IPL 2020: हार के बाद धोनी ने कहा- हमारे स्पिनरों ने की गलती, नो-बॉल में भी करना होगा सुधार

नई दिल्लीः आईपीएल 2020 के चौथे मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स को राजस्थान रॉयल्स के हाथों 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा। पहले बैटिंग करने के दौरान राजस्थान ने रॉयल्स अंदाज में छक्कों की झड़ी लगाते हुए 216 रन बनाए और धोनी एंड कंपनी 200 रन ही बना सकी।

इस मैच संजू सैमसन ने कमाल की बैटिंग की और 32 गेंदों पर 74 रनों की अपनी पारी के दौरान 9 छक्के लगाए। सैमसन के आउट होने के बाद राजस्थान स्थिति फ्रेंचाइजी की पारी में कुछ बिखराव आया लेकिन अंतिम ओवर में जोफ्रा आर्चर के नाटकीय कैमियो ने सबको सरप्राइज कर दिया जिसमें चार छक्के सहित कुल 30 रन बने।

आखिरी ओवर में लुंगी अपनी टीम के खलनायक बने-

आखिरी ओवर में लुंगी अपनी टीम के खलनायक बने-

इस ओवर में लुंगी नगिदी खलनायक साबित हुए जिन्होंने दो नो बॉल और एक वाइड करके सीएसके के उन जख्मों को फिर से खोल दिया जो सैमसन के आउट होने के बाद इस टीम ने बड़ी चतुराई से भरे थे।

मैच के बाद धोनी ने महसूस किया कि सुपर किंग्स को मिली शुरुआत काफी लंबे टारगेट तक पीछा करने में अच्छी नहीं थी, और यह भी कहा कि टीम को उन चीजों को नियंत्रित करने के लिए एक बेहतर काम करने की जरूरत है, जैसे कि नो-बॉल को गेंदबाजी करने से बचना। लुंगी नगिडी का स्पष्ट रूप से नाम नहीं लेते हुए, धोनी ने कहा कि रॉयल्स को एक्स्ट्रा रन दिए बिना कम स्करो पर रोका जा सकता था।

हार के बाद बोले धोनी-

हार के बाद बोले धोनी-

धोनी ने कहा, "मुझे लगता है कि बोर्ड में 217 के साथ, हमें बहुत अच्छी शुरुआत करनी थी।" उन्होंने कहा, "इसके साथ ही हमें अपने गेंदबाजों को भी श्रेय देना होगा क्योंकि बहुत अधिक ओस थी। यह एक बात है जो आप जानते हैं, अगर आप बोर्ड पर रन बनाते हैं तो आपने पहली पारी में देखा है कि अच्छी लंबाई क्या है। उस विकेट पर गेंदबाजी करने के लिए, और मुझे लगता है कि उन्होंने यही किया। वे गेंद को एक ही क्षेत्र में रखते थे। विशेषकर स्पिनरों को, उन्होंने कई अलग-अलग चीजों की कोशिश नहीं की।

IPL 2020: धोनी ने बताया नंबर 7 पर बैटिंग करने का कारण, कहा- मैंने लंबे समय से क्रिकेट नहीं खेला

स्पिनरों ने फुल लेंथ गेंदबाजी की-

स्पिनरों ने फुल लेंथ गेंदबाजी की-

उन्होंने कहा, "इस विकेट पर बल्लेबाजों को दूर रखना महत्वपूर्ण था। हां, वे कुछ शॉट मारेंगे लेकिन आप भ्रमित नहीं हों। एक छोटा आउटफील्ड है। मुझे लगता है कि हमारे स्पिनरों ने पहले दो ओवरों में जैसे बॉलिंग की वह एक गलती थी। उन्होंने काफी फुल लेंथ गेंदबाजी की और उसके बाद, हम खेल में अच्छी तरह से वापस आए। ।

"किसी को भी इंगित किए बिना, मुझे लगता है कि हम वो कर सकते थे - जो हमारे नियंत्रण में था - जैसे की नो-बॉल्स को टालना। यहां तक ​​कि जब आप दबाव में हों, तब भी नो-बॉल न देने का प्रयास करें क्योंकि यह एक नियंत्रण में लिया जा सकता है। सच कहूं तो आप इस चीज को कंट्रोल नहीं कर सकते कि विपक्षी बल्लेबाज कैसे बैटिंग कर रहा है। लेकिन मुझे लगता है कि यह (नो-बॉल) ऐसा क्षेत्र है जिसमें हम सुधार कर सकते हैं। अगर हम उन्हें 200 तक सीमित कर सकते थे, तो यह बहुत अच्छा खेल होता। "

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, September 23, 2020, 8:01 [IST]
Other articles published on Sep 23, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X