CSK के बल्लेबाजों से सहवाग निराश, कहा- अगले मैच में बैटिंग से पहले ग्लूकोज चढ़ाना पड़ेगा

नई दिल्लीः चेन्नई सुपर किंग्स की लगातार दूसरी हार के बाद सोशल मीडिया पर चर्चित हस्तियों की प्रतिक्रियाएं तीखी रही हैं। काफी लोगों का मानना है कि यह टीम ट्रॉफी उठाने वाली तो नहीं लग रही है इस बार।

इसी बीच भारत के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने भी ट्वीट किया है। सहवाग का यह ट्वीट सीएसके की ताजा हार के बाद आया है जो उसको दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मिली थी। चेन्नई यह मुकाबला 44 रनों के भारी अंतर से हार गई थी।

सहवाग हुए चेन्नई सुपर किंग्स की बैटिंग से निराश-

सहवाग हुए चेन्नई सुपर किंग्स की बैटिंग से निराश-

ऐसा नहीं है कि चेन्नई सुपर किंग्स को पहाड़ सरीखा टारगेट मिला था बल्कि जिस तरह से दिल्ली की शुरुआत हुई थी उसके हिसाब से तो चेन्नई बेस्ड फ्रेंचाइजी को 200 का टारगेट मिलना चाहिए था लेकिन कुछ हद तक धोनी के गेंदबाजों ने वापसी करने की कोशिश की और अपनी टीम के लिए टारगेट को नीचे करके 176 रनों तक लेकर आ गए।

SRH vs KKR: सनराइजर्स को करना होगा मार्श की जगह एक बदलाव, ये है दोनों संभावित प्लेइंग XI

लेकिन सीएसके चेज करने के दौरान बुरी तरह से असफल रही और 20 ओवर में मात्र 131 रन ही बना सकी। वीरेंद्र सहवाग ने इसी स्थिति की ओर इशारा करते हुए कहा है कि अगले मैच से लगता है चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाजों को ग्लूकोज चढ़ाना होगा, तब जाकर बैटिंग कर पाएंगे।

"ग्लूकोज चढ़वाके आना पड़ेंगा अगले मैच से बैटिंग करने"

सहवाग ने जो ट्वीट किया उसको इस प्रकार पढ़ा जा सकता है-

"चेन्नई के बल्लेबाज नहीं चल रहे हैं। ग्लूकोज चढ़वाके आना पड़ेंगा अगले मैच से बैटिंग करने।"

बता दें कि चेन्नई का टॉप ऑर्डर महेंद्र सिंह धोनी के लिए भी सिर-दर्द बन चुका है और वे मैच के बाद इसका जिक्र कर चुके हैं।

"मुझे नहीं लगता कि यह हमारे लिए अच्छा खेल था। ओस नहीं थी, लेकिन विकेट धीमा था। हमें बल्लेबाजी में थोड़ी सी कमी है और इससे दिक्कत होती है। इस तरह की धीमी शुरुआत और दबाव बढ़ने के बाद रन रेट बढ़ता रहता है, हमें यह पता लगाने की जरूरत है। हमें संयोजन को देखते हुए, एक स्पष्ट तस्वीर के साथ वापस आने की आवश्यकता है।"

टॉप बैटिंग ऑर्डर धोनी की प्रमुख चिंता-

टॉप बैटिंग ऑर्डर धोनी की प्रमुख चिंता-

चेन्नई की प्रमुख समस्या मुरली विजय और ऋतुराज गायकवाड़ जैसे बल्लेबाज हैं जो बिल्कुल लय से बाहर दिखाए दे रहे हैं। महेंद्र सिंह धोनी को अपने नायब सुरेश रैना की भी कमी खल रही है। इसके अलावा धोनी का खुद की बैटिंग को लेकर कम आत्मविश्वास भी एक प्रमुख समस्या है। धोनी बहुत नीचे बल्लेबाज करने तब आ रहे हैं जब मैच हाथ से लगभग निकल चुका होता है। उसके बाद धोनी मानो केवल हार का अंतर पाटने के लिए खेलते हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, September 26, 2020, 13:01 [IST]
Other articles published on Sep 26, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X