with fitness ahead of 4th T20I: नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच जारी 5 मैचों की टी20 सीरीज में भारतीय फील्डिंग का स्तर काफी लचर नजर आया है। यूं तो भारतीय क्रिकेट के लिये खराब फील्डिंग और कैचों का छोड़ना कोई नई बात नहीं है लेकिन नये भारत के लिये फिटनेस के नये मापदंड और फील्डिंग को लेकर कठिन मार्क होने के बावजूद भारतीय खिलाड़ियों से यह होना चौंकाने वाला रहा है। भारतीय खिलाड़ी फिटनेस के मामले में बेहद शानदार शेप में हैं लेकिन इसके बावजूद वो फील्डिंग में न्याय करते नजर नहीं आ रहे हैं।

AFG vs ZIM: मोहम्मद नबी के नाम हुआ टी20 क्रिकेट का सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड, नहीं रखना चाहेंगे याद

तीसरे टी20 मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने खुद इस बात को माना कि वो टीम में खिलाड़ियों की बॉडी लैंग्वेज और फील्डिंग स्तर को लेकर खुश नहीं है। यहां तक की राहुल तेवतिया और वरुण चक्रवर्ती को फिटनेस टेस्ट में फेल होने की वजह से शामिल नहीं किया गया है। कोहली ने फिटनेस पर जोर देते हुए साफ किया है कि मैदान पर इसको लेकर किसी भी तरह का कॉम्प्रोमाइज नहीं किया जा सकता।

Road Safety World Series: सचिन की इस बात ने इरफान पठान को बनाया मैच विनर, पहले ओवर में लुटाये थे 19 रन

2011 में हुई इस घटना ने बनाया कोहली को फिटनेस फ्रीक

2011 में हुई इस घटना ने बनाया कोहली को फिटनेस फ्रीक

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग ने फिटनेस के प्रति भारतीय कप्तान विराट कोहली के ऑब्सेशन को लेकर बात करते हुए बताया कि आखिर किस घटना की वजह से वह फिटनेस के प्रति इतने जुनूनी हो गये हैं। सहवाग ने इसको लेकर साल 2011 में हुई एक घटना का जिक्र किया जब भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर थी और युवा विराट कोहली भारत की टेस्ट और लिमिटेड ओवर सीरीज का हिस्सा थे।

क्रिकबज से बात करते हुए सहवाग ने कहा,'मैंने 2011-12 में इंग्लैंड का अपना आखिरी दौरा किया था और दो टेस्ट मैच खेले थे। मैंने एक मैच में ओवल में और एक बर्मिंघम में खेला था। यहां पर सभी काउंटी टीमें मौजूद थी जिनके ड्रेसिंग रूम में फिटनेस स्टैंडर्ड को तय करने वाला चार्ट भी मौजूदा था जो कि इसके मानक तय करता था। मुझे लगता है कि मौजूदा भारतीय टीम ने अपने फिटनेस के स्टैंडर्ड वहां से लेने का काम किया है।'

फिटनेस टेस्ट में बुरी तरह फेल हुई थी भारतीय टीम

फिटनेस टेस्ट में बुरी तरह फेल हुई थी भारतीय टीम

सहवाग ने आगे बात करते हुए कहा कि हमारे खिलाड़ी खुद इस चीज को ट्राय करने के लिये उत्सुक थे लेकिन जब वो फील्डिंग ड्रिल के लिये मैदान पर उतरे तो बेहद शर्मनाक तरीके से फेल हो गये। सहवाग का मानना है कि विराट कोहली के दिल में कहीं न कहीं यह बात घर कर गई और उन्होंने इसे स्वीकार करने से इंकार कर दिया और मौजूदा समय में भारतीय फिटनेस टीम का यह माहौल उसी फेल कोशिश का नतीजा है।

सहवाग ने कहा,'मैं ऐसा इसलिये कह रहा हूं क्योंकि जब हमने उस समय फिटनेस चार्ट को देखा था तो हम काफी इंप्रेस हुए थे, हमें लगा था कि यह सब कुछ वजन, फ्लेक्सिबिलिटी और मोबिलिटी से जुड़ा हुआ है और हमने वैसा करने की कोशिश भी की लेकिन हमारी टीम 2011-12 में हुए उन सभी टेस्ट में बुरी तरह फेल हो गई थी।'

कोहली के दिल पर लगी यह बात

कोहली के दिल पर लगी यह बात

सहवाग ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि विराट कोहली ने यह चीज उसी दौरे से पिक किया है। अगर इंग्लैंड में फिटनेस को लेकर ऐसे मानक तय किये गये हैं तो हमारे पास भी ऐसी ही मानक होने चाहिये। जब से उन्होंने भारतीय टीम की कमान संभाली है जिसके बाद से उन्होंने इस बात पर जोर दिया है कि टीम में चयन के लिये कुछ खास टेस्ट पास करना बेहद जरूरी है और तभी हम बेस्ट टीम के साथ मुकाबला कर सकते हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, March 18, 2021, 17:43 [IST]
Other articles published on Mar 18, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X