जानें किस नियम के चलते राहुल-राशिद पर मंडरा रहा IPL 2022 से बैन होने का खतरा

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन के लिये सभी फ्रैंचाइजियों ने अपने खिलाड़ियों की रिटेन और रिलीज लिस्ट को जारी कर दिया है, जिसमें फैन्स को कई चौंकाने वाले फैसले देखने को मिले हैं। जहां पर सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने पिछले कुछ सालों में उसके लिये मैच विनर रहे तीनों खिलाड़ी डेविड वॉर्नर, राशिद खान और भुवनेश्वर कुमार को रिलीज कर चौंकाया तो वहीं पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने भी युजवेंद्र चहल को रिलीज कर हैरान कर दिया। पंजाब किंग्स की टीम ने केएल राहुल को तो दिल्ली कैपिटल्स ने श्रेयस अय्यर को रिलीज किया है, वहीं पर राजस्थान रॉयल्स की टीम ने बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर को रिलीज कर आईपीएल 2022 के लिये होने वाली नीलामी को और भी रोमांचक बना दिया है। सीएसके की टीम ने चिन्ना थाला के नाम से मशहूर सुरेश रैना को रिलीज कर सबसे ज्यादा हैरान करने वाला फैसला किया है।

और पढ़ें: IPL 2022: इरफान पठान ने RCB में ग्लेन मैक्सवेल के रोल पर दिया बड़ा बयान, बताया क्यों नहीं बनाना चाहिये कप्तान

रिटेन लिस्ट सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर फैन्स के तरह-तरह के रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं तो वहीं पर यह खबर भी सामने आयी कि कुछ खिलाड़ियों को फ्रैंचाइजियां रिटेन करना चाह रही थी पर उन्होंने नीलामी में जाने का फैसला करते हुए खुद को रिलीज करने पर जोर दिया। इस लिस्ट में अफगानिस्तान के स्पिनर राशिद खान और भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज केएल राहुल का नाम शामिल है।

और पढ़ें: IPL 2022 के लिये केएल राहुल-राशिद खान क्यों नहीं हो रहे रिटेन, सामने आयी चौंकाने वाली वजह

राशिद-राहुल को क्यों किया गया रिलीज

राशिद-राहुल को क्यों किया गया रिलीज

पंजाब किंग्स के कोच अनिल कुंबले ने रिटेन लिस्ट सामने आने के बाद बताया कि हम केएल राहुल को रिटेन करना चाहते थे, इसी वजह से हमने उन्हें 2 साल पहले टीम की कप्तानी भी सौंपी दी थी, लेकिन जब इसको लेकर उनसे बात की गई तो उन्होंने नीलामी में जाने का फैसला किया, जिसके चलते हमें उन्हें रिलीज करना पड़ा है। हम उनके फैसले का सम्मान करते हैं। वहीं राशिद खान को लेकर भी यही खबर सामने आयी है कि सनराइजर्स हैदराबाद की टीम उन्हें रिटेन करना चाहती थी लेकिन वो ज्यादा रकम हासिल करने के उद्देश्य से नीलामी में उतरना चाहते हैं।

उल्लेखनीय है कि मौजूदा करार के अनुसार राशिद खान को 9 करोड़ रूपये की सैलरी दी जा रही थी तो वहीं पर पंजाब किंग्स के कप्तान केएल राहुल को 11 करोड़ रुपये मिल रहे थे। रिटेन किये गये करार के तहत जहां हैदराबाद की टीम राशिद खान को 12 करोड़ रुपये तक देने पर राजी हुई थी तो वहीं पर पंजाब किंग्स की टीम ने 15 करोड़ तक का ऑफर दिया था।

इतनी रकम के बावजूद क्यों राजी नहीं हुए राशिद-राहुल

इतनी रकम के बावजूद क्यों राजी नहीं हुए राशिद-राहुल

इनसाइड स्पोर्टस की रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने राशिद खान और केएल राहुल के रिलीज होने पर खुलासा करते हुए कहा था कि दोनों खिलाड़ियों की फ्रैंचाइजियों ने बोर्ड से आरपीएसजी ग्रुप की लखनऊ टीम को लेकर शिकायत की है, जिसमें उन्होंने नीलामी से पहले खिलाड़ियों को करार करने के लिये संपर्क किया है। इस रिपोर्ट के अनुसार लखनऊ की फ्रैंचाइजी ने केएल राहुल को अपनी टीम से जुड़ने के लिये 20 करोड़ तो वहीं पर राशिद खान को 16 करोड़ की रकम ऑफर की है, जिसके चलते ही दोनों खिलाड़ियों ने नीलामी में उतरने का फैसला किया है।

बीसीसीआई अधिकारी के अनुसार पंजाब किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने फिलहाल कोई लिखित शिकायत नहीं की है और सिर्फ मौखिक रूप से अपनी नाराजगी दर्ज करायी गई है। ऐसे में बीसीसीआई मामले की जांच कर रही है और शिकायत सही पाये जाने पर दोनों खिलाड़ियों पर एक साल का बैन लगा सकती है।

किस नियम के तहत बैन हो सकते हैं खिलाड़ी

किस नियम के तहत बैन हो सकते हैं खिलाड़ी

उल्लेखनीय है कि राशिद खान और केएल राहुल को अपनी-अपनी फ्रैंचाइजियों से रिलीज किया जा चुका है, ऐसे में अगर उन पर बैन लगाया जाता है तो दोनों को भारी नुकसान होगा। पर सवाल यह है कि क्या बीसीसीआई ऐसा कर सकती है और इसके लिये क्या नियम है।

गौरतलब है कि आईपीएल 2022 की नीलामी से पहले सीजन में जुड़ रही दो नई टीमों अहमदाबाद और लखनऊ की फ्रैंचाइजियां अपने खेमे में नॉन रिटेन प्लेयर्स की लिस्ट में से 3 खिलाड़ियों को जोड़ सकती है, ऐसे में अगर राशिद खान और केएल राहुल नीलामी में न उतरकर लखनऊ की फ्रैंचाइजी से रिपोर्ट की गई रकम में करार करते हैं तो बीसीसीआई को मिली शिकायत सही साबित होगी और उन पर बैन लग सकता है। हालांकि अगर यह खिलाड़ी आईपीएल 2022 की नीलामी में उतरते हैं और वहां पर लखनऊ की टीम उन्हें अपने खेमे में जोड़ने में कामयाब रहती है तो उन पर कोई बैन नहीं लगेगा।

आपको बता दें कि आईपीएल के इतिहास में पहले भी इस मामले को लेकर एक खिलाड़ी पर एक सीजन के लिये बैन लग चुका है। साल 2010 में राजस्थान रॉयल्स के लिये खेलने वाले रविंद्र जडेजा को सीएसके के साथ करार रहते हुए नये करार के लिये संपर्क करने के चलते एक सीजन के लिये बैन कर दिया गया था। ऐसे में अगर जांच सही पायी जाती है तो राशिद खान और केएल राहुल पर भी यह कार्रवाई हो सकती है। आईपीएल में किसी भी टीम के साथ करार रहते हुए दूसरे के साथ करार करने की बात करना असंतुलन पैदा कर सकता है, इसी के चलते बीसीसीआई ने यह नियम बनाया है।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, December 1, 2021, 15:56 [IST]
Other articles published on Dec 1, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X