टेस्ट क्रिकेट में कौन तोड़ सकता है मुरलीधरन के 800 विकेट का रिकॉर्ड, संजय बांगर ने लिया इस भारतीय का नाम

नई दिल्ली। भारत और न्यूजीलैंड के बीच हाल ही में खत्म हुई 2 मैचों की टेस्ट सीरीज के बाद पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने मैन ऑफ द सीरीज रहे रविचंद्रन अश्विन की जमकर तारीफ की है और उन्होंने टेस्ट क्रिकेट के सबसे बड़े गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के रिकॉर्ड को तोड़ने का दावेदार बताया है। श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है। संजय बांगर का मानना है कि तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड के अलावा रविचंद्रन अश्विन एकमात्र ऐसे गेंदबाज हैं जो टेस्ट क्रिकेट में 800 से ज्यादा विकेट हासिल करने का दम रखते हैं।

उल्लेखनीय है कि टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में रविचंद्रन अश्विन फिलहाल 12वें पायदान पर काबिज हैं जिन्होंने अपने 11 साल के टेस्ट करियर में अब तक 427 विकेट चटका लिये हैं। वह भारत के लिये सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले दूसरे गेंदबाज कपिल देव (434) का रिकॉर्ड तोड़ने से महज 8 विकेट दूर हैं। अश्विन ने भारत-न्यूजीलैंड के बीच खेली गई दो मैचों की टेस्ट सीरीज में बिना कोई 5 विकेट हॉल लिये 14 विकेट अपने नाम किये और 9वीं बार मैन ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड जीता।

और पढ़ें: IND vs SA: साउथ अफ्रीका दौरे पर नहीं मिलेगी ईशांत को जगह, विराट की वनडे कप्तानी पर भी होगा फैसला

स्टार स्पोर्टस के साथ बात करते हुए संजय बांगर ने कहा,'अगर रविचंद्रन अश्विन लंबे समय तक खुद को फिट रखने में कामयाब रहते हैं तो वो मुथैया मुरलीधरन के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं। यह बात खुद मुरलीधरन ने एक इंटरव्यू के दौरान कही थी कि अगर कोई 800 विकेट के पार पहुंच सकता है तो वो अश्विन ही हैं। वह जिस तरह से गेंदबाजी में लंबे स्पेल फेंकता है उसे देखकर उन्होंने दूसरी पसंद का गेंदबाज कहना गलत होगा, क्योंकि अश्विन ने टी20 क्रिकेट में भी वापसी करली है। उनके पास जबरदस्त ऑफ स्पिन है और उनके प्रदर्शन को देखकर इस बात के अच्छे आसार हैं कि वो मुरलीधरन को पीछे छोड़ सकते हैं।'

गौरतलब है कि रविचंद्रन अश्विन ने टी20 विश्वकप के दौरान 4 साल बाद क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में वापसी की थी, जिसके बाद उन्हें न्यूजीलैंड सीरीज में भी मौका दिया गया और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन करके दिखाया। रविचंद्रन अश्विन ने वानखेड़े टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 4-4 विकेट चटकाये और एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा बार 50 से ज्यादा बार टेस्ट विकेट चटकाने वाले गेंदबाज की लिस्ट में अपना नाम शामिल किया।

और पढ़ें: कभी छोड़ दी थी राहुल द्रविड़ के हेड कोच बनने की उम्मीद, सौरव गांगुली ने बताया- अंत में कैसे माने

आपको बता दें कि पहले यह रिकॉर्ड हरभजन सिंह (3 बार), अनिल कुंबले (3 बार) के नाम था लेकिन अब अश्विन (4 बार) सबसे आगे निकल गये हैं। वहीं पर रविचंद्रन अश्विन ने घरेलू सरजमीं पर सबसे तेज विकेटों का तिहरा शतक भी पूरा कर लिया है और इस फेहरिस्त में पहले भारतीय और ओवरऑल दूसरे गेंदबाज बन गये हैं। मुरलीधरन ने 47 टेस्ट मैचों में यह कारनामा किया था जबकि अश्विन ने 48 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की है। वहीं अश्विन से पहले सिर्फ अनिल कुंबले ने ही भारतीय सरजमीं पर 300 से ज्यादा विकेट चटकाने का रिकॉर्ड बनाया था।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, December 6, 2021, 21:38 [IST]
Other articles published on Dec 6, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X